Asianet News HindiAsianet News Hindi

RTI की रिपोर्ट में हुआ बड़ा खुलासा, नाम बदलने में अखिलेश निकले CM योगी से आगे

योगी आदित्यानाथ ने अपने कार्यकाल में 2 जिलों का नाम बदला तो अखिलेश यादव ने 2012 से 2015 के बीच 9 जिलों के नाम बदले थे। इनमें से 8 जिलों के नाम तो उन्होंने 2012 में एक ही दिन में बदल डाले 

Big disclosure in RTI report Akhilesh came out ahead of CM Yogi in changing name
Author
Lucknow, First Published Jan 4, 2022, 7:02 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ: अखिलेश अक्सर ही अपने भाषणों में योगी को नाम बदलने के लिए टार्गेट करते नजर आते हैं। एक मीडिया संस्थान द्वारा मांगी गई आरटीआई (Righr To Information) की रिपोर्ट से ये खुलासा हुआ है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Aditiyanath) से ज्यादा नाम अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने अपने शासनकाल में बदले। योगी आदित्यानाथ ने अपने कार्यकाल में 2 जिलों का नाम बदला तो अखिलेश यादव ने 2012 से 2015 के बीच 9 जिलों के नाम बदले थे। इनमें से 8 जिलों के नाम तो उन्होंने 2012 में एक ही दिन में बदल डाले थे।

अखिलेश ने बदले इन जिलों के नाम
मीडिया संस्था की ओर से दायर आरटीआई आवेदन के जवाब में बताया गया है कि सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ने जुलाई 2012 को प्रबुद्ध नगर का नाम बदलकर शामली कर दिया था। यहीं नहीं इसके अलावा भीम नगर को संभल, पंचशील नगर को हापुर, महामाया नगर को हाथरस, ज्योतिबा फुले नगर को अमरोह, कांशीराम नगर को कासगंज छत्रपति साहूजी महराज नगर को अमेठी, रामाबाई नगर को कानपुर देहात को नाम दिया था। अखिलेश सयहीं नहीं रूके इसके बाद 15 जनवरी 2015 को संत रविदास नगर का नाम बदलकर भदोही कर दिया गया था।

मुख्यमंत्री ने बदले इन दो जिलों के नाम
सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने कार्यकाल में उत्तरप्रदेश के दो जिलों के नाम बदले हैं। योगी सरकार ने 18 अक्टूबर 2018 को इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया तो 23 नवंबर 2018 को फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया।

विपक्ष रहा है योगी पर हमलावर
गौरबतल है अखिलेश से पहले मायावती (Mayawati)  भी इस लिस्ट में शामिल रह चुकी हैं। आपको बता दें कि अखिलेश से पहले मायावती ने अमेठी का नाम बदलकर गौरीगंज कर दिया था। सीएम योगी पर नाम बदलने को लेकर विपक्ष हमेशा ही बयानबाजी करती रही है। इन जिलों का नाम बदले जाने को लेकर विपक्ष योगी सरकार को घेरती रही है। विपक्ष आरोप लगाता रहा है कि इस्लामिक पहचान की वजह से योगी आदित्यनाथ ने फैजाबाद और इलाहाबाद का नाम बदला है। अखिलेश बार-बार कहते रहे हैं कि योगी सरकार ने अपने कार्यकाल में सिर्फ स्थानों के नाम बदले और कुछ नहीं किया।

CM योगी दौरा करने में नंबर वन, 156 दिन में सौ से अधिक बार जिलों में पहुंचे

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios