Asianet News HindiAsianet News Hindi

पेड़ा खाने के बाद ली थी पीएम पद की शपथ, अटलजी के बारे में 15 दिलचस्प बातें

20 साल में अटलजी की 10 बार सर्जरी हो चुकी थी। उन्होंने अपनी पढ़ाई माता-पिता के साथ की। वे ऐसे सांसद थे, जो एक साथ उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश और गुजरात राज्य से निर्वाचित हुए।

Atal Bihari Vajpayee is No More: 15 Facts about his Life
Author
Lucknow, First Published Dec 25, 2019, 5:42 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (उत्तर प्रदेश) । आज भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की 95वीं जयंती मनाई जा रही है। हर कोई पूर्व प्रधानमंत्री को नमन कर उन्हें स्मरण कर रहा है। ऐसे में वर्ष 1996 का दिन भी लोग याद करते हैं, जब अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री पद की पहली बार शपथ लेने अपने दिल्ली स्थित आवास से निकलने ही वाले थे, तभी मथुरा से दो कार्यकर्ता बिहारीजी का प्रसाद (पेड़ा) लेकर पहुंचे। सुरक्षा कर्मियों ने रोक दिया। अटल जी ने दोनों को पहचान लिया और सुरक्षा कर्मियों से आने को कहा। सुरक्षा कर्मियों के मना करने के बावजूद वे प्रसाद ग्रहण करने के बाद ही पीएम पद की शपथ लेने रवाना हुए। इसी तरह प्रस्तुत हैं अटल जी से जुड़ी 15 और ऐसी दिलचस्प बातें।

-20 साल में अटलजी की 10 बार सर्जरी हो चुकी थी।
- अटलजी अपनी पढ़ाई माता-पिता के साथ की।
-अटलजी को बचपन से ही खाने का शौक था। जिस शहर में पहली बार जाते, वहां की सबसे अच्छी डिश जरूर खाते।
- अटलजी ऐसे सांसद थे, जो एक साथ उत्तर प्रदेश, दिल्ली, मध्य प्रदेश और गुजरात राज्य से निर्वाचित हुए।
-अटलजी के पास पत्रकारिता की भी डिग्री थी। पांचजन्य पत्रिका में संपादक थे। इसके अलावा कई समाचार-पत्रों के संपादन के लिए भी काम किए।
- अटल जी लोक सभा कैंटीन का खाना नहीं खाते थे। उनके लिए घर से बना खाना आता था। 
- लंच करने के बाद वहीं कुछ देर के लिए आराम करते थे।
- अटलजी बेहद शांत स्वभाव के थे। उन्हें गुस्से में शायद ही किसी ने देखा है। 
-अटल जी जहां जाते वहां से अच्छी-अच्छी किताबें लेकर आते थे।
- अटलजी ज्योतिष के भी अच्छे जानकार थे। दूर-दूर से लोग उन्हें अपनी जन्मपत्री दिखाने के लिए आते थे।
- अटलजी देश के ऐसे पहले नेता हैं, जिन्होंने 1977 में सयुंक्त राष्ट्र की सभा में हिंदी भाषण दिया था। 
- अटलजी भारत के तीन बार प्रधानमंत्री रह चुके हैं। नौ बार लोकसभा के लिए चुने गए। वे सबसे लंबे समय तक सांसद रहे भी रहे और जवाहरलाल नेहरू व इंदिरा गांधी के बाद सबसे लंबे समय तक गैर कांग्रेसी प्रधानमंत्री भी।
- अटलजी का जन्म ग्वालियर में हुआ था, लेकिन उनका पैतृक गांव बटेश्वर आगरा के पास है।
- बटेश्वर गांव कभी डाकुओं की वजह से कुख्यात था। अब शिव मंदिरों के कारण फेमस है।
- यमुना किनारे बसे इस गांव में आज भी अटलजी के दोस्त और फैमिली मेंबर्स रहते हैं।

(फाइल फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios