Asianet News Hindi

10वीं के छात्रों ने कबाड़ से बनाया हार्वेस्टर मशीन का मॉडल

दसवीं में पढ़ने वाले छात्रों ने बनाया बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट से मॉडल। पिता की मेहनत से मिली प्रेरणा। 

 

 

 

 

boys make harvester model from best out of waste
Author
Kaushambi, First Published Jul 24, 2019, 6:18 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कौशाम्बी: एक निजी कालेज में दसवीं की पढ़ाई करने वाले छात्र पंकज और गौसुल अजीम ने मिलकर हार्वेस्टर मशीन का मॉडल तैयार किया है। यह हार्वेस्टर मशीन किसान के खेतों में 3 तरह के काम आसानी से कर सकती है। खेतों में खड़ी फसल की कटाई, जोताई व बड़ी-बड़ी घास को आसानी से निकाल सकती है। मशीन का मॉडल तैयार करने वाले बच्चों ने बताया कि इस हार्वेस्टर मशीन को सोलर एनर्जी  बैटरी से चलाया जा सकता है। बच्चों के इस मॉडल को जिला स्तर की विज्ञान प्रदर्शनी के पहला स्थान भी मिला है। मॉडल तैयार करने वाले बच्चों का कहना है कि उन्होंने यह मॉडल अपने किसान पिता को खेतो में मेहनत करते हुए देखकर तैयार किया है ताकि उनके इस मॉडल को मशीन का रूप देकर खेत में लगने वाली मेहनत को कम किया जा सके और खर्च भी कम से कम आए। मॉडल को तैयार करने में उनकी मदद उनके साइंस टीचर दिलीप कुमार ने मदद की है |

कबाड़ से बनायी मशीन 

स्टूडेंट गौसुल अजीम और पंकज कुमार ने कुछ नया करने को सोचा था  जिसके कारण दोनों ने मिलकर फसल तैयार करने में लगने वाले मेहनत को कम से कम करने की कोशिस में यह मॉडल तैयार किया है | इस मॉडल में उन्होंने घर में सभी  बेकार पड़ी वस्तुओं को लेकर बनाया है | मॉडल में दफ्ती, बिजली के तार, विक्स की डिबिया, ब्लेड, स्विच, बोर्ड और बैटरी का प्रयोग कर तैयार किया है | मॉडल को तैयार करने में बच्चों को 24 घंटे का समय लगा है | इस एक मशीन से किसान अपने खेतों की बड़ी घास, फसल की कटाई व खेत की जोताई कर सकता है | मॉडल को तैयार करने में उनकी मदद उनके साइंस टीचर दिलीप कुमार ने मदद की है |      

कालेज के प्रिंसिपल आशीष कुमार के मुताबिक उनके कालेज के पंकज कुमार और गौसुल अजीम दसवीं के बड़े ही होनहार बच्चे है | कई प्रतियोगिताओ में अपने कार्यक्रम प्रस्तुत करते रहे है | इनका मॉडल जिले की साइंस प्रतियोगिता में पहले स्थान पर रहा है | इन्होंने जो मॉडल तैयार किया है वह मल्टी-पर्पज कृषि यंत्र बनाया है | सबसे खास बात यह है कि यह यंत्र मशीन की शक्ल में आने पर प्रदूषण नहीं फैलाएगा | 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios