जौनपुर (Uttar Pradesh) । साथी युवक की दोस्तों ने ही गला रेतकर हत्या कर दिया। इसके के बाद उसके शव को जमीन में गाड़ दिया। फिलहाल पुलिस ने हत्यारों में एक को गिरफ्तार को लिया है, जिसकी निशानदेही पर पुलिस ने गाजीपुर की सीमा पर गाड़ा गया शव बरामद कर लिया। साथ ही दो अन्य आरोपियों को की धर पकड़ तेज कर दी है। पुलिस की जांच में यह बात सामने आई कि तीनों दोस्तों ने रंगदारी न मिलने पर इस वारदात को अंजाम दिया। घटना चंदवक थाना क्षेत्र के छोटकी कोइलारी गांव की है।

बाइक से गेहूं पिसाने गया था सुरेंद्र
छोटकी कोइलारी गांव निवासी सुरेंद्र प्रताप सिंह उर्फ बिट्टू (25) शनिवार को घर से बाइक से गेहूं पिसाने निकला था। देर रात तक वापस न लौटने पर परिजन उसकी तलाश करने लगे, लेकिन कहीं पता नहीं चला। 

सुरेंद्र की ही मोबाइल से मांगी थी रंगदारी
दोस्तों ने सुरेंद्र के ही मोबाइल फोन से रविवार को उसके पिता को कॉल किया था। इस दौरान रंगदारी के तौर पर तीन लाख रुपये की मांग की थी। धमकी दी थी कि रुपये न देने पर सुरेंद्र की हत्या कर दी जाएगी।

इस तरह हत्यारे तक पहुंची पुलिस
अजय सिंह ने थाने पर लिखित सूचना दी। पुलिस गुमशुदगी का मामला दर्ज कर छानबीन में जुट गई। सर्विलांस के सहारे पुलिस ने सोमवार को अमरौना गांव निवासी सोनम राजभर को पकड़ा। 

पुलिस को शव तक ले गया हत्यारा
पूछताछ के दौरान उसने सुरेंद्र की हत्या कर दिए जाने की बात कुबूल कर ली। उसकी निशानदेही पर पुलिस ने गाजीपुर जिले की सीमा से सटे तरांव, करहट में नहर किनारे जमीन में गाड़े गए शव और आजमगढ़ में छिपाई गई उसकी बाइक को बरामद की। 

बहन की पाही किए थे हत्या
आरोपी ने पुलिस को बताया कि उसी के गांव के दिलीप राजभर व कोइलारी निवासी चंदन सिंह उर्फ रवि सुरेंद्र के घनिष्ठ मित्र थे। रवि के कहने पर ही तरांव में उसकी बहन की पाही पर जुटे और सुरेंद्र की हत्या कर शव गाड़ दिया। दूसरे दिन रवि ने ही मृत सुरेंद्र के मोबाइल फोन से उसके पिता अजय सिंह को काल कर तीन लाख रुपये की मांग की थी।