Asianet News HindiAsianet News Hindi

6 दिसंबर को ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक का ऐलान, छावनी में तब्दील हुई कृष्ण नगरी

6 दिसंबर को अयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंस की बरसी पर कुछ संगठनों ने मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक करने का ऐलान किया था। इस तरह के ऐलान के बाद प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है साथ ही तमाम पुलिस फोर्स के साथ-साथ खुफिया आदि एजेंसियों को भी लगाया गया है। कान्हा की नगरी मथुरा छावनी में तब्दील कर दिया गया है। 

After the announcement of Jalabhishek at Idgah Masjid on 6th December Krishna Nagari turned into a cantonment
Author
Mathura, First Published Dec 5, 2021, 3:52 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मथुरा: 6 दिसंबर को 'हिंदू संगठनों' के कार्यक्रमों के ऐलान के मद्देनजर पुलिस ने सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी कर दी है। दरअसल, 6 दिसंबर को अयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंस (Babri Vidhwans) की बरसी पर कुछ संगठनों ने मथुरा में शाही ईदगाह मस्जिद में जलाभिषेक करने का ऐलान किया था। इस तरह के ऐलान के बाद प्रशासन ने धारा 144 लगा दी है.

एसपी सिटी मार्तण्ड प्रकाश सिंह ने बताया कि 6 दिसम्बर के लिए पांच अपर पुलिस अधीक्षक, 14 पुलिस उपाधीक्षक, 40 इन्सपेक्टर, 1400 हेडकांस्टेबिल व कांस्टेबिल, 10 कम्पनी पीएसी एवं 16 कम्पनी आरएएफ लगाई गई है। इसके अलावा खुफिया आदि एजेंसियों को भी लगाया गया है। कुल मिलाकर कान्हा की नगरी मथुरा छावनी में तब्दील हो गई है।

भड़काऊ पोस्ट करने वालों पर नजर

मथुरा पुलिस सोशल मीडिया पर भी कड़ी निगरानी रख रही है। इस बीच मथुरा में सोशल मीडिया पर 'आपत्तिजनक और भड़काऊ' पोस्ट करने के लिए चार व्यक्तियों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) गौरव ग्रोवर ने कहा कि गोविंद नगर पुलिस थाने में दो प्राथमिकी दर्ज की गई हैं, जबकि अन्य प्राथमिकी कोतवाली पुलिस थाने में दर्ज की गई है।

अब मथुरा की बजाए दिल्ली में होगा हिंदू महासभा का कार्यक्रम

अखिल भारत हिंदू महासभा ने 6 दिसंबर को घोषित लड्डूगोपाल का जलाभिषेक मथुरा के बजाए अब नई दिल्ली स्थित महासभा के मुख्य कार्यालय में करने का निर्णय लिया है। महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष राज्यश्री चौधरी की तरफ से जारी एक वीडियो संदेश में कहा गया है कि मथुरा प्रशासन ने महासभा के कार्यक्रम से कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने की संभावना जाहिर करते हुए वहां जलाभिषेक की अनुमति नहीं दी है, इसलिए यह फैसला करना पड़ रहा है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios