Ghulam Nabi Azad  

(Search results - 28)
  • undefined

    NationalJun 24, 2021, 7:58 PM IST

    ज्यादातर पार्टियों ने पीएम मोदी से की आर्टिकल 370 पर बात, मीटिंग में रखी गई ये पांच बातें

    पीएम मोदी के साथ बैठक में ज्यादातर नेताओं ने आर्टिकल 370 पर बात की। इसके साथ ही सबी नेताओं ने मुख्य रूप से पांच बातें पीएम मोदी के सामने रखीं। 
     

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 28, 2021, 5:47 PM IST

    Modi ने बर्तन मांजे और चाय बेची, जानिए Ghulam Nabi Azad ने क्यों की PM की तारीफ?


    वीडियो डेस्क।  जम्मू में जी-23 में गुलाम नबी आजाद समेत कई कांग्रेस के नेताओं ने राहुल गांधी के ख़िलाफ़ मोर्चा खोला था। आज उस ट्रेलर का पार्ट-2 दिखा जब गुलाम नबी आजाद ने खुलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सच्चाई की तारीफ की। गुलाम नबी आजाद ने कहा, पीएम कहते हैं कि उन्होंने बर्तन मांजे...चाय बेची। यही होना भी चाहिए। गर्व से अपने समय को याद करना चाहिए। उन्होंने कहा कि पुराने वक्त को सच्चाई से याद करने वाले ही बड़े नेता होते हैं। लोगों को उनसे सीखना चाहिए कि कामयाबी की बुलंदियों पर जाकर भी कैसे अपनी जड़ों को याद रखा जाता है। बता दें कांग्रेस पार्टी से नाराज बताए जा रहे 'ग्रुप-23' के नेताओं में शामिल और हाल ही में राज्यसभा से रिटायर हुए है।

    मोदी और आजाद का दोस्ताना रिशता
    आपको बता दें कि गुलाम नबी आजाद का पीएम मोदी के साथ इमोशनल रिश्ता है।  जब संसद में गुलाब नबी आजाद को विदाई देते हुए प्रधानमंत्री भावुक हो गए थे। पीएम मोदी ने कहा था कि जो व्यक्ति गुलाम नबी जी (विपक्ष के नेता के रूप में) का स्थान लेगा, उसे अपना काम करने में कठिनाई होगी क्योंकि वह न केवल अपनी पार्टी के बारे में बल्कि देश और सदन के बारे में चिंतित थे।

  • undefined

    NationalFeb 28, 2021, 3:38 PM IST

    'पीएम ने बर्तन धोए, चाय बेची'....जानिए प्रधानमंत्री मोदी की तारीफ में क्या क्या बोले- गुलाम नबी आजाद

    जहां एक ओर 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। वहीं, इनसे पहले कांग्रेस के सामने नई मुसीबत आ गई है। यह मुसीबत और कोई नहीं बल्कि कांग्रेस के जी-23 नेता पैदा कर रहे हैं। दरअसल, जी-23 नेताओं में से एक गुलाम नबी आजाद ने रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सच्चाई की तारीफ की। इससे पहले शनिवार को जी-23 नेताओं ने जम्मू में राहुल गांधी के खिलाफ ही मोर्चा खोला था। 
     

  • undefined

    NationalFeb 27, 2021, 5:23 PM IST

    कांग्रेस के नाराज नेताओं की बैठक पर बोले सिंघवी,'ये सभी पार्टी का अभिन्न हिस्सा हैं, इनका हम आदर करते हैं'

    जम्मू में आज गुलाम नबी आजाद की अध्यक्षता में कांग्रेस के नाराज नेताओं की बैठक हुई। इस बैठक में कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि कांग्रेस को लगता है कि जब 5 राज्यों में चुनाव हैं तो ये नेता चुनावी राज्यों में कांग्रेस को मजबूत करते।

  • <p>delhi</p>

    NationalFeb 27, 2021, 2:32 PM IST

    गुलाम नबी आजाद ने की कांग्रेस में इंटरनली चुनाव की मांग, राहुल गांधी बोले-'लोकतंत्र खत्म हो चुका है'

    जम्मू में शनिवार को शांति-सम्मेलन समारोह का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में राज्यसभा के कार्यकाल से सेवामुक्त होने के बाद पहली बार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद और कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल शामिल हुए।

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 9, 2021, 2:32 PM IST

    सिर्फ मुझे ही नहीं, यहां के हर मुसलमान को हिंदुस्तानी होने पर गर्व...गुलाम नबी आजाद का जोरदार विदाई भाषण

    वीडियो डेस्क।  कांग्रेस सांसद और नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने मंगलवार को राज्य सभा में अपने कार्यकाल के पूरा होने पर स्पीच दी।  गुलाम नबी आजाद के बोलने की बारी आई तो उन्होंने कहा कि मैं खुशकिस्मत हूं कि पाकिस्तान नहीं गया और मुझे अपने हिंदुस्तानी मुसलमान होने पर फक्र है  उन्होंने यह भी कहा कि जैसी बुराईयां समाज में हैं, वह बुराईयां हिंदुस्तानी मुसलमान में नहीं हैं। इस दौरान जम्मू-कश्मीर में आतंकी हमले का जिक्र करते हुए वह भी भावुक हो गए
     

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 9, 2021, 2:19 PM IST

    राज्यसभा में आतंकी हमले की घटना को बताते हुए भावुक हुए गुलाम नबी आजाद , देखें पूरी फेयरवेल स्पीच का VIDEO

    वीडियो डेस्क।  कांग्रेस सांसद और नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) ने मंगलवार को राज्य सभा में अपने कार्यकाल के पूरा होने पर स्पीच दी। गुलाम नबी आजाद ने अपने संबोधन में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को याद किया. उन्होंने कहा, 'मुझे अवसर मिला मंत्री के रूप में इंदिरा जी और राजीव जी के साथ काम करने का मौका मिला. सोनिया जी और राहुल जी के समय पार्टी को रिप्रेजेंट करने का भी मौका मिला. हमारी माइनॉरिटी की सरकार थी और अटल जी विपक्ष के नेता थे, उनके कार्यकाल में हाउस चलना सबसे आसान रहा। कई मसलों का समाधान करना कैसे आसान होता है, ये अटल जी से सीखा था।  अपने विदाई भाषण में गुलाम नबी आजाद भी तब भावुक हो गए। जब उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी और 2005 की उस घटना का उल्लेख किया, जिसका प्रधानमंत्री ने उल्लेख किया था। उन्होंने कहा, मैं अपने जीवन में रोया, जब संजय गांधी, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की मृत्यु हो गई, क्योंकि यह सब अचानक हुआ। फिर मैं ओडिशा में चक्रवात के दौरान रोया, जब मुझे वहां जाने के लिए कहा गया और तब मेरे पिता कैंसर से पीड़ित थे। पांचवीं बार मैं 2005 में रोया था जब दर्जनों गुजरात यत्रियों की एक आतंकी हमले में मृत्यु हो गई थी। गुलाम नबी आजाद ने कहा, मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूं कि देश से उग्रवाद खत्म हो।

  • undefined

    NationalFeb 9, 2021, 1:42 PM IST

    आखिर कौन सी थी वह घटना जिसे याद कर पहले मोदी रोए फिर उसी को याद कर गुलाम नबी आजाद भी भावुक हो गए

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को राज्यसभा सांसद गुलाम नबी आजाद को विदाई देते वक्त भावुक हो गए। दरअसल, पीएम मोदी गुलाम नबी आजाद से जुड़ी एक घटना का जिक्र कर रहे थे, तभी वे इतने भावुक थे, कि उनकी आंखों से आंसू आने लगे। इसके बाद वे फफक फफक कर रोने लगे। इस दौरान उन्होंने कई बार पानी भी पिया। इसके बाद इसी घटना का जिक्र कर कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद भी भावुक हो गए। आईए जानते हैं कि 2005 में ऐसा क्या हुआ था?

  • <p>delhi</p>

    NationalFeb 9, 2021, 12:59 PM IST

    सदन में गुलाम नबी आजाद ने कहा, हर मुसलमान को गर्व होना चाहिए कि वह भारत में है

    राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने अपनी विदाई पर संबोधित किया। उन्होंने कहा, मैं कभी पाकिस्तान नहीं गया और मुझे लगता है कि मैं भाग्यशाली हूं। मुझे लगता है कि हर मुसलमान को गर्व महसूस होना चाहिए कि हम भारत में हैं। उन्होंने अटल जी को याद करते हुए कहा, सदन का सबसे आसान काम अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार के दौरान हुआ था। अटल जी से मैंने बहुत कुछ सीखा, कैसे गतिरोध को खत्म किया, कैसे सदन को चलाया जाता है।  

  • undefined

    NationalFeb 9, 2021, 12:13 PM IST

    8 किस्से: जब मोदी को फोन करके रो पड़े थे गुलाम नबी आजाद, बच्चों को होने लगी थी पॉलिटिक्स से नफरत

    15 फरवरी को गुलाम नबी आजाद का राज्यसभा से कार्यकाल पूरा हो रहा है। आजाद कांग्रेस के ऐसे दिग्गज नेताओं में शुमार रहे हैं, जो 5 बार राज्यसभा और 2 बार लोकसभा के सदस्य चुने गए। राज्यसभा में जब उन्हें विदाई दी जा रही थी, तब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी भावुक हो उठे। उन्होंने आजाद से अपनी दोस्ती के जिक्र किया। मोदी ने गुलाम नबी के कश्मीर स्थित घर में बने बगीचे की खूब तारीफ की। कहा कि उनका बगीचा कश्मीर घाटी की खूबसूरती की याद दिलाता है। बता दें कि गुलाम नबी को घर सजाने का बड़ा शौक है। वे नई-नई चीजें लाकर घर में रखते हैं। घर को बेहद खूबसूरत रखते हैं। आइए जानते हैं आजाद कहानी...

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 9, 2021, 11:57 AM IST

    गुलाम नबी सहित 4 राज्यसभा सांसदों को मोदी ने दी जबरदस्त विदाई, 'आजाद' के बारे में बताईं कई अनुसनी बातें

    वीडियो डेस्क।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने  4 सांसदों की विदाई पर राज्य सभा (Rajya Sabha) को संबोधित किया। जम्मू कश्मीर से चार राज्यसभा सदस्य हैं, जिनका कार्यकाल पूरा हुआ । गुलाम नबी आजाद, शमशेर सिंह, मीर मोहम्मद फैयाज और नादिर अहमद । कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने संसद में लंबी सियासी पारी खेली है। वो पांच बार राज्यसभा और दो बार लोकसभा सदस्य रह चुके हैं।  इस दौरान पीएम मोदी ने सांसदों की तारीफ की। पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने राज्य सभा में कहा, 'मुझे चिंता इस बात की है कि गुलाम नबी जी के बाद जो भी इस पद को संभालेंगे, उनको गुलाम नबी जी से मैच करने में बहुत दिक्कत पड़ेगी. क्योंकि गुलाम नबी जी अपने दल की चिंता करते थे, लेकिन देश और सदन की भी उतनी ही चिंता करते थे। पीएम ने कहा- गुलाम नबी जी ने अपने बंगले में जो बगीचा बनाया है वह  बगीचा कश्मीर की घाटी की याद दिलाता है। 


     

  • <p>modi</p>

    NationalFeb 9, 2021, 10:59 AM IST

    राज्यसभा में ऐसी कौन सी बात हुई, पीएम मोदी विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद का जिक्र करते हुए रो पड़े

    राज्यसभा में विपक्ष के कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद सहित चार सांसदों को आज सदन से विदाई दी जा रही है। पीएम मोदी ने गुलाम नबी आजाद की जमकर तारीफ की। संबोधन में पीएम मोदी ने कहा कि गुलाम नबी आजाद दल के साथ देश की भी सोचते हैं। उनकी जगह भरना किसी के लिए भी मुश्किल होगा। जब मैं चुनावी राजनीति में नहीं आया था तब गुलाम और मैं लॉबी में बात कर रहे थे।  

  • <p>Agricultural law, debate in Rajya Sabha, Ghulam Nabi Azad, farmer protest</p>

    NationalFeb 3, 2021, 5:00 PM IST

    किसान आंदोलन से ही निकला था 'पगड़ी संभाल जट्टा' गीत, गुलाम नबी आजाद ने बताई इसके पीछे की कहानी

    गुलाम नबी आजाद ने राज्यसभा में कहा, 1906 में अंग्रेज हुकूमत ने किसानों के खिलाफ तीन कानून बनाए थे और उनका मालिकाना हक ले लिया था। इसके विरोध में 1907 में सरदार भगत सिंह के भाई अजीत सिंह के नेतृत्व में पंजाब में आंदोलन हुआ। उस समय एक अखबार के संपादक बांके दयाल ने पगड़ी संभाल जट्‌टा, पगड़ी संभाल वे कविता लिखी जो बाद में क्रांतिकारी गीत बन गया।

  • undefined

    NationalFeb 2, 2021, 9:34 AM IST

    कृषि मंत्री बोले- कृषि बिलों पर चर्चा के लिए तैयार, विपक्ष के हंगामे के बाद लोकसभा मंगलवार तक स्थगित

    राज्यसभा में कार्यवाही के दौरान विपक्ष ने किसानों के मुद्दों पर चर्चा की मांग की, जिसे लेकर जोरदार हंगामा हुआ। सुबह शुरू हुई कार्यवाही को सबसे पहले 10.30 बजे तक स्थगित किया गया। फिर से कार्यवाही शुरू हुई तो दोबारा हंगामा होने लगा। कार्यवाही फिर से 11.30 बजे तक स्थगित करनी पड़ी। फिर से कार्यवाही शुरू हुई तो किसानों का मु्ददा उठा और 12.30 बजे तक कार्यवाही को फिर से स्थगित करना पड़े। किसानों के मुद्दों पर राज्यसभा के चेयरमैन ने पहले ही कह दिया कि आज नहीं बल्कि चर्चा की जाएगी, लेकिन विपक्ष आज ही चर्चा कराने पर अड़ा है।

  • <p>कांग्रेस में जारी अंदरुनी कलह के बीच शनिवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की पार्टी के नाराज और वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक शुरू हो चुकी है। सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर बुलाई गई इस बैठक में पार्टी के असन्तुष्ट नेताओं में से गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा भी शामिल हुए हैं।</p>

    NationalDec 19, 2020, 12:06 PM IST

    पार्टी से खफा कांग्रेसी नेताओं को मनाने की कवायद शुरू, सोनिया गांधी की 10 जनपथ पर चल रही बैठक

    कांग्रेस में जारी अंदरुनी कलह के बीच शनिवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी की पार्टी के नाराज और वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक शुरू हो चुकी है। सोनिया गांधी के आवास 10 जनपथ पर बुलाई गई इस बैठक में पार्टी के असन्तुष्ट नेताओं में से गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा भी शामिल हुए हैं।