Asianet News HindiAsianet News Hindi

सीमा पर आतंकियों से लोहा लेते शहीद हुआ जवान, 7 माह के बेटे के साथ पत्नी कर रही थी आने का इंतजार

देश की सीमाओं पर आतंकी गतिविधियां रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। आतंकियों के सफाए के लिए हमारे देश के वीर जवान लगातार डटे हुए हैं। मंगलवार रात जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में यूपी के जौनपुर का लाल शहीद हो गया।

Army soldier martyred while taking on terrorists at the border waiting for arrival his wife of 7 month old son kpl
Author
Jaunpur, First Published Aug 12, 2020, 4:30 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जौनपुर(Uttar Pradesh). देश की सीमाओं पर आतंकी गतिविधियां रुकने का नाम नहीं ले रही हैं। आतंकियों के सफाए के लिए हमारे देश के वीर जवान लगातार डटे हुए हैं। मंगलवार रात जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच हुई मुठभेड़ में यूपी के जौनपुर का लाल शहीद हो गया। इस मुठभेड़ में एक आतंकी भी मारा गया है। वहीं, सुरक्षाबलों और आतंकियों में मुठभेड़ जारी है।

जौनपुर जिले के जलालपुर थाना क्षेत्र के इजरी निवासी कांता यादव के पुत्र जिलाजीत यादव(25) आरआर 53 बटालियन में सिपाही के पद पर तैनात थे। वह इन दिनों जम्मू कश्मीर के पुलवामा में तैनात थे। मंगलवार की रात 2 बजे पुलवामा में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में वह शहीद हो गए। उनके एक साथी को भी गोली लगी है। इस मुठभेड़ में एक आतंकी को भी मार गिराया है। सुबह जवान की शहादत की खबर मिलते ही गांव में कोहराम मच गया। 

Army soldier martyred while taking on terrorists at the border waiting for arrival his wife of 7 month old son kpl

दो वर्ष पहले ही हुई थी शादी 
पुलवामा में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए सेना के जवान जिलाजीत यादव की शादी महज दो वर्ष पहले ही हुई थी। उनके एक सात माह का बेटा भी है। बीते दिनों वह छुट्टी पर घर आए थे तब अक्टूबर में आने की बात कहकर गए थे। यही कहकर उनकी पत्नी और घर वालों का रो-रोकर बुरा हाल है। उनकी पत्नी खबर मिलने के बाद से ही बार बार बेहोश हो जा रही है। शहीद के पिता का दो वर्ष पहले निधन हो गया था। जिलाजीत अपने पिता के इकलौते बेटे थे।

जवाबी कार्रवाई में एक आतंकी भी मारा गया 
खुफिया एजेंसियों को सूचना मिली की पुलवामा जिले के कमराज़ीपोरा में एक बाग में आतंकी छिपे हैं, सूचना मिलते ही सुरक्षाबलों ने इलाके को घेर लिया और इलाके में तलाशी अभियान चलाया। खुद को घिरा देख आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग कर दी। सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई की। जिसमें एक आतंकी मारा गया, हालांकि कार्रवाई के दौरान सेना के जवान जिलाजीत भी आतंकियों की गोली लगने से शहीद हो गए। सुरक्षाबलों ने फिलहाल इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रखा है। घटनास्थल से एक-47, ग्रेनेड के साथ ही अन्य आपत्तिजनक सामान भी बरामद हुआ है। जिसे पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios