Asianet News HindiAsianet News Hindi

JNU में बर्बरता के बाद AMU छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च, 3 सेंट्रल यूनिवर्सिटी में अलर्ट; मायावती ने की ये मांग

दिल्ली में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में रविवार को हुए बवाल के बाद यूपी में स्थित 3 सेंट्रल यूनिवर्सिटी को लेकर पुलिस ने अलर्ट जारी किया है। इसमें अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU), काशी हिंदू विश्वविद्यालय और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी शामिल है।

after jnu violence alert in central university in uttar pradesh KPU
Author
Lucknow, First Published Jan 6, 2020, 10:32 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh). दिल्ली में जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में रविवार को हुए बवाल के बाद यूपी में स्थित 3 सेंट्रल यूनिवर्सिटी को लेकर पुलिस ने अलर्ट जारी किया है। इसमें अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU), काशी हिंदू विश्वविद्यालय और इलाहाबाद यूनिवर्सिटी शामिल है। साथ ही जिला प्रशासन और पुलिस को यूनिवर्सिटी प्रशासन से लगातार बातचीत करते रहने के निर्देश दिए गए हैं। इस बीच एएमयू के छात्रों ने तिरंगा यात्रा निकालने का ऐलान किया है। वहीं, जेएनयू मामले को लेकर मायावती ने केंद्र सरकार से न्यायिक जांच की मांग की है।

एएमयू के छात्र निकालेंगे तिरंगा यात्रा 
तिरंगा यात्रा आज (6 जनवरी) दोपहर 3 बजे मास कॉम डिपार्टमेंट से बाबे सैय्यद गेट तक निकाली जानी है। यात्रा को लेकर पुलिस भी अलर्ट है। चप्पे-चप्पे पर पुलिस बल तैनात किया गया है। इसमें रैपिड एक्शन फोर्स, पीएसी के साथ सिविल पुलिस फोर्स व पुलिस के आलाधिकारी मौजूद हैं। माना जा रहा है कि तिरंगा यात्रा के दौरान हजारों की संख्या में छात्रों की भीड़ मौजूद रह सकती है।

एएमयू छात्रों ने निकाला कैंडल मार्च
वहीं, जेएनयू में हुई बर्बरता को लेकर एएमयू में छात्रों ने रविवार रात ही कैंडल मार्च निकाला। साथ ही जेएनयू छात्रों को पूर्ण समर्थन देने की बात कही। एएमयू छात्रों ने कहा, जेएनयू में दो छात्र गुटों के बीच हुई हिंसा की घटना व एबीवीपी  के कार्यकर्ताओं की करतूत का हम विरोध करते हैं। पुलिस के साथ जेएनयू में घुसकर एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने जेएनयू छात्रों के साथ जो बर्बरता की है उसके विरोध में ही हम लोगों ने कैंडल मार्च निकाला।

मायावती ने जेएनयू घटना को बताया शर्मनाक
जेएनयू परिसर में हिंसा के मामले में बसपा सुप्रीमो मायावती ने न्यायिक जांच की मांग की है। उन्होंने ट्वीट कर  लिखा, JNU में छात्रों व शिक्षकों के साथ हुई हिंसा अति-निन्दनीय व शर्मनाक है। केन्द्र सरकार को इस घटना को अति-गम्भीरता से लेना चाहिए। 

क्या है जेएनयू की घटना
रविवार देर शाम जेएनयू परिसर में छात्रों के बीच जमकर मारपीट हुई। लेफ्ट के छात्र संगठनों ने एबीवीपी पर हॉस्टल में घुसकर मारपीट करने का आरोप लगाया है। वहीं एबीवीपी ने लेफ्ट संगठनों पर। इस घटना में कई छात्रों को गंभीर चोटें आई हैं। जेएनयू की छात्र संघ अध्यक्ष आइशी घोष के भी सर में चोट आई है। विवाद बढ़ता देख पुलिस मौके पर पहुंच गई और स्थितियों को काबू में किया। सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios