Asianet News HindiAsianet News Hindi

बारात में मेहमानों की संख्या देख दुल्हन पक्ष के छूटे पसीने, इस तरह से सेलेक्शन कर बारातियों को दिया खाना

यूपी के जिले अमरोहा में बारात में मेहमानों की संख्या अनुमान से ज्यादा होने पर दुल्हन के घरवालों ने दूल्हे के पक्ष से उन्हीं लोगों को दावत कक्ष में प्रवेश करने दिया, जिसके पास आधार कार्ड था। जिसके पास आधार कार्ड नहीं था वे लोग बिना खाएं ही लौट गए।

Amroha Seeing number guests procession bride party lost sweat only these people got food and many returned hungry
Author
First Published Sep 25, 2022, 9:43 AM IST

अमरोहा: उत्तर प्रदेश के जिले अमरोहा से हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां पर बारात में खाने के समय मेहमानों की संख्या अनुमान से अधिक हो गई तो दुल्हन पक्ष के पसीने छूट गए। जिसके बाद लड़की के घरवालों ने नया तरीका निकाला और दूल्हे पक्ष से उन्हीं लोगों को खाना की अनुमति दी जिसके पास आधार कार्ड था। जिस मेहमान के पास उस समय आधार कार्ड नहीं तो वो लोग बिना दावत खाएं बिना ही वापस लौट गए। 

एक मोहल्ले में दो अलग-अलग आई थी बारात
जानकारी के अनुसार यह मामला शहर के आदमपुर थाना क्षेत्र के एक गांव के हसनपुर के एक मोहल्ले का है। गांव के इस मोहल्ले में कि 21 सितंबर को अलग-अलग दो बारात आई थी। एक बारात में खाना शुरू हुआ तो दोनों जगह बारात में आए मेहमान खाने पर टूट पड़े। इस वजह से कार्यक्रम की व्यवस्था खराब हो गई। दावत कक्ष में मेहमानों की संख्या देखते ही लड़की पक्ष के लोग परेशान हो गए और खाने को बंद कर दिया गया। उसके बाद तय किया कि जिस मेहमान के पास पहचान पत्र होगा, वहीं दावत कक्ष में जाएगा। 

असली बाराती भी आधार कार्ड व्यवस्था में गए फंस
दुल्हन पक्ष की आधार कार्ड की व्यवस्था की वजह से असली बराती भी चक्कर में पड़ गए क्योंकि सभी के पास आधार कार्ड नहीं था। जिनके पास आधार कार्ड था उन्होंने तो खाना खाया लेकिन जिनके पास नहीं था वह बिना खाए ही वापस चले गए। शादी के इस कार्यक्रम में कई बार हंगामें की भी स्थिति बनी लेकिन समझदार लोगों ने दोनों पक्षों के लोगों को समझाकर शांत करा दिया। गांव में इस शादी की हर जगह चर्चा का विषय बना हुआ है। 

उत्तर प्रदेश में अब शव रखकर प्रदर्शन करना हुआ अपराध, अंतिम संस्कार के लिए सरकार ने बनाई गाइडलाइंस

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios