ग्रेटर नोएडा (Uttar Pradesh) । एक नवजात बच्चे की इसलिए मौत हो गई कि उसे अस्पताल तक ले जाने के लिए एंबुलेंस नहीं मिल सकी। हालांकि हालत ज्यादा खराब होने पर पिता बाइक से ही उसे अपस्ताल के लिए लेकर निकल पड़ा, लेकिन, रास्ते में ही नवजात की मौत हो गई। इसके बाद रोते हुए पिता ने वीडियो वायरल करके व्यवस्था की पोल खोल दी। हालांकि वायरल हो रहे वीडियो को देख प्रशासन हरकत में आ गया। यह दुखद घटना गौतम बुद्ध नगर की है।

यह है पूरा मामला
नोएडा के सेक्टर 36 में रहने वाले राजकुमार ने अपनी गर्भवती पत्नी रेखा को ग्रेटर नोएडा के कृष्णा लाइफ लाइन अस्पताल में 25 मई को भर्ती करवाया था। सोमवार रात करीब साढ़े 9 बजे अस्पताल में राजकुमार की पत्नी रेखा ने एक बच्चे को जन्म दिया। जन्म के कुछ देर बाद ही शिशु की तबीयत अचानक खराब होने लगी। जहां से उसे ग्रीन सिटी अस्पताल में भर्ती करवाया गया और बच्चे को वेंटिलेटर पर रखा गया। आरोप है कि थोड़ी देर बाद हालत नाजुक देख रेफर कर दिया गया। आरोप है कि अस्पताल ने वेंटिलेटर में रखे बच्चे को एंबुलेंस मुहैया नहीं करवाया। जिसके कारण बच्चे को किसी तरह सामुदायिक केंद्र ले जाया गया। जहां बाल रोग विशेषज्ञ नहीं था, इसके बाद बच्चे की सेक्टर 30 सुपर स्पेशलिस्ट बाल चिकित्सालय भेजा गया। लेकिन, अस्पताल पहुंचने से पहले ही बच्चे ने दम तोड़ दिया।

वीडियो देख हरकत में आया प्रशासन
बेटे के रास्ते में ही दम तोड़ देने के बाद मौके पर रोते हुए राजकुमार ने वीडियो बनाया, जिसमें रोते हुए बदहाल अस्पतालों की व्यवस्था की पोल खोलने के लिए वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया, जो वायरल हो रहा है। वायरल हो रहे वीडियो देखने के बाद प्रशासन में हड़कंप मच गया। खबर है कि शुरूआती जांच में पाया गया कि कृष्णा लाइफ लाइन हॉस्पिटल दोषी है। नोएडा के सीएमओ ने जांच में कहा कि हॉस्पिटल को नोटिस दिया गया है और कड़ी कार्रवाई की जा रही है।