Asianet News HindiAsianet News Hindi

अमेठी: चोरी-चोरी चल रहा था धर्म परिवर्तन का खेल! पकड़े जाने पर कहा- हमारे पास पूजा-पाठ का है लाइसेंस 

अमेठी जनपद में धर्मपरिवर्तन से जुड़ा एक बड़ा खेल सामने आया है। मामले की पड़ताल में पता चला कि वह लोग सिर्फ पूजा-पाठ करवाने के लिए यहां आए हुए थे और उनके पास इसका लाइसेंस भी है। 

amethi religious conversion by christian missionaries police investigate
Author
Amethi, First Published Aug 19, 2022, 12:51 PM IST

अमेठी: कटारी गांव में धर्म परिवर्तन को लेकर एक हैरान करने वाला मामला सामने आया। यहां चोरी-छिपे यह खेल चल रहा था। जब ग्रामीणों को इस बारे में भनक लगी तो वह खोजबीन करने पहुंचे। यह बात कुछ लोगों को नागवार गुजरी और जमकर मारपीट की घटना सामने आई। मामले की सूचना मिलते ही अमेठी पुलिस वहां पर पहुंच गई। पूछताछ में सामने आया कि ईसाई मिशनरी से जुड़े हुए लोग यहां धर्म परिवर्तन करवा रहे थे। हालांकि मिशनरी से जुड़े हुए लोगों ने इन तमाम आरोपों से इंकार कर दिया है। वहीं पुलिस इस मामले में एफआईआर दर्ज कर खोजबीन में जुट गई है। 

पूछताछ करने पर किया हमला 
यह पूरा मामला अमेठी के जामो थाना क्षेत्र अंतर्गत कटारी गांव से सामने आया। पुलिस को सूचना मिली की धर्मपरिवर्तन का खेल गांव के एक घर में चल रहा है। जब ग्रामीण इस मामले की सूचना पर वहां खोजबीन करने पहुंचे तो लोगों का टोकना इस खेल से जुड़े लोगों को नागवार गुजरा। पूछताछ का विरोध करने वाले एक युवक ने सिंपल सिंह पर हमला कर उन्हें घायल भी कर दिया। यह देखने के बाद तमाम लोग वहां पर इकट्ठा हो गए और उन्होंने धर्म परिवर्तन करवाने आए लोगों से मारपीट शुरू कर दी। 

आरोपी बोले- हम सिर्फ करवाते पूजा-पाठ
पूछताछ में सामने आया है कि 3 महिला समेत कुल 5 लोग इस दौरान वहां हुई मारपीट में घायल हो गए है। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया है। वहीं इस बीच मौके से ईसा मसीह के पवित्र ग्रंथ बाइबल समेत कई अन्य धार्मिक पुस्तकें भी वहां से बरामद की गई है। इस बीच ग्रामीणों की ओर से यह भी बताया गया कि ईसाई धर्म से जुड़े तमाम लोग यहां बीच-बीच में आते-जाते रहते हैं और भोले-भाले लोगों को अपना शिकार बनाते हैं। वहीं मामले में घायल लोगों ने बताया कि वह पड़ोसी जनपद सुल्तानपुर के हैं। वह सभी कोरी समुदाय से ताल्लुक रखते हैं। जैसे ही घायलों के परिजनों को इस बारे में जानकारी लगी तो वह भी वहां पहुंच गए। उन्होंने बताया कि वह लोग धर्म परिवर्तन नहीं करवाते हैं, वह सिर्फ ईसा मसीह की पूजा पाठ गांव-गांव जाकर करवाते हैं। मिशनरी से जुड़े लोगों ने कहा कि वह भूत-प्रेत और बाधाओं को दूर करने का काम करते हैं। 

संभल में सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रहा 'मुर्दा' पुलिस ने नहीं लिया सीरियस तो कोर्ट से लगाई गुहार

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios