Asianet News HindiAsianet News Hindi

Shocking: दुनिया के उस बच्चे के जिंदा बचने की कहानी, जो सिर्फ 20 हफ्ते में मां की गर्भ से निकला बाहर

बर्मिंघम में पैदा हुए इस बच्चे के जिंदा बचने की उम्मीद बहुत कम थी। इसे छूने से स्किन निकलने लगती थी। डॉक्टर्स के लिए इसे जिंदा बचाना एक चैलेंज था। 

USA story of the world most premature baby in Birmingham kpn
Author
Birmingham, First Published Nov 12, 2021, 9:40 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बर्मिंघम. बर्मिंघम में एक जगह अलबामा (Alabama) है। यहां पर दुनिया के सबसे प्रीमैच्योर बच्चे (World Most Premature Baby) के जन्म लेने का रिकॉर्ड है। बच्चा 20 हफ्ते पहले ही पैदा हो गया था। उस वक्त उसका वजन 420 ग्राम था। डॉक्टर सहित बच्चों के परिजन बच्चे को देखकर हैरान थे। आज बच्चा करीब 16 महीने का हो चुका है। स्वस्थ है। द मिरर (The Mirror) ने अपनी एक रिपोर्ट में बताया है कि कैसे बच्चे को जिंदा बचाया गया। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स (Guinness World Records) ने अब पुष्टि की है कि कर्टिस  जो 132 दिन (लगभग 19 हफ्ते) में पैदा हो गया था। वह दुनिया का सबसे प्रीमैच्योर बच्चा है। एक नवजात का औसत वजन लगभग 7.5 पौंड (3.5 किग्रा) होता है। वहीं बच्चे का जन्म सबसे अच्छा 40 हफ्ते बाद माना जाता है।

4 जुलाई 2020 को जुड़वा बच्चों को जन्म हुआ था
बच्चे का नाम कर्टिस मीन्स है। 4 जुलाई 2020 को मीन्स की मां मिशेल बटलर को तेज दर्द हुआ। इसके बाद उन्हें हॉस्पिटल ले जाया गया। इसके बाद मिशेल ने अगले दिन दोपहर के वक्त जुड़वां बच्चों कर्टिस और कैसिया को जन्म दिया। लेकिन एक दिन बाद ही कैसिया की मृत्यु हो गई। लेकिन कर्टिस को बचाने में डॉक्टर सफल रहे। उसे गहन देखभाल में रखा गया। उस वक्त बच्चे की देखभाल डॉक्टर ब्रायन सिम्स कर रहे थे। उन्होंने कहा था कि जुड़वा बच्चों के जिंदा रहने की संभावना नहीं के बराबर थी। 

274 दिनों तक वेंटिलेटर पर खा गया था
बर्मिंघम में अलबामा यूनिवर्सिटी ने एक बयान में कहा कि डॉक्टरों को उम्मीद नहीं थी कि इतना जल्दी बच्चे का जन्म हो जाएगा। उन्होंने एक चैलेंज की तरह बच्चे की देखभाल की। हॉस्पिटल ने माता-पिता को बच्चे के पास रहने की भी परमीशन दे दी। कर्टिस दिन ब दिन मजबूत होता गया। करीब 274 दिनों के बाद उसे वेंटिलेटर से हटाया गया और हॉस्पिटल से छुट्टी मिली। मां मिशेल बटलर ने कहा था कि दोनों बच्चों का पैदा होना फिर एक की मौत हो जाना उनके लिए बहुत दर्दनाक था, लेकिन दूसरे बच्चे के बच जाने से उनका दुख कुछ कम हुआ। डिलीवरी के दौरान देखरेख करने वाले डॉक्टर सिम्स ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स को बताया, मैं ये काम लगभग 20 साल से कर रहा हूं, लेकिन मैंने कभी किसी बच्चे को इतना मजबूत नहीं देखा जितना वह था। कर्टिस बहुत खास बच्चा है।

ये भी पढ़ें.

बन गया कुत्ता-देखो बन गया कुत्ता: मिल गई बॉयफ्रेंड को कुत्ता बनाकर घुमाने वाली लड़की, जानें इससे क्या फायदा

कौन है 24 साल की उम्र में 500 पुरुषों से संबंध बना चुकी लड़की, कहा- अगला टारगेट 1000

इस देश में Work From Home को लेकर बड़ा बदलाव, ऑफिस खत्म होने के बाद बॉस ने मैसेज किया तो जाएगा जेल

दुनिया की सबसे खतरनाक शार्क की चौंकाने वाली तस्वीर, 300 दांत फिर भी शिकार को फाड़कर निगल जाती है

  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios