अयोध्या में रामपथ चौड़ीकरण का विरोध कर रहे व्यापारी, CM योगी के पहुंचने पर नेताओं को किया घर पर नजरबंद

| Nov 27 2022, 02:18 PM IST

अयोध्या में रामपथ चौड़ीकरण का विरोध कर रहे व्यापारी, CM योगी के पहुंचने पर नेताओं को किया घर पर नजरबंद

सार

यूपी के जिले अयोध्या में रामपथ चौड़ीकरण का विरोध व्यापारी कर रहे है। इस वजह से 27 नवंबर को उनको घर पर नजरबंद किया गया है क्योंकि सीएम योगी आदित्यनाथ करीब छह घंटे तक शहर में रूकेंगे। व्यापारियों ने अनिश्चित समय के लिए दुकानें न खोलने का भी ऐलान कर दिया है। 

अयोध्या: उत्तर प्रदेश की रामनगरी अयोध्या में रामपथ चौड़ीकरण को लेकर शनिवार को दीन दुकानें बुलडोजर से ढहा दी गई थी। इसको लेकर व्यापारियों ने समय भी मांगा लेकिन प्रशासन ने साफ मना कर दिया। इससे नाराज व्यापारियों ने अनिश्चित समय तक दुकानें बंद रखने का भी ऐलान कर दिया है और इसी वजह से रविवार को दुकानें बंद कर दी। दूसरी ओर यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रविवार को छह घंटे तक शहर में रूकेंगे तो प्रशासन ने व्यापारी नेता को घर पर ही नजर बंद कर दिया है।

प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करेंगे सीएम योगी
सीएम योगी ने रामनगरी में पहुंचकर सबसे पहले हनुमानगढ़ी और रामलला के दर्शन किए। उसके बाद सीएम ने टेढ़ी बाजार में निर्माणाधीन मल्टी लेवल पार्किंग का निरीक्षण किया। इसके साथ ही विकास कार्य और विजन डॉक्यूमेंट को लेकर समीक्षा की। फिर मुख्यमंत्री योगी जीआईसी ग्राउंड में प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन को संबोधित करेंगे। मुख्यमंत्री के स्वागत में लोक निर्माण मंत्री जितिन प्रसाद के साथ ही जनप्रतिनिधि मौजूद रहे। दरअसल शहर से सहादत गंज तक 13 किलोमीटर तक लंबा रामपथ है और इसके चौड़ीकरण के लिए दुकानें हटाई जा रही हैं। नयाघाट पर प्रशासन ने शनिवार को बुलडोजर लेकर पहुंचा और टीम ने राम पैड़ी गेट से तोड़फाड़ शुरू कर तीन दुकानों को ढहा दिया।

Subscribe to get breaking news alerts

राम विवाह महोत्सव का चल रहा है मुख्य पर्व
प्रशासन द्वारा दुकानें ढहा देने के बाद व्यापारियों ने नयाघाट पर इकट्ठा होकर प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और बिड़ला धर्मशाला तक सभी दुकानों को बंद करा दिया। इतना ही नहीं शनिवार को देर शाम पांच राधा बृजराज मंदिर बाबू बाजार अयोध्या में व्यापारियों ने बैठक की। इसके बाद 27 नवंबर से दुकानें बंद रखने की सहमति आपस में बनी और फिर सभी व्यापारियों ने अपनी दुकानें नहीं खोली। 25 नवंबर से राम विवाह महोत्सव चल रहा है। 28 नवंबर को महोत्सव का मुख्य पर्व है और इसमें लाखों की संख्या में भक्त पूरे देश से शामिल होंगे। प्रशासन के द्वारा दुकाने ढहा देने के बाद कुछ व्यापारी शनिवार रात अपनी दुकानें खाली करते रहे।