India China Border  

(Search results - 147)
  • undefined

    NationalApr 23, 2021, 10:00 PM IST

    भारत-चीन सीमा के पास ग्लेशियर टूटा, यहां हो रहा है सड़क का निर्माण, नुकसान का आकलन करने टीम रवाना

    भारत-चीन सीमा पर चमोली जिले की मलारी घाटी में ग्लेशियर टूटने का मामला सामने आया है। चूंकि यहां आबादी नहीं है, सिर्फ सेना की आवाजाही रहती है, इसलिए अभी किसी नुकसान के बारे में पता नहीं चल पाया है। घटना शुक्रवार की है। घटना का आकलन करने जोशीमठ से सीमा सड़क संगठन की एक टीम मौके पर रवाना हो चुकी है। चूंकि इस समय वहां लगातार बारिश हो रही है और बर्फबारी भी, इसलिए उसे पहुंचने में वक्त लग सकता है।

  • undefined

    NationalFeb 21, 2021, 9:55 AM IST

    उल्टे पांव लौट रहा ड्रैगन : 16 घंटे चली मैराथन मीटिंग में विवादित इलाके खाली करने पर जोर

    भारत-चीन बॉर्डर पर पिछले लंबे समय से चला आ रहा तनाव धीरे-धीरे कम होता दिखाई दे रहा है। चीनी सैनिक अब विवादित क्षेत्र छोड़ रहे हैं। इसी बीच भारत और चीन के बीच 10वें दौर की मिलिट्री लेवल मीटिंग शनिवार-रविवार की दरमियानी रात करीब 2 बजे तक चली। करीब 16 घंटे की इस मीटिंग में गोगरा-हॉट स्प्रिंग्स और देप्सॉन्ग पर डिसएंजेमेंट पर चर्चा हुई।

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 12, 2021, 1:38 PM IST

    मर्यादा भूले राहुल गांधी, पीएम मोदी को बोल गए ऐसे शब्द

    कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने शुक्रवार को भारत-चीन सीमा पर सेना पीछे हटाने को लेकर किए गए समझौते को लेकर भारत सरकार को घेरा। पूर्वी लद्दाख की मौजूदा स्थिति को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के गुरुवार को संसद में दिए गए बयान पर कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने सरकार पर बड़ा हमला बोलते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी कर डाली।  राहुल ने कहा कि मोदी भारत की जमीन चीन को सौंप दी, हमारे पीएम कायर हैं, जिन्होंने चीन के सामने अपना सर झुका दिया, माथा टेक दिया।मोदी सरकार सेना को धोखा दे रही है।

  • undefined
    Video Icon

    NationalFeb 8, 2021, 1:35 PM IST

    ड्रैगन की हर शातिर चाल पर कुछ यूं नजर रखेगा भारत

    पिछले साल गलवान घाटी पर चीन के रवैये और घाटी में हुई हिंसा के बाद भारत औऱ चीन के बीच रिश्तों में तनाव बरकरार है। वहीं सीमा विवाद को लेकर कई दौर की बैठक हो चुकी है लेकिन अभी तक कोई भी नतीजा नहीं निकला है। चीन की सेना 3,488 किमी के वास्तविक नियंत्रण रेखा से पीछे हटने का कोई संकेत नहीं दे रहा है। लेकिन भारत ने अब चीन और उसके सैनिकों पर निगरानी रखने के लिए सख्त कदम उठाए हैं। भारत अब ड्रोन्स, सेंसर्स, टोही विमान और इलेक्ट्रॉािनिक युद्ध के औजारों के जरिए चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) की हरकतों पहले से ज्यादा पैनी नजर रखेगा।

  • undefined
    Video Icon

    NationalJan 12, 2021, 1:11 PM IST

    ठंड से हुई चीन की हालत खराब, एलएसी से हटाए 10 हजार सैनिक

    भारत और चीन के बीच लंबे समय से चल रहे सीमा विवाद के बीच चीन ने पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) से अपने 10 हजार सैनिकों को हटा लिया है। कहा जा रहा है कि चीन ने यह फैसला पूर्वी लद्दाख में पड़ रही भीषण ठंड की वजह से किया है। जानकारी के अनुसार भारतीय सीमा के पास 200 किलोमीटर के दायरे से चीन ने अपने सैनिक हटाए हैं। एक रिपोर्ट के अनुसार सूत्रों ने बताया कि पूर्वी लद्दाख में भारतीय सीमा के पास उस इलाके में जहां चीनी सैनिक पारंपरिक रूप से प्रशिक्षण किया करते थे, अब वो जगह खाली दिख रही है। 

  • <p>चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने बड़ा कदम उठाया है। सुरक्षाबलों को अब 15 दिनों के युद्ध के लिए हथियारों और गोला-बारूद का स्टॉक तैयार करने का अधिकार दे दिया गया है।</p>

    NationalDec 13, 2020, 3:44 PM IST

    चीन-पाक से जंग को भारत तैयार, 15 दिन के युद्ध के लिए हथियार, गोला-बारूद स्टॉक कर रही सेना

    चीन के साथ तनाव के बीच भारत ने बड़ा कदम उठाया है। सुरक्षाबलों को अब 15 दिनों के युद्ध के लिए हथियारों और गोला-बारूद का स्टॉक तैयार करने का अधिकार दे दिया गया है। 

  • <p>पूर्वी लद्दाख सेक्टर में पड़ने वाली कड़ाके की ठंड ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) को रोटेशन पॉलिसी अपनाने के लिए मजबूर कर दिया है। चीनी सैनिक लद्दाख की ठंड के आदी नहीं हैं, इसलिए फॉरवर्ड पोजिशन पर चीन अपने सैनिकों को रोज रोटेट कर रहा है।</p>

    NationalDec 1, 2020, 8:05 PM IST

    लद्दाख की कड़ाके की ठंड नहीं सहन कर पा रहे चीनी सैनिक, PLA को रोज बदलनी पड़ रही उनकी जगह

    पूर्वी लद्दाख सेक्टर में पड़ने वाली कड़ाके की ठंड ने पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) को रोटेशन पॉलिसी अपनाने के लिए मजबूर कर दिया है। चीनी सैनिक लद्दाख की ठंड के आदी नहीं हैं, इसलिए फॉरवर्ड पोजिशन पर चीन अपने सैनिकों को रोज रोटेट कर रहा है। 

  • undefined
    Video Icon

    NationalNov 28, 2020, 12:46 PM IST

    भारत ने अमेरिका से लिए दो खतरनाक ड्रोन, मुश्किल में आएगा ड्रैगन

    पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन से जारी विवाद के बीच भारत और अमेरिका के बीच घनिष्ठता बढ़ रही है। हिंद महासागर क्षेत्र में निगरानी के लिए नौसेना ने एक अमेरिकी कंपनी से लीज पर दो प्रीडेटर ड्रोन लिए हैं। इन ड्रोन की तैनाती पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर की जा सकती है। इन अमेरिकी ड्रोन को नौसेना ने चीन से विवाद को देखते हुए रक्षा मंत्रालय द्वारा मंजूर आपातकालीन खरीद शक्ति के तहत शामिल किया है।

  • undefined
    Video Icon

    NationalNov 20, 2020, 6:17 PM IST

    चीन ने फिर चली भारत के पीठ पीछे एक शातिर चाल

    भारत और चीन के बीच तनाव एक बार फिर बढ़ने की आशंका है। सूत्रों के मुताबिक, चीन ने सिक्किम में भारतीय सीमा के करीब एक गांव बसा लिया है। यह गांव पड़ोसी देश भूटान के इलाके में दो किलोमीटर अंदर है और डोकलाम के उस पॉइंट से बेहद करीब है, जहां 2017 के दौरान भारत और चीन की सेनाएं आमने-सामने आ गई थीं और दोनों दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। यह खुलासा उस वक्त हुआ, जब चीन के एक वरिष्ठ पत्रकार ने ट्वीट के माध्यम से अपने देश के 'विकास' के बारे में जानकारी दी थी। हालांकि, विवाद बढ़ने पर चीन के पत्रकार ने अपने ट्वीट डिलीट कर दिए।

  • undefined
    Video Icon

    NationalNov 18, 2020, 9:21 AM IST

    Chinese Army की लद्दाख में Indian Army कर रही मदद!

    नमस्कार हमारा नाम है इंटरनेशनल खबरी। आज हम बात करेंगे कि तमाम लड़ाईयों और झड़प के बावजूद किस तरह से भारतीय सेना लद्दाख में चीनी सेना की मदद कर रही है। जी हां, यह सुनने में काफी अजीब लग रहा होगा लेकिन भारतीय सेना वहां मानवता की एक ऐसी मिसाल पेश कर रही है जिसे पूरी दुनिया को देखना चाहिए और सीखना चाहिए। आए दिन चीनी सेना से हमारी झड़प होती है, उनकी सेना हमारी सीमा में घुसी आती है उसके बावजूद सेना का ऐसा करना वाकई तारीफ के काबिल है।

  • undefined

    WorldNov 11, 2020, 3:21 PM IST

    लद्दाख में दोनों देश सैनिकों को पीछे हटाने पर हुए सहमत, दिवाली से पहले मई वाली स्थिति में जा सकती हैं सेनाएं

    भारत - चीन सीमा विवाद के बीच पूर्वी लद्दाख में मईं महीने से जारी सीमा तनाव के अब समाप्त होने के आसार नजर आ रहे हैं। दरअसल, दोनों देशों की सेना लद्दाख सीमा पर फिंगर इलाके में सैनिकों को पीछे हटाने पर सहमत हो गई हैं। बता दें कि सैनिकों के पीछे हटने की प्रक्रिया चरणबद्ध तरीके से पूरी होगी। सेना के सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक आने वाले तीन दिनों में दोनों सेनाएं 30-30 प्रतिशत के हिसाब से अपने सैनिकों को विवादित इलाकों से हटाएगी।

  • <p>पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच हुए संघर्ष के बाद सीमा विवाद जारी है। इस विवाद के बीच भारत ने चीन से स्पष्ट शब्दों में कहा है कि उसे भारत के आंतरिक मामलों में दखल देने या टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है।</p>

    WorldNov 7, 2020, 4:23 AM IST

    भारत-चीन के बीच हुई 8वें दौर की कमांडर स्तर वार्ता पर जल्द जारी होगा साझा बयान, कोई ठोस निर्णय नहीं हुआ

    भारत और चीन के बीच सीमा विवाद को सुलझाने के लिए शुक्रवार 6 नवंबर को 8वें दौर की सैन्य वार्ता हुई। इस वार्ता में मुख्य तौर पर यह पक्ष रखा गया कि दोनों सेनाएं एक साथ मई 2020 से पहले वाली स्थिति में जाने की शुरुआत करें लेकिन ये 10 घंटे चली इस बैठक में भी कोई ठोस निर्णय पर बात नहीं बन सकी। बता दें कि भारत और चीन के बीच अभी तक 7 स्तर की बातचीत हो चुकी है लेकिन अबतक इनमें कोई निष्कर्ष नहीं निकल पाया है। 

  • undefined

    WorldNov 3, 2020, 9:01 PM IST

    भारत के साथ मालाबार युद्धाभ्यास में पहली बार शामिल हुआ ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका-जापान पहले से हैं शामिल

    भारत - चीन सीमा विवाद के बीच मंगलवार को भारत ने ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और जापान के साथ मिलकर मालाबार नौसैनिक युद्धाभ्यास कर दिया है। भारतीय विदेश मंत्रालय के मुताबिक, पहले चरण (3 से 6 नवंबर) का युद्धाभ्यास बंगाल की खाड़ी में विशाखापत्तनम से शुरू हुआ। बता दें कि यह युद्धाभ्यास दो चरणों में होगा। पहले चरण के बाद इसका दूसरा चरण 17 से 20 नवंबर के बीच अरब सागर में होगा। 

  • <p>কেন্দ্রীয় স্বরাষ্ট্র মন্ত্রী রাজনাথ সিং সিবিআই আদালতের রায়কে স্বাগত জানিয়ে বলেছিলেন ন্যায়বিচার দেরিতে এসেছে, তবে প্রমাণ হয়ে গেল এটা সর্বদাই বিরাজমান।</p>

<p>&nbsp;</p>

    NationalOct 29, 2020, 2:57 PM IST

    संसद की PAC समिति के लद्दाख दौरे पर रक्षा मंत्रालय ने जताई आपत्ति, कहा - सीमा पर हालात संवेदनशील

    भारत-चीन सीमा विवाद के बीच संसद की एक पब्लिक अकाउंट समिति (PAC) का लद्दाख दौरा होना है। इसी को लेकर रक्षा मंत्रालय ने आपत्ति जताई है। मंत्रालय ने कहा कि वे दोनों देशों के बीच उपजे संवेदनशील हालातों के बीच पीएसी की समिति के लद्दाख दौरे के समर्थन में नहीं है। इससे पहले यह दौरा इस महीने के आखिरी सप्ताह में प्रस्तावित था।

  • undefined

    WorldOct 25, 2020, 8:11 PM IST

    भारत-चीन विवाद: दोनों देशों के बीच इस हफ्ते हो सकती है आठवें दौर की वार्ता, LAC पर जवानों की तैनाती जारी

    पूर्वी लद्दाख में सीमा को लेकर जारी विवाद को निपटाने के लिए भारत और चीन के बीच कईं स्तर की बातचीत हो चुकी है। इसी बीच लद्दाख में जारी सीमा विवाद सुलझाने को लेकर इस हफ्ते भारत-चीन के बीच सैन्य और कूटनीतिक स्तर की वार्ता का आठवां दौर आयोजित होने की उम्मीद है।  हालांकि, चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है, वह हर बार कोई ना कोई अडंगेबाजी लगा ही देता है। अब चीन ने शर्त रखी है कि भारतीय सेना पहले पैंगोंग झील के दक्षिणी किनारे पर कब्जे वाली चोटियों को खाली करे। इसे लेकर भारत ने साफ कर दिया है कि दोनों देशों की सेनाएं एक साथ ही हटेंगी। एकतरफा कार्रवाई नहीं होगी।