Asianet News Hindi

सुरक्षित रहें नौनिहालों की जिंदगी, इसलिए निजी घर में चल रहा यूपी का एक प्राइमरी स्कूल

बच्चों को शिक्षा देने के लिए, मजबूरी में लिया शिक्षकों ने निजी घर में स्कूल चलने का फैसला । स्कूल की बिल्डिंग एकदम जर्जर हालत में है और कभी भी हादसे की वजह बन सकती है। 

a primary school in u.p runs in house because school's building is wretched out
Author
Barabanki, First Published Jul 26, 2019, 6:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बाराबंकी: कहां तो तय था चरागा हर एक घर के लिए, कहां चराग मयस्सर नहीं शहर के लिए। शायर डॉ. दुष्यंत कुमार की यह रचना, बाराबंकी के एक प्राथमिक विद्यालय पर बिलकुल सटीक बैठ रही है। जहां बच्चे हैं, पाठ्य पुस्तकें हैं और इन्हें तालीम देने के लिए शिक्षक भी हैं, अगर कुछ नहीं है तो वह है जगह, जहां यह बच्चे सुरक्षित होकर शिक्षा ले सकें। इन बच्चों के स्कूल का भवन जर्जर हो चुका है। लेकिन बारिश के मौसम में जर्जर स्कूल के अंदर बैठना खतरे से खाली नहीं है, इसीलिए यहां के शिक्षक अब यह स्कूल एक घर में चलाने को मजबूर हैं।

स्कूल की बिल्डिंग हो चुकी है एकदम जर्जर

केंद्र और यूपी सरकार शिक्षा को बेहतर करने के लाख दावे कर रही है और करोड़ों रूपये भी खर्च कर रही है लेकिन अभी भी कई सरकारी स्कूलों की हालत में कोई सुधार नजर नहीं आ रहा है। जनपद बाराबंकी में विकासखंड रामनगर का प्राथमिक विद्यालय, साधारणपुर एक ऐसा ही प्राथमिक विद्यालय है, जहां बच्चे मौत के मुंह में पढ़ने को मजबूर हैं क्योंकि विद्यालय की बिल्डिंग एकदम जर्जर हो चुकी है। स्कूल की जर्जर स्थिति को देखते हुए बारिश के मौसम में यहां पढ़ने वाले बच्चों पर जान खतरा मंडराता रहता है। स्कूल के अंदर और बाहर पानी भर जाता है, जिसके चलते बच्चों का बैठना और शिक्षकों का पढ़ाना मुश्किल हो जाता है। इसीलिये बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर शिक्षकों ने स्कूल को गांव के एक घर में लगाना शुरू कर दिया। शिक्षकों का कहना है कि स्कूल के बगल में नाला है और यहां अक्सर सांप, बिच्छू जैसे खतरनाक जानवर निकलते रहते हैं। बारिश के चलते स्कूल के अंदर और बाहर पानी भर जाता है। स्कूल की बिल्डंग एकदम जर्जर हो चुकी है, जिसके चलते यहां कभी भी कोई हादसा हो सकता है। इसलिए हमने बारिश के मौसम में स्कूल को गांव के घर में लाना शुरू कर दिया। जिससे बच्चे सुरक्षित रहें।

 बेसिक शिक्षा अधिकारी वीपी सिंह ने बताया कि स्कूल की बिल्डिंग काफी पुरानी हो चुकी है। मामला उनके संज्ञान में है। वह स्कूल की बिल्डिंग को दुरुस्त करवाने के लिए जल्द ही विभागीय कार्रवाई करेंगे। जिससे बच्चे स्कूल के भवन में सुरक्षित पढ़ाई कर सकें।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios