Asianet News HindiAsianet News Hindi

बाइक के हैंडल से वजाइना में लगी चोट, 3 दिनों बाद लड़की की ऐसी हालत हुई कि मेडिकल जर्नल मे दर्ज हुआ केस

British Medical Journal में 18 साल की लड़की के साथ हुए हादसे की कहानी पब्लिश की गई। Dublin में हुए इस एक्सीडेंट से लड़की की जो हालत हुई थी, उसे देखकर डॉक्टर भी दंग रह गए थे। 

Dublin British Medical Journal injures Vagina badly due to bike handle kpn
Author
Dublin, First Published Nov 10, 2021, 10:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

डबलिन (Dublin). रोड एक्सीडेंट (Road Accident) की कई घटनाएं आपने सुनी होंगी। लेकिन कुछ घटनाएं ऐसी होती है जो कहीं न कहीं दर्ज की जाती हैं। ऐसी ही एक घटना डबलिन की है, जहां 18 साल की लड़की के साथ ऐसा एक्सीडेंट हुआ कि डॉक्टर भी दंग रह गए। ब्रिटिश मेडिकल जर्नल (British Medical Journal) में इस घटना का जिक्र किया गया है। यहां बाइक चला रही एक लड़की का एक्सीडेंट हुआ। इस दौरान बाइक का हैंडल लड़की की वजाइना (Bike Hit Vagina) में टकराया। 

वजाइना के चारों तरफ जम गया था खून
मेडिकल जर्नल (Medical Journal) में लड़की का नाम नहीं बताया गया, लेकिन उसकी पूरी कहानी शेयर की गई है। जब वह डॉक्टर के पास आई थी तो उसके वजाइना से तेज खून निकल रहा था। चारों तरफ स्वैलिंग थी। डबलिन के रोटुंडा हॉस्पिटल (Rotunda Hospital) के डॉक्टर्स ने जब वजाइना की हालत देखी तो दंग रह गए। लड़की ने बताया कि उसे तेज दर्द हो रहा है और पेशाब नहीं हो रही है। डॉक्टर ने बताया कि बाइक के हैंडल से सीधी टक्कर वजाइना पर हुआ था। लेकिन तब लड़की को लगा कि मामली चोट है। इसलिए तीन दिनों तक डॉक्टर को नहीं दिखाया। लेकिन जब दर्ज बढ़ गया तो हॉस्पिटल पहुंची। 

इससे पहले नहीं देखी थी ऐसी चोट
डॉक्टर ने बतााय कि वजाइना के चारों तरफ खून जम गया था। सूजन थी। कई जगहों पर फफोले पड़ गए थे। आमतौर पर ऐसा तब होता है जब महिला बच्चे को जन्म देती हैं, लेकिन चोट की वजह से उस लड़की की ऐसी हालत हो गई थी। डॉक्टर एमी वॉरॉल और उनके सहयोगियों ने मेडिकल जर्नल में लिखा कि उन्होंने इससे पहले ऐसी चोट सिर्फ डिलीवरी के वक्त ही देखी थी। सामान्य दिनों में किसी लड़की के साथ ऐसा हुआ कभी नहीं देखा था। डिलीवरी के अलावा ऐसा उस कंडीशन में होता है कि अगर किसी ने जबरदस्ती संबंध बनाए हो। डबलिन के डॉक्टरों ने कहा कि वजाइना के चारों तरफ मवाद भर गया था। इसी वजह से पेशाब भी नहीं हो रही थी।

डॉक्टर्स ने ब्लडर को खाली करने के लिए मॉर्फिन और कैथेटर दिया, जिससे कि यूरिन हो सके। एनेस्थेटिक के बाद डॉक्टर हेमेटोमा को निकालने में सफल रहे। हेमेटोमा मतलब वह जगह जहां पर चोट लगी हो और उसके पास में खून जम गया हो। ऐसे में जमे खून के थक्के को बाहर निकालना पड़ता है। तीन महीने तक इलाज चला और उसके बाद वह पूरी तरह से ठीक हो गई।

ये भी पढ़ें.

बन गया कुत्ता-देखो बन गया कुत्ता: मिल गई बॉयफ्रेंड को कुत्ता बनाकर घुमाने वाली लड़की, जानें इससे क्या फायदा

कौन है 24 साल की उम्र में 500 पुरुषों से संबंध बना चुकी लड़की, कहा- अगला टारगेट 1000

इस देश में Work From Home को लेकर बड़ा बदलाव, ऑफिस खत्म होने के बाद बॉस ने मैसेज किया तो जाएगा जेल

दुनिया की सबसे खतरनाक शार्क की चौंकाने वाली तस्वीर, 300 दांत फिर भी शिकार को फाड़कर निगल जाती है

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios