Asianet News HindiAsianet News Hindi

बीजेपी MLA का गनर गिरफ्तार, 9 साल की बच्ची से किया था रेप, चुप रहने की दी थी धमकी

एसपी का कहना है कि आजमगढ़ पुलिस द्वारा 3 मई को एफआईआर के बाबत जानकारी दी गई थी, जिसके बाद आरोपी को सस्पेंड करते हुए पुलिस लाइन में अटैच कर दिया गया था, उसी दिन रात में आरोपी की गिरफ्तारी करवाते हुए आजमगढ़ पुलिस को सौंप दिया गया। आरोप लगाने वाला परिवार सिपाही का पड़ोसी बताया जा रहा है, जिससे उसका जमीनी विवाद भी चल रहा है।

BJP MLA K Gunner did dirty work with 9-year-old girl, threatens to remain silent, now arrested asa
Author
Siddharthnagar, First Published May 8, 2020, 4:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

सिद्धार्थनगर (Uttar Pradesh) । सदर विधानसभा क्षेत्र से बीजेपी विधायक श्यामधनी राही के गनर प्रवीण सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। आरोप है कि विधायक के गनर ने आजमगढ़ में एक 9 साल की बच्ची से दुष्कर्म किया था। इतना ही नहीं विधयाक का गनर होने का रौब दिखाते हुए पीड़ित परिवार को मुंह न खोलने की धमकी दी थी। वहीं, मामला संज्ञान में आने के बाद एसपी विजय ढुल ने आरोपी सिपाही को सस्पेंड भी कर दिया।

यह है पूरा मामला
दो मई को आजमगढ़ जिले के एक गांव निवासी युवक ने रौनापार थाने में तहरीर दी थी। आरोप लगाया था कि 28 अप्रैल को उसकी 9 साल की बेटी के साथ बीजेपी विधायक श्यामधनी राही के गनर प्रवीण सिंह ने दुष्कर्म किया। पुलिस ने तहरीर के आधार पर केस दर्ज कर आरोपी की तलाश में जुट गई थी। वहीं, एफआईआर दर्ज होने की सूचना मिलने के बाद से ही आरोपी फरार था। जिसे 5 मई को रौनापार पुलिस ने सिद्धार्थनगर से आरोपी सिपाही को गिरफ्तार कर लिया था। पूछताछ के बाद उसका चालान न्यायालय भेजा, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।  

चुप रहने की दी थी धमकी
पिता का आरोप था कि आरोपी सिपाही ने 28 अप्रैल को उसकी 9 वर्षीय बच्ची के साथ दुष्कर्म किया था। इसके बाद आरोपी ने पुलिस में होने और विधायक का गनर होने का रौब दिखाते हुए मुंह न खोलने की धमकी भी दी थी। इस वजह से परिवार डर गया, लेकिन बाद में हिम्मत जुटाकर मुकदमा दर्ज कराया। 

एसपी ने बताई ये कहानी
पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी के बाद विधायक श्यामधनी राही को दूसरा गनर मुहैया करवाया गया है। एसपी विजय ढुल ने आरोपी सिपाही को सस्पेंड कर दिया है। एसपी का कहना है कि आजमगढ़ पुलिस द्वारा 3 मई को एफआईआर के बाबत जानकारी दी गई थी, जिसके बाद आरोपी को सस्पेंड करते हुए पुलिस लाइन में अटैच कर दिया गया था, उसी दिन रात में आरोपी की गिरफ्तारी करवाते हुए आजमगढ़ पुलिस को सौंप दिया गया। आरोप लगाने वाला परिवार सिपाही का पड़ोसी बताया जा रहा है, जिससे उसका जमीनी विवाद भी चल रहा है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios