Asianet News HindiAsianet News Hindi

अंकिता का हत्यारा पुलकित कस्टमर्स के साथ भी करता था बुरा बर्ताव, जबरदस्ती दिलाता था रिसॉर्ट को 5 स्टार रेटिंग

अंकिता भंडारी मर्डर केस में पुलिस ने खुलासा किया है कि पुलकित अंकिता पर बुरी नजर रखता था। वह यह भी चाहता था कि कस्टमर्स आएं तो अंकिता उनकी खास सेवा करे। वह यौन संबंधों के लिए उस पर दबाव बना रहा था, जिसके लि अंकिता तैयार नहीं थी। 

Ankita Bhandari Murder Case Pulkit Arya pressurise for sex relation to ankita bhandari apa
Author
First Published Sep 24, 2022, 1:28 PM IST

हरिद्वार। उत्तराखंड में भाजपा नेता विनोद आर्य के बेटे पुलकित ने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर 19 साल की लड़की अंकिता भंडारी की हत्या कर दी थी और उसका शव चिल्ला पॉवर हाउस के नहर में फेंक दिया था। शुक्रवार को राज्य आपदा राहत बचाव दल यानी एसडीआरएफ और पुलिस की टीम ने नहर से अंकिता का शव बरामद किया। अंकिता के माता-पिता ने शव की पहचान कर ली है, जिसके बाद पुलिस ने पुलकित और उसके दो साथियों को गिरफ्तार कर लिया। 

पुलिस का कहना है कि पुलकित पहले टालमटोल करता रहा और पुलिस को घुमाने की कोशिश करता रहा, मगर जब सख्ती बरती गई, तब उसने जबान खोली और सच उगलने लगा। पुलिस ने बताया कि अंकिता भंडारी पुलकित के रिसॉर्ट वनंतरा में बतौर रिसेप्शनिस्ट काम करती थी। पुलिस ने जिन और दो युवकों को इस मामले में गिरफ्तार किया है, उनके नाम सौरभ भास्कर और अंकित गुप्ता हैं। सौरभ इस रिसॉर्ट में मैनेजर है, जबकि अंकित इस रिसॉर्ट में असिस्टेंट मैनेजर पद पर है। 

पुलकित चाहता था अंकिता रिसॉर्ट में आने वाले कस्टमर्स की 'सेवा' करे
पुलिस के अनुसार, पुलकित ने सौरभ और अंकित के साथ मिलकर अंकिता की हत्या की और शव को नहर में फेंक दिया था। पुलिस के मुताबिक, पुलिकत अंकिता पर यौन संबंधों के लिए दबाव बना रहा था, जिसका वह विरोध कर रही थी। यही नहीं, पुलकित चाहता था कि अंकिता उसके रिसॉर्ट में आने वाले ग्राहकों की भी 'सेवा' करे यानी वह उसे कस्टमर्स के सामने वेश्या बनाकर कॉल गर्ल के तौर पर पेश करना चाहता था। अंकिता इन सबका विरोध करती थी। 

हाल ही में ज्वाइन की थी रिसेप्शनिस्ट की जॉब, 19 सितंबर से गायब थी
वहीं, कुछ कस्टमर्स का कहना है कि पुलकित रिसॉर्ट में आने वाले ग्राहकों से भी खराब बर्ताव करता था। जो ग्राहक प्ले स्टोर पर इसकी कम रेटिंग देते या रिव्यू खराब लिखते थे, तो पुलकित उन्हें धमकाता था और दबाव बनाकर 5 स्टार रिव्यू देने को कहता था। पुलकित के पिता विनोद आर्य राज्य में दर्जा प्राप्त मंत्री रह चुके थे, जबकि पुलकित का भाई अंकित आर्य अभी राज्य सरकार में ओबीसी कल्याण आयोग में उपाध्यक्ष है। वहीं, अंकिता उत्तराखंड के पौड़ी गढ़वाल जिले के श्रीकोट गांव की रहने वाली थी। उसेने हाल ही में रिसॉर्ट में रिसेप्शनिस्ट की नौकरी ज्वाइन की थी। इसके बाद 19 सितंबर को वह अचानक लापता हो गई। उसके परिजनों ने कई बार रिसॉर्ट प्रबंधन से उसके बारे में पूछा, मगर वे सही जवाब नहीं देते थे। कुछ युवकों ने मिलकर सोशल मीडिया पर अंकिता की तलाश  के लिए अभियान शुरू किया था, जिसके बाद राज्य सरकार और पुलिस पर दबाव बना और उन्होंने केस दर्ज कर गंभीरता से जांच की। 

हटके में खबरें और भी हैं..

बुजर्ग पति का वृद्ध महिला कैसे रख रही खास ख्याल.. भावुक कर देगा यह दिल छू लेना वाला वीडियो 

मां ने बेटे को बनाया ब्वॉयफ्रेंड और साथ में किए अजीबो-गरीब डांस, भड़के लोगों ने कर दी महिला आयोग से शिकायत

कौन है PFI का अध्यक्ष ओमा सलाम, जानिए इस विवादित संगठन का अध्यक्ष बनने से पहले वो किस विभाग का कर्मचारी था

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios