Asianet News HindiAsianet News Hindi

आतंकी हमले के इनपुट के बाद सतर्क हुई अयोध्या पुलिस, रामनगरी की सुरक्षा को लेकर किए जा रहे खास इंतजाम

अयोध्या में आतंकी हमले के इंटेलीजेंस इनपुट के बाद से सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ा दी गई है। अयोध्या के सभी प्रवेश मार्गों पर कड़ी निगरानी की जा रही है। वहां से गुजरने वाले हर संदिग्ध की तलाशी लेने के साथ ही उनका पहचान पत्र चेक किया जा रहा है

ayodhya police on alert after input of terrorist attack kpl
Author
Ayodhya, First Published Dec 27, 2019, 1:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अयोध्या(Uttar Pradesh). अयोध्या में आतंकी हमले के इंटेलीजेंस इनपुट के बाद से सुरक्षा व्यवस्था और बढ़ा दी गई है। अयोध्या के सभी प्रवेश मार्गों पर कड़ी निगरानी की जा रही है। वहां से गुजरने वाले हर संदिग्ध की तलाशी लेने के साथ ही उनका पहचान पत्र चेक किया जा रहा है। ऐसे में रामनगरी की सुरक्षा को लेकर अयोध्या पुलिस खासी मुस्तैद है। सूत्रों की माने तो अयोध्या में आतंकी संगठन जैश द्वारा हमले की साजिश रचने के इनपुट ख़ुफ़िया तंत्र को मिले हैं। 

बता दें की बीते माह देश के सबसे बड़े पुराने मुकदमे राम जन्मभूमि  विवाद में  सुप्रीम कोर्ट का फैसला आया था। जिसके बाद किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए अयोध्या की सुरक्षा चाक-चौबंद कर दी गई थी। लेकिन सूत्रों के अनुसार अब अयोध्या में आतंकी हमले का इनपुट खुफिया एजेंसियों को मिला है। जिसके मद्देनजर राम की नगरी की सुरक्षा अभेद्य कर दी गई है। 

संदिग्ध व्यक्ति या वस्तु दिखने पर तुरंत देने सूचना देने की अपील 
अयोध्या की सुरक्षा पहले से ही अलर्ट पर है। लेकिन अयोध्या मामले के फैसले के बाद सुरक्षा में इजाफा किया गया था। उसके बाद अब आतंकी हमले के इनपुट के बाद सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। रामजन्मभूमि की ओर जाने वाले मार्गों सहित पूरे शहर में 35 स्थानों पर कैमरे भी लगाए जा चुके हैं। सरयू घाट, हनुमानगढ़ी, राम की पैड़ी, कनक भवन, मंदिर निर्माण कार्यशाला सहित कई महत्वपूर्ण स्थल हैं जहां पर पर्याप्त मात्रा में फोर्स लगाई गई है। लोगों से किसी भी संदिग्ध वस्तु की तुरंत सूचना पुलिस को देने की अपील की गई है। 

जुमे की नमाज को देखते हुए प्रशासन और एलर्ट 
शुक्रवार को जुमे की नमाज के मद्देनजर जिला प्रशासन और अधिक एलर्ट हो गया है। हांलाकि CAA के विरोध में जब यूपी के कई जिलों में हिसंक प्रदर्शन हो रहे थे उस समय भी अयोध्या ने सद्भाव व भाईचारे का संदेश दिया था। लेकिन पुलिस किसी भी तरह की कोताही नहीं करना चाहती है। इसलिए एहतियातन सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। 

पहले भी हो चुकी है आतंकी हमले की साजिश 
इसके पहले भी रामनगरी आतंकियों के निशाने पर रही है। 5 जुलाई 2005 को आत्मघाती आतंकियों का दस्ता रामकोट स्थित अधिग्रहीत परिसर की सीमा तक पहुँच गया था। आतंकियों ने परिसर में 26 ग्रेनेड फेंके थे,पर उनमे से एक भी नहीं फटा। जिसके बाद अर्ध सैनिक बलों ने आतंकियों को गोलियों से छलनी कर दिया था। 

अयोध्या में पहले से ही कड़ी सुरक्षा व्यवस्था: पुलिस 
इस बारे में डीएसपी अयोध्या अमर सिंह ने बताया कि अयोध्या में सुरक्षा पहले से ही कड़ी है। किसी आतंकी हमले के इनपुट मिलने के संबंध में जानकारी नहीं है। लेकिन सुरक्षा व्यवस्था में कोई चूक न हो इसका पूरा ध्यान रखा जा रहा है। सभी प्रमुख रास्तों पर पुलिस की पिकेट तैनात है। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios