Asianet News HindiAsianet News Hindi

जेल में बंद इस महिला नेता से मिलेंगे कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष, पुलिस पर बर्बरता करने का लगाया आरोप

यूपी में CAA को लेकर चल रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा गिरफ्तार की गई कांग्रेस की प्रवक्ता सदफ जाफ़र से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू जेल में मुलाकात करेंगे। सदफ जाफ़र को पुलिस ने शुक्रवार को लखनऊ में चल रहे CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के मामले में गिरफ्तार किया था

ajay kumar lallu said caa is against the constitution kpl
Author
Lucknow, First Published Dec 22, 2019, 8:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ(Uttar Pradesh ). यूपी में CAA को लेकर चल रहे प्रदर्शन के दौरान पुलिस द्वारा गिरफ्तार की गई कांग्रेस की प्रवक्ता सदफ जाफ़र से कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू जेल में मुलाकात करेंगे। सदफ जाफ़र को पुलिस ने शुक्रवार को लखनऊ में चल रहे CAA के खिलाफ विरोध प्रदर्शन के मामले में गिरफ्तार किया था। प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने यूपी पुलिस पर कांग्रेसी नेता सदफ जाफ़र के साथ बर्बता करने का आरोप लगाया है। 

बता दें कि गौरतलब है कि यूपी में दो दिनों से CAA के विरोध में हो रहे प्रदर्शन के खिलाफ यूपी पुलिस ने ताबड़तोड़ गिरफ्तारियां की है। यूपी के डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि शनिवार रात तक 5000 प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया गया है। अलग-अलग जुर्म में 879 लोगों को जेल भेजा गया है। 135 प्रदर्शनकारियों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं हिंसा के दौरान 288 पुलिसकर्मी प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से घायल हुए हैं।

दोषी अधिकारियों के खिलाफ हो कड़ी कार्रवाई 
प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने कहा है  उत्तर प्रदेश कांग्रेस की प्रवक्ता रहीं सदफ जाफ़र को पुलिस ने जिस तरह बर्बर ढंग से मारा पीटा है, वह निंदनीय और आपराधिक कृत्य है। सदफ जाफ़र को पुलिस ने गैरकानूनी तरीके से गिरफ्तार किया है। पुलिस ने 24 घंटे तक उनकी गिरफ्तारी को छिपा कर रखा था। इसके लिए हम सोमवार को सदफ जाफ़र से मुलाक़ात करेंगे और सरकार से दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। 

बाबा अम्बेडकर के कानून के आलावा कोई कानून स्वीकार नहीं 
यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नोटबंदी के बाद CAA और NRC के नाम पर सरकार फिर गरीबों को लाइन में लगाना चाहती है। यह संविधान विरोधी कानून है। उन्होंने कहा किसी भी कीमत पर बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान के कानून के खिलाफ संघी कानून को स्वीकार नहीं किया जाएगा। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios