Bravery Award  

(Search results - 8)
  • Meenakshi Lekhi Propose Greta name for child bravery award on toolkit row KPP

    NationalFeb 4, 2021, 7:20 PM IST

    मीनाक्षी लेखी का तंज- ग्रेटा को बाल पुरस्कार मिलना चाहिए, उनकी वजह से भारत विरोधी साजिशों का खुलासा हुआ

    पर्यावरण एक्टिविस्ट भारत के किसान आंदोलन का समर्थन कर चर्चा में हैं। अब भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने ग्रेटा को बच्ची बताते हुए तंज कसा है। मीनाक्षी लेखी ने कहा, मैं ग्रेटा थनबर्ग को बाल वीरता पुरस्कार देने का प्रस्ताव करती हूं। इसे भारत सरकार को मानना चाहिए।

  • PM Narendra Modi gave bravery award to Divyansh Singh asa

    Uttar PradeshJan 25, 2021, 2:52 PM IST

    5 साल की बहन की जान बचाने के लिए सांड से भिड़ गया था 13 साल का भाई, स्कूली बैग को बनाया था हथियार

    लखनऊ ( Uttar Pradesh) । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय बाल पुरस्कार जीतने वाले देश के 32 बच्चों से बात की। इनमें टॉप थ्री बच्चों को बहादुर का पुरस्कार दिया, जिनमें यूपी के बारांबकी निवासी दिव्यांश सिंह भी शामिल हैं, जिन्होंने स्कूल बैग को हथियार बनाकर महज 13 साल की उम्र में साड़ से लड़कर अपनी बहन की जान बताई थी। जिससे प्रभावित होकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविद, पूर्व राज्यपाल रामनाईक और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सम्मानित किया था। जिनके बहदुरी की कहानी आज हम आपको बता रहे हैं।

  • Colonel Santosh Babu, who was martyred in Galvan Valley, will get the Bravery Award on Republic Day kpa

    NationalJan 11, 2021, 1:52 PM IST

    बहू को सदमा न लगे, इसलिए बूढ़ी मां ने बेटे की शहादत की खबर छुपाकर रखी

    15-16 जून, 2020 को लद्दाख की गलवान घाटी में शहीद हुए कर्नल संतोष बाबू को परणोपरांत गणतंत्र दिवस पर वीरता पदक से सम्मानित किया जाएगा। बता दे कि गलवान घाटी में भारत-चीन सीमा पर दो सैनिकों के बीच झड़प हो गई थी। इसमें भारतीय सेना के अधिकारी कर्नल बाबू और दो सैनिकों की मौत हो गई थी। अपने बेटे की शहादत पर उनकी मां मंजुला को हमेशा फक्र रहेगा। यह और बात है कि अपने इकलौते बेटे को खोने का भी उन्हें गम सताता है। जब एक मां को अपने बेटे की शहादत की खबर मिली, तो उन्होंने अपनी बहू से उसे छुपाए रखा। क्योंकि वे नहीं चाहती थीं कि बहू को सदमा लगे। पढ़िए एक इमोशनल खबर...
     

  • 16 yr adithya k saved 20 Lives from burning bus shared full horrible incident kpt

    NationalMar 2, 2020, 6:30 PM IST

    नन्हे हाथों में हथौड़ा उठा तोड़ डाली खिड़की, मासूम ने जलती बस से बचाई 20 लोगों की जान

    केरल.  मुसीबत में हर शख्स दुम दबाकर भागने की कोशिश करता है। पर बहुत बार ऐसे बहादुर लोग भी होते हैं जो मुसीबत के समय अपनी हिम्मत और सूझ-बूझ से दुनिया को हैरान कर देते हैं। ऐसे ही मात्र 16 साल के बच्चे ने एक बड़े हादसे के दौरान घबराने की बजाय अपना पराक्रम दिखाया। कोझिकोड के रहने वाले आदित्य के. एक बहादुर बालक हैं। उन्होंने नेपाल टूर पर हुए एक बस हादसे में 20 लोगों की जान बचाई थी। आग की तेज लपटें उठ रही थीं, धुआं बस में भर चुका था लेकिन वो घबराया नहीं बल्कि बुजुर्गों की जान बचाने में जुट गया था। 

  • Someone saved the life of the family from terrorists and some fought with elephants for a sister, such are the brave children of the country KPB

    NationalJan 22, 2020, 8:04 PM IST

    किसी ने आतंकियों से बचाई परिवार की जान तो कोई बहन के लिए हाथियों से भिड़ा, ऐसे हैं देश के बहादुर बच्चे

    2019 में अपनी बहादुरी से लोगों की जान बचाने वाले 22 बच्चों को राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। इन लड़कों में 10 लड़कियां और 12 लड़के शामिल हैं। इनमें से एक बच्चे को मरणोपरांत अभिमन्यू पुरस्कार से भी नवाजा जाएगा। ये सभी बच्चे देश के 12 अलग-अलग राज्यों से हैं। इन बच्चों में जम्मू -कश्मीर को दो लड़के भी शामिल हैं। 
     

  • 22 children received National Bravery Award kps

    NationalJan 22, 2020, 9:49 AM IST

    10 साल की बच्ची तेंदुए से लड़ी,15 साल के मास्टर ने 40 लोगों को बचाया...ऐसे हैं देश के 22 बहादुर बच्चे

    राष्ट्रीय वीरता पुरस्कार 2019 के लिए देश भर  के अलग-अलग क्षेत्रों से 10 लड़कियों और 12 लड़कों समेत 22 बच्चों को नामित किया गया है। जिसमें 10 वर्षीय राखी को दिया जा रहा है। राखी ने तेंदुए के हमले से अपने 4 साल के भाई को बचाया था। इसी तरह अन्य वीरता का काम करने वाले 22 बच्चों को नामित किया है। 

  • Mudasir received National Bravery Award kps

    NationalJan 22, 2020, 8:56 AM IST

    एयर स्ट्राईक के बाद क्रैश हुआ MI 17, तो मुदासिर बना हिरो; विरोध के बावजूद नहीं मानी थी हार, अब...

    26 फरवरी 2019 को बालाकोट एयरस्ट्राइक के एक दिन बाद जब भारत और पाकिस्तान के लड़ाकू विमान आमने-सामने थे। तब एक MI-17 हेलिकॉप्टर के बड़गाम में क्रैश होने की खबर सामने आई। इस घटना में 17 वर्ष का लड़का मुदासिर अशरफ हीरो बनकर उभरा। जिसे अब राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार के लिए चुना गया है। 
     

  • Guldar attacked on 11 years old girl

    NationalOct 11, 2019, 2:33 PM IST

    भाई की जान बचाने जंगली बिल्ली से लड़ गई 11 साल की बहन

    उत्तराखंड के पौड़ी जिले के देवकुंडाई गांव की 11 साल की बच्ची राखी को अपने भाई काजान बचाने के लिए वीरता पुरस्कार दिया जाएगा।