जौनपुर (Uttar Pradesh) । लॉकडाउन होने के बाद ट्रेनों का संचालन बंद कर दिया गया है। वहीं, मुंबई में कोरोना वायरस और काम बंद होने की स्थिति में वहां रहने वाले अब जान जोखिम में डालकर घर आने लगे हैं। इसी बीच ट्रक में सवार होकर दो बार में 25 तीन लोग घर आ गए। जानकारी होने पर प्रशासन ने उनकी जांच कराई तो उनमें तीन लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। अचानक तीन संक्रमित मरीज मिलने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया है। बता दें कि अब जिले में संक्रमण मामलों की संख्या आठ हो गई है।


यह है पूरा मामला
20 अप्रैल को 22 लोग एक ट्रक से जौनपुर पहुंचे थे, जो मुंबई के पनवेल इलाके में रहते थे। ये बदलापुर क्षेत्र के रहने वाले हैं। इसी तरह 24 अप्रैल को भी नौ लोग मुंबई से यहां पहुंचे थे। सभी को पहले गांव के ईदगाह में रखा गया था। इसके बाद 24 अप्रैल को प्राथमिक विद्यालय में क्वारंटीन किया गया था।

रिपोर्ट आते ही मचा हड़कंप
प्रशासन ने सभी के सैंपल लिया। जिसकी जांच रिपोर्ट आज आ गई। इनमें से तीन कोरोना पॉजिटिव मिले हैं।  20 अप्रैल को आए लोगों में जिन दो मरीजों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है, वह बदलापुर क्षेत्र के फत्तूपुर गांव के रहने वाले हैं, जबकि 24 अप्रैल को आए लोगों में भी एक कोरोना संक्रमित मिला है, वह करनपुर गांव का रहने वाला है।


वाराणसी भेजे जा रहे सभी
एक साथ तीन संक्रमित मरीज मिलने पर हड़कंप मच गया। प्रशासन तीनों संक्रमित मरीजों को वाराणसी के दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल भेजा जा रहा है। बता दें कि जौनपुर जिले में अब कोरोना संक्रमितों की संख्या आठ हो गई है। इसमें चार लोग ठीक हो गए हैं।