Asianet News Hindi

घरवालों की मर्जी के खिलाफ दलित लड़के से की थी शादी, पहली दीपावली पर भावुक हुईं बीजेपी MLA की बेटी साक्षी मिश्रा

परिवार के खिलाफ जाकर शादी करने वाली बीजेपी विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा दीपावली पर मां बाप को याद कर भावुक हो गई। उसने कहा, शादी के बाद ये मेरी पहली दीपावली है। मम्मी पापा के बिना भी ये मेरी पहली दीपावली है। आज मैं उनको बहुत मिस कर रही हूं। आज के दिन मैं अपने घर को जाती थी, रंगोली बनाती थी। मैं भगवान से यही प्रार्थना करती हूं कि अगले साल दीपावली मैं अपने परिवार के साथ मनाऊं।

bjp mla daughter sakshi mishra missed her father and mother on diwali
Author
Bareilly, First Published Oct 27, 2019, 1:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बरेली (Uttar Pradesh). परिवार के खिलाफ जाकर शादी करने वाली बीजेपी विधायक की बेटी साक्षी मिश्रा दीपावली पर मां बाप को याद कर भावुक हो गई। उसने कहा, शादी के बाद ये मेरी पहली दीपावली है। मम्मी पापा के बिना भी ये मेरी पहली दीपावली है। आज मैं उनको बहुत मिस कर रही हूं। आज के दिन मैं अपने घर को जाती थी, रंगोली बनाती थी। मैं भगवान से यही प्रार्थना करती हूं कि अगले साल दीपावली मैं अपने परिवार के साथ मनाऊं। तब तक शायद सब ठीक भी हो जाए।   

क्या है पूरा मामला
यूपी के बरेली जिले की बिथरी चैनपुर सीट से बीजेपी विधायक राजेश मिश्रा की बेटी साक्षी मिश्रा ने बीते 3 जुलाई को अपने परिवारवालों की मर्जी के खिलाफ जाकर अजितेश नाम के शख्स से लव मैरिज कर ली थी। जिसके बाद 11 जुलाई को साक्षी ने एक और वीडियो जारी कर अपने पिता राजेश मिश्रा, भाई विक्की भरतौल और पिता के करीबी राजीव राणा से जान का खतरा बताया था। ये वीडियो काफी वायरल हुआ था। 

बेटी के जाने के बाद विधाय​क ने अनाथ को लिया गोद
हाल ही साक्षी के पिता विधायक राजेश मिश्रा उर्फ पप्पू भरतौल ने एक नवजात बच्ची को गोद लिया है। श्मशान भूमि में खुदाई के दौरान जमीन के अंदर मटके में एक बच्ची मिली थी। किसी ने बच्ची को मटके में बंद कर वहां दफन कर दिया था। बच्‍ची को इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां से राजेश ने बच्ची के पालन-पोषण का जिम्मा उठाया। यही नहीं, उन्होंने नवजात का नाम सीता रखा है, क्योंकि वो जमीन के नीचे से मिली थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios