Asianet News HindiAsianet News Hindi

इंसानों को जिंदा रखने की कीमत: चीन पालतू कुत्ते-बिल्लियों की हत्या क्यों कर रहा है, इसके पीछे दिया अजीब तर्क

इंसानों की जिंदा रखने की कीमत जानवरों की मौत है? ये सवाल इसलिए क्योंकि चीन में कुछ ऐसा ही हो रहा है। यहां पर पालतू जानवरों की बेदर्दी से हत्या कर दी जा रही है।

china is killing pet dogs cats of corona infected persons kpn
Author
China, First Published Nov 15, 2021, 9:02 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बीजिंग (Beijing). कोविड (Covid) ने पूरी दुनिया को डरा कर रख दिया। यही वजह है कि दुनिया के तमाम देशों ने वैक्सीन के अलावा ऐसे कई जतन किए, जिससे भविष्य में ऐसे खतरों से बचा जा सके। चीन (China) ने नए कानून के तहत वायरस को रोकने के लिए कोविड रोगियों के पालतू कुत्तों और बिल्लियों (Pet Dogs And Cats) की हत्या कर दी। चीन वायरस को लेकर जीरो टॉलरेंस नीति के तहत ऐसा कर रहा है। अधिकारियों का दावा है कि यह वायरस को फैलने से रोकने के लिए चीन ने ये नियम बनाया है, हालांकि इस कानून को लेकर एनिमल लवर्स (Animal Lovers) के बीच गुस्सा है। वे इसका विरोध कर रहे हैं।  

"कोरोना से ठीक होने पर मेरी बिल्ली को मार दिया"
चीन के नए कानून के विरोध करने वालों का तर्क है कि इस बात के बहुत कम सबूत हैं कि जानवरों से कोरोना वायरस इंसानों में फैल सकता है। इसके बाद भी कई बिल्लियों और कुत्तों को मार दिया गया है, जबकि उनके मालिकों को इलाज मिला है। चेंगदू की एक निवासी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म Xiaohongshu पर दावा किया कि उसकी बिल्लियों को तब मारा गया, जब वे क्वारंटीन पीरिड पूरा कर चुके थे। 

कुत्ते-बिल्लियों को मारने के पीछे क्या वजह? 
ऐसी ही एक घटना का जिक्र सितंबर में उत्तर पूर्व में हार्बिन की एक महिला ने किया था। उसने बताया था कि उसकी तीन बिल्लियों को तो पहले ही मार दिया गया था। बाद में उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। हालांकि इन आरोपों पर अधिकारियों ने कहा कि कोरोना में जानवरों के लिए कोई इलाज नहीं है और मौत ही एकमात्र विकल्प है। एक कार्यकर्ता ने बीजिंग न्यूज को बताया, कोरोन वायरस से संक्रमित जानवरों को ठीक करने के लिए कोई एक्सपर्ट डॉक्टर मौजूद नहीं है। हालांकि, कई एक्सपर्ट ने भी जानवरों के मारे जाने का विरोध किया। उनका साफ तौर पर ये कहना था कि पालतू जानवरों से वायरस इंसानों में कितना फैलता है, इसका कोई ठोस प्रमाण नहीं है।

नॉटिंघम यूनिवर्सिटी में वायरोलॉजी के प्रोफेसर राचेल तार्लिन्टन ने कहा, यह बहुत लॉजिकल नहीं लगता है। सामान्य रूप से जानवरों से वायरस इंसानों में नहीं फैलता है। एनिमल लवर्स ने भी इसपर अपनी सहमति दी। कई लोगों ने तो आरोप लगाए की जिम्मेदारी से बचने के लिए जानवरों को मारने का आसान तरीका चुना गया है। एक पालतू जानवर के मालिक ने साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट को बताया, बिना किसी लॉजिक के ही जानवरों को मार देना कायरता है।

ये भी पढ़ें.

बन गया कुत्ता-देखो बन गया कुत्ता: मिल गई बॉयफ्रेंड को कुत्ता बनाकर घुमाने वाली लड़की, जानें इससे क्या फायदा

कौन है 24 साल की उम्र में 500 पुरुषों से संबंध बना चुकी लड़की, कहा- अगला टारगेट 1000

इस देश में Work From Home को लेकर बड़ा बदलाव, ऑफिस खत्म होने के बाद बॉस ने मैसेज किया तो जाएगा जेल

दुनिया की सबसे खतरनाक शार्क की चौंकाने वाली तस्वीर, 300 दांत फिर भी शिकार को फाड़कर निगल जाती है

    

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios