Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना से जंग में सीएम योगी का बड़ा ऐलान, प्रदेश में पान मसाला के निर्माण व बिक्री पर रोक

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से 21 दिन के लिए 15 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन घोषित किया गया है। जिसके बाद उत्तर प्रदेश में भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए गए है। कोरोना के खिलाफ जारी इस लड़ाई में सूबे की योगी सरकार ने पान,पान मसाला व गुटखे पर के निर्माण व बिक्रीपर रोक लगा दिया है

ban on the manufacture and sale of pan masala in the up kpl
Author
Lucknow, First Published Mar 25, 2020, 6:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ(Uttar Pradesh ). कोरोना वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए जद्दोजहद कर रही यूपी की योगी सरकार कई कड़े फैसले ले चुकी है। अब यूपी के CM योगी आदित्यानाथ ने एक बड़ा फैसला लेते हुए सूबे में पान, पान-मसाला और गुटखा के निर्माण और बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया है। किसी भी अग्रिम आदेश तक ये रोक जारी रहेगी। 

कोरोना से जारी जंग में पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की ओर से 21 दिन के लिए 15 अप्रैल तक पूरे देश में लॉकडाउन घोषित किया गया है। जिसके बाद उत्तर प्रदेश में भी लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवाने के निर्देश दिए गए है। कोरोना के खिलाफ जारी इस लड़ाई में सूबे की योगी सरकार ने पान,पान मसाला व गुटखे पर के निर्माण व बिक्रीपर रोक लगा दिया है। 

थूकने से भी फैलता है वायरस 
उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव गृह व सूचना अवनीश कुमार अवस्थी ने मंगलवार को कहा था कि कोरोना वायरस का संक्रमण लार व थूक से भी होता है। इस वजह से सरकार पान मसाला और गुटखा को पूरी तरह से प्रतिबंधित करने पर विचार कर रही है। उन्होंने कहा था बाजारों, सड़कों, दफ्तरों व घरों तक में लोग कोनों-कोनों में पान, पान-मसाला और गुटखा खाकर थूकते हैं। थूकने से गंदगी व संक्रमण फैलता है। उन्होंने कहा था केवल महामारी के समय ही नहीं, बल्कि सामान्य समय में भी जगह-जगह थूककर संक्रमण फैलाने की समस्या का स्थायी निदान तलाशने पर विचार चल रहा है। ऐसे में ये कयास लगाए जा रहे थे कि अगले दो दिन के भीतर इस पर बड़ा फैसला लिया जा सकता है। अब सीएम योगी ने इस पर बैन लगा दिया है। 

यूपी के इन शहरों में होता है बड़े पैमाने पर व्यवसाय 
यूपी के नोयडा और कानपुर में कई गुटखे व पान मसाला की कंपनियां हैं। अब सरकार द्वारा इसके निर्माण पर बैन लगाने के बजाय इनका व्यवसाय ठप हो जाएगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios