Asianet News HindiAsianet News Hindi

सामूहिक रेप की शिकार दलित महिला को मुकदमा वापस लेने की धमकी, खेत में काम करने के बहाने दिया था वारदात को अंजाम

यूपी के जिले भदोही में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार दलित महिला को मुकदमा वापस नहीं लेने पर ब्लॉक प्रमुख के घरवालों के द्वारा कथित तौर पर जान से मारने की धमकी दी गई है। पीड़िता की शिकायत के बाद पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है। 

Bhadohi Dalit woman victim gang rape threatened withdraw case given crime on pretext of working field
Author
First Published Nov 21, 2022, 3:30 PM IST

भदोही: उत्तर प्रदेश के जिले भदोही में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार हुई एक दलित महिला को मुकदमा वापस नहीं लेने पर धमकी दिए जाने का मामला सामने आया है। पीड़िता का आरोप है कि ब्लॉक प्रमुख के घरवालों के द्वारा कथित तौर पर जातिसूचक गालियों के साथ मामला वापस लेने की धमकी दी जा रही है। पुलिस ने पीड़िता की शिकायत के आधार पर तहरीर दर्ज कर विधिवक कार्रवाई शुरू कर दी है। पुलिस का कहना है कि बलात्कार के आरोपी ब्लॉक प्रमुख और पूर्व विधायक विजय मिश्रा के भतीजे मनीष मिश्रा के परिवार के सदस्यों ने रविवार को महिला को कथित तौर पर धमकी दी।

साल 2019 में पूर्व विधायक के भतीजे के खिलाफ दर्ज हुआ था मुकदमा
जानकारी के अनुसार प्रयागराज जिले के हंडिया थाना क्षेत्र की रहने वाली महिला ने ब्लॉक प्रमुख और पूर्व बाहुबली विधायक विजय मिश्रा के भतीजे और उसके तीन दोस्तों के खिलाफ साल 2019 में भदोही के ऊंज थाना में सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस के अनुसार महिला का आरोप है कि उसे खेत में काम करने के बहाने से बुलाकर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया था। इतना ही नहीं इसी मामले को लेकर पीड़िता पैरवी के लिए भदोही आती है।

वकील से मिलने जाने के दौरान पत्नी, बेटे, साले ने रास्ता रोकर दी धमकी
गोपीगंज थाने के प्रभारी निरीक्षक सदानंद सिंह का कहना है कि सामूहिक दुष्कर्म की शिकार महिला रविवार को अपने वकील से मिलने भदोही पहुंची थी। जब वह ज्ञानपुर की तरफ जा रही थी, तभी गोपीगंज थाना के पास चौराहे पर मनीष मिश्रा के बेटे यश मिश्रा, साले संतोष तिवारी, पत्नी बिंदु मिश्रा और एक अन्य व्यक्त राकेश भारती ने उसे कथित तौर पर रोक लिया। उसके बाद चारों ने मुकदमे को वापस नहीं लेने पर जातिसूचक गालियां देते हुए जान से मार डालने की धमकी दी। उन्होंने आगे बताया कि पीड़िता का आरोप है कि साल 2019 में सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कराने के बाद यह चारों लोग हंडिया स्थित उसके आवास पर कई बार आकर पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी दे चुके हैं। 

पूर्व विधायक के आरोपी भतीजे के खिलाफ पहले से ही दर्ज है 21 मुकदमे
सदानंद सिंह आगे कहते है कि इस मामले में सामूहिक दुष्कर्म की शिकार महिली की तहरीर के आधार पर बिंदु मिश्रा, संतोष तिवारी, यश मिश्रा और राकेश भारती के खिलाफ रविवार की शाम को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा-504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमानित करना) और 506 (आपराधिक धमकी) के अलावा अनुसूचित जाति-जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत मामला दर्ज कर विधिक कार्रवाई की जा रही है। दूसरी ओर पुलिस अधीक्षक डॉ अनिल कुमार ने बताया कि पूर्व विधायक विजय मिश्रा के सगे भतीजे मनीष मिश्रा पर पहले से ही लूट, हत्या, बलात्कार, धोखाधड़ी, राष्ट्रीय सुरक्षा कानून जैसे गंभीर अपराधों को लेकर कुल 21 मामले दर्ज हैं। इस दौरान वह वाराणसी जेल में बंद है। 

कागजों में मर चुका है लखीमपुर का ये परिवार, 5 भाई समेत खुद के जिंदा होने का सबूत दे रहा बुजुर्ग

NIA के डिप्टी SP तंजील अहमद व पत्नी के हत्यारे मुनीर की मौत, आरोपी ब्लड प्रेशर समेत कई बिमारियों से रहा था जूझ

बरेली: पत्नी के लिए छोटे ने बड़े भाई का किया मर्डर, 5 माह पहले जेल से छूटकर घर आए युवक को इस बात का लगा था पता

पति को फंसाने के लिए 5 माह के भतीजे की हत्यारी बन गई बुआ, जिंदा ईशन नदी में फेंकने के बाद फैलाई थी ये अफवाह

FB पर हुई दोस्ती के बाद बिहार से कानपुर के होटल तक पहुंची युवती, कमरे की लाइट जलाते ही उड़े प्रेमिका के होश

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios