North Bihar  

(Search results - 6)
  • undefined

    Bihar12, Aug 2020, 1:58 PM

    वर्षों की मेहनत से बनाया मकान, चंद सेकेंड में बाढ़ की भेंट चढ़ गए सपने; डूब गया सबकुछ

    पेशे से राजमिस्त्री बिंदेश्वरी ने कई वर्षों तक मेहनत कर पक्का मकान बनाया था। वह अपने घर का दूसरा फ्लोर बना रहे थे तभी बाढ़ आ गई। मकान मही नदी के पास था। इस साल नदी की धारा बदली और मकान को अपनी चपेट में ले लिया। पानी की तेज धारा के चलते मकान के नींव के नीचे की मिट्टी कट गई थी। खतरे को देखते हुए घर में रह रहे सभी लोग दूसरी जगह शिफ्ट हो गए थे।

  • <p><strong>पटना (Bihar)&nbsp;।</strong> बिहार एक बार फिर बाढ़ की चपेट में है। इस बार बाढ़ 16 जिलों में है। वहीं, मरने वालों की संख्या 24 तक पहुंच गई है। आपदा प्रबंधन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, 16 जिलों में 62,000 से ज्यादा लोगों के प्रभावित क्षेत्रों में पानी घुस गया, जिससे बाढ़ पीड़ितों की संख्या 75 लाख से अधिक हो गई। सालों से चली आ रही इस समस्या पर सरकार के तमाम दावों के बावजूद हालात वैसे ही हैं, जैसे हर साल रहते हैं। बात अगर 1979 से अब तक की करें तो बिहार हर साल बाढ़ से जूझ रहा है। बिहार सरकार के जल संसाधन विभाग के मुताबिक राज्य का 68,800 वर्ग किमी हर साल बाढ़ में डूब जाता है। आइए जानते हैं कि बिहार हर साल बाढ़ में क्यों डूब जाता है। साथ ही आज हम आपको सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हुए 10 बाढ़ के बारे में बता रहे हैं।&nbsp;</p>

    Bihar12, Aug 2020, 12:52 PM

    बिहार में हर साल आती है है ये तबाही, जानें अब तक की 10 सबसे खौफनाक बाढ़

    पटना (Bihar) । बिहार एक बार फिर बाढ़ की चपेट में है। इस बार बाढ़ 16 जिलों में है। वहीं, मरने वालों की संख्या 24 तक पहुंच गई है। आपदा प्रबंधन विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक, 16 जिलों में 62,000 से ज्यादा लोगों के प्रभावित क्षेत्रों में पानी घुस गया, जिससे बाढ़ पीड़ितों की संख्या 75 लाख से अधिक हो गई। सालों से चली आ रही इस समस्या पर सरकार के तमाम दावों के बावजूद हालात वैसे ही हैं, जैसे हर साल रहते हैं। बात अगर 1979 से अब तक की करें तो बिहार हर साल बाढ़ से जूझ रहा है। बिहार सरकार के जल संसाधन विभाग के मुताबिक राज्य का 68,800 वर्ग किमी हर साल बाढ़ में डूब जाता है। आइए जानते हैं कि बिहार हर साल बाढ़ में क्यों डूब जाता है। साथ ही आज हम आपको सबसे ज्यादा खतरनाक साबित हुए 10 बाढ़ के बारे में बता रहे हैं। 

  • undefined

    Bihar29, Jul 2020, 10:10 AM

    बाढ़ से ऐसी हुई जिंदगी,भैस की पूछ के सहारे गंगा पार कर रहा वृद्ध डूबा, जानें कहां-कहां पानी में डूब मरे 21 लोग

    पटना (Bihar) । उत्तर बिहार में बाढ़ की स्थिति अब भी गंभीर बनी हुई है। बाढ़ ने राज्य के एक और जिले समस्तीपुर को अपनी चपेट में ले लिया है। इस तरह अब राज्य के 12 जिलों के 101 प्रखंडों की 837 पंचायतें बाढ़ की चपेट में आ गई हैं। इससे 29.62 लाख से अधिक आबादी बाढ़ से प्रभावित हुई है। लोगों की जिंदगी पूरी तरह से नर्क हो गई है। इतना ही उनके समझ में नहीं आ रहा आखिर वे क्या करें या क्या न करें। इसी सब के चलते विभिन्न जिलों में पानी में डूबने से 21 लोगों की मौत हो गई। इनमें एक वृद्ध ऐसा भी है, जो भैंस की पूछ के सहारे गंगा पार कर रहा था, जिसकी डूबने से मौत हो गई। 

  • undefined

    Bihar24, Jul 2020, 3:31 PM

    तस्वीरों में देखें बाढ़ में कैसी हो गई है LIFE, नदी के कटे बांध, ट्रेन रूट बंद, इस तरह पलायन कर रहे लोग

    पटना (Bihar) ।  उत्तर बिहार में पिछले पांच दिन से हो रही बारिश के चलते लोगों की परेशानियां बढ़ी है। गंडक नदी उफनाई हुई है। आज गोपालगंज और पूर्वी चंपारण में गंडक का बांध तीन जगह टूट गया। बांध टूटने से 1000 से अधिक गांव में पानी भर गया है। लोग जान बचाने के लिए ऊंचे स्थान की ओर पलायन कर रहे हैं। बांध टूटने से दोनों जिले के एक लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं। खबर है कि इस दौरान एक 12 साल का किशोर पानी में बह गया, जिसकी तलाश जारी है। वहीं, समरस्तीपुर में रेलवे ट्रैक के डूबने के चलते कुछ रूट पर ट्रेनों का संचालन ठप हो गया है।

  • undefined

    Bihar22, Jul 2020, 6:14 PM

    बिहारः बाढ़ में खाने के लिए नहीं बचा कुछ, घोंघा खाकर पेट पाल रहे लोग, सामने आईं ये तस्वीरें

    पटना (Bihar)। उत्तर बिहार के जिलों में बाढ़ से स्थिति भयावह हो गई है। नदियों में उफान से सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। खाने के लिए कुछ नहीं बचा है। इसके चलते कई स्थानों पर लोग घोंघा खाने को मजबूर है। उधर, आंधी के कारण कई घर और पेड़ धराशाई हो गए हैं। पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर 4.40 लाख क्यूसेक तक पहुंच गया है। उधर, कोसी भी उफान पर है।

  • <p><strong>पटना (Bihar)। </strong>उत्तर बिहार के जिलों में बाढ़ से स्थिति भयावह हो गई है। नदियों में उफान से सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं।&nbsp;खबर है कि बाढ़ के पानी में डूबने से नौ लोगों की मौत हो गई है। उधर, आंधी के कारण कई घर और पेड़ धराशाई हो गए हैं। पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर 4.40 लाख क्यूसेक तक पहुंच गया है। उधर, कोसी भी उफान पर है।</p>

    Bihar22, Jul 2020, 5:15 PM

    बिहार में नदी के बांध टूटे, बाढ़ का पानी घरों में घुसा, डूबने से 9 लोगों की मौत

    पटना (Bihar)। उत्तर बिहार के जिलों में बाढ़ से स्थिति भयावह हो गई है। नदियों में उफान से सैकड़ों गांव बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। खबर है कि बाढ़ के पानी में डूबने से नौ लोगों की मौत हो गई है। उधर, आंधी के कारण कई घर और पेड़ धराशाई हो गए हैं। पश्चिम चंपारण में गंडक का जलस्तर 4.40 लाख क्यूसेक तक पहुंच गया है। उधर, कोसी भी उफान पर है।