Asianet News HindiAsianet News Hindi

ताजमहल में तीन दिन तक पर्यटकों का मुख्य गुंबद पर प्रवेश रहेगा बंद, जानिए क्यों लिया गया ऐसा फैसला 

ताजमहल के मुख्य गुंबद में पर्यटकों का प्रवेश तीन दिनों तक के लिए बंद कर दिया गया है। बढ़ती भीड़ और सुरक्षा के मद्देनजर यह फैसला लिया गया है। 

agra tourists entry closed for three days on the main tomb of tajmahal
Author
Agra, First Published Aug 13, 2022, 8:20 AM IST

आगरा: ताजमहल में शनिवार 13 अगस्त से लेकर सोमवार 15 अगस्त तक पर्यटक शाहजहां-मुमताज के कब्र वाले मुख्य मकबरे में प्रवेश नहीं कर पाएंगे। 15 अगस्त तक निशुल्क प्रवेश के कारण ताजमल पर 75 हजार से भी ज्यादा सैलानी पहुंच रहे हैं। लिहाजा पर्यटकों और स्मारक की सुरक्षा का खतरा बढ़ गया है। इसी के मद्देनजर भारतीय पुरात्तव सर्वेक्षण ने यह बड़ा फैसला लिया है। 

भारी भीड़ के बीच हादसे की आशंका 
अधीक्षण पुरात्तवविद डॉ. राजकुमार पटेल ने जानकारी दी कि शनिवार, रविवार और सोमवार को पर्यटक चमेली फर्श से ऊपर मुख्य मकबरे में नहीं जाएंगे। मकबरे के लिए सामान्य दिन में 200 रुपए का अतिरिक्त शुल्क था। हालांकि निशुल्क प्रवेश के चलते यहां गुंबद पर भारी भीड़ पहुंच रही है और इसके चलते पर्यटकों के नीचे गिरने हादसे की आशंका बनी हुई है। 
शुक्रवार को भी ताजमहल के अंदर भारी भीड़ देखी गई। इस बीच आगरा किला में दोपहर में पर्यटकों का प्रवेश बंद करना पड़ा। इसी के मद्देनजर यह तय किया गया कि 13 से 15 अगस्त तक ताज के मुख्य गुंबद पर प्रवेश बंद रहेगा। इन तीन दिनों में चमेली फर्श की सीढ़ियों को आम पर्यटकों के लिए बंद कर दिया जाएगा। वहीं पर्यटक चमेली फर्श, मेहमान खाने और मस्जिद की ओर घूम सकते हैं। 

पहले भी भीड़ के कारण किया जा चुका है बंद 
तकरीबन 5 साल पहले 31 दिसंबर 2017 को भी एएसआई ने मुख्य मकबरे में पर्यटकों का प्रवेश रोक दिया था। उस समय 50 से 75 हजार पर्यटक प्रतिदिन आ रहे थे। हालांकि बाद में इसे अगले ही दिन खोल दिया गया था। लेकिन इससे सबक लेते हुए मुख्य गुंबद पर स्टेप टिकटिंग यानी 200 रुपए का अतिरिक्त शुल्क लगा दिया गया था। उसके बाद पर्यटकों की सीमित संख्या ही मकबरे पर जा रही थी। रक्षाबंधन पर दोपहर बाद आगरा किला में जबरदस्त भीड़ देखी गई। प्रवेश के लिए 12 कतारें लगी थी। धक्कामुक्की के बीच कई महिलाएं और बच्चे भी गिर गए। इस बीच पर्यटन पुलिस से हालात न संभले तो थाने से भी पुलिस फोर्स को बुलाना पड़ा। 

'हर घर तिरंगा' नहीं भगवा लगाओ, यति नरसिहानंद गिरी बोले - इसका पैसा मुसलमानों को जा रहा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios