लखनऊ(Uttar Pradesh). महिला फरियादियों के सामने गंदी व अश्लील हरकत करने वाले देवरिया के भटनी थाने के पूर्व थानाध्यक्ष भीष्मपाल सिंह यादव को गिरफ्तार कर लिया गया है। देवरिया के एसपी ने उसकी गिरफ्तारी के लिए 25 हजार का ईनाम घोषित किया था। इसके अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सख्त एक्शन लेते हुए आरोपी दरोगा को पुलिस सेवा से बर्खास्त भी कर दिया है। युवती की तहरीर पर मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही इंस्पेक्टर भीष्मपाल सिंह यादव फरार चल रहा था। उसकी गिरफ्तारी के लिए 25 हजार का इनाम भी घोषित किया गया था. बुधवार को एसओजी टीम द्वारा बस्ती जनपद के हरैया के पास से अभियुक्त भीष्मपाल सिंह को गिरफ्तार किया गया। 

बता दें कि दो दिन पूर्व देवरिया जिले के भटनी थाना प्रभारी भीष्मपाल सिंह यादव का महिलाओं के सामने थाने में मस्टरबेट करने का वीडियो वायरल हुआ था। वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस महकमे में हडकंप मच गया था। जिसके बाद पुलिस अधीक्षक ने इंस्पेक्टर को सस्पेंड कर दिया था। साथ ही युवती की तहरीर पर थाना भटनी में आईपीसी की धारा 354(क)/509/166 मुकदमा पंजीकृत किया गया था। मुकदमा दर्ज होने के बाद से ही निलम्बित इंस्पेक्टर भीष्मपाल सिंह के फरार हो गया था। जिसके बाद उसके ऊपर 25,000 रुपये का ईनाम घोषित किया गया था। जिसे बाद में बस्ती से गिरफ्तार किया गया।

सीएम योगी ने लिया मामले को संज्ञान 
इंस्पेक्टर के इस कृत्य का वीडियो वायरल होने के बाद सीएम योगी ने इस पर कड़ा रुख अख्तियार किया है। उन्होंने तत्काल प्रभाव से आरोपी इंस्पेक्टर को पुलिस सेवा से बर्खास्त करने का आदेश दिया था। जिसके बाद पुलिस उपमहानिरीक्षक, गोरखपुर परिक्षेत्र द्वारा तत्काल प्रभाव से इंस्पेक्टर भीष्मपाल सिंह यादव को पुलिस सेवा से बर्खास्‍त कर दिया गया है।

ये था पूरा मामला 
पीड़िता युवती की तहरीर के मुताबिक, वह 22 जून को दोपहर में अपनी मां के साथ भूमि विवाद के एक मामले में थाने गई थी। उस वक्त प्रभारी निरीक्षक भटनी भीष्मपाल सिंह यादव अपने कार्यालय में बैठे थे। वह और उसकी मां भूमि विवाद के बारे में प्रभारी निरीक्षक को बता रही थीं। जिसके बाद भीष्मपाल सिंह यादव के द्वारा बैठने के लिए कहने पर दोनों वहां रखी कुर्सी पर बैठ गईं। युवती का आरोप है कि भूमि विवाद के संबंध में बात करते-करते प्रभारी निरीक्षक अश्लील हरकत करने लगे, इस दौरान युवती ने इसका वीडियो बना लिया और अपने परिवार के अन्य सदस्यों को दिखाया। जिसके बाद पड़ोस के रहने वाले एक व्यक्ति ने वीडियो को फारवर्ड कर दिया और वह सोशल मीडिया पर वायरल हो गया।