Asianet News Hindi

कॉल डिटेल खोल सकता है हिंदूवादी नेता की हत्या का राज, अवैध संबंध की ओर बढ़ी जांच, करीबी महिला पर शक

एक काफी करीबी के मोबाइल पर वारदात के बाद तत्काल सूचना दी गई। इसकी पुष्टि पुलिस कर रही है, किंतु उसने सूचना मिलने की बात से इनकार भी किया। साथ ही करीब 20 मिनट बाद अपने मोबाइल के जरिए रणजीत बच्चन के रिश्तेदारों को वारदात के बारे में जानकारी देनी शुरू कर दी।
 

Call details can reveal the secret of killing a Hinduist leader ranjit  ASA
Author
Lucknow, First Published Feb 5, 2020, 2:14 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (uttar pradesh) । दो जनवरी को मॉनिग वॉक के लिए निकले अंतराष्ट्रीय हिंदू महासभा के अध्यक्ष रणजीत बच्चन की हुई हत्या के मामले में पुलिस के हाथ फिलहाल अभी तक खाली हैं, लेकिन अब पुलिस की तफ्तीश अवैध संबंधों व रुपये के लेनदेन की ओर बढ़ने लगी है। मोबाइल के कॉल डिटेल से कई तथ्य सामने आए हैं। वहीं, रणजीत बच्चन की पत्नी कालिंदी शर्मा से लंबी पूछताछ की गई। हालांकि पुलिस ने इसे सिर्फ रूटीन पूछताछ कहा है, लेकिन इस बात से आश्वस्त किया है कि जल्द ही वारदात का खुलासा हो जाएगा। बता दें कि पुलिस ने शूटर की संदिग्ध तस्वीर सीसीटीवी कैमरे से निकाल लिया है और उसपर 50 हजार का ईनाम घोषित किया है।

17 मोबाइल नबंरों पर पुलिस की नजर
पुलिस के मुताबिक हत्याकांड में 89 लोगों के मोबाइल की कॉल डिटेल निकाली गई। इसमें 17 लोगों के मोबाइल को पुलिस ने डायवर्जन पर ले रखा है। मोबाइल के कॉल डिटेल व डायवर्जन से कई तथ्य सामने आए हैं। एक काफी करीबी के मोबाइल पर वारदात के बाद तत्काल सूचना दी गई। इसकी पुष्टि पुलिस कर रही है, किंतु उसने सूचना मिलने की बात से इनकार भी किया। साथ ही करीब 20 मिनट बाद अपने मोबाइल के जरिए रणजीत बच्चन के रिश्तेदारों को वारदात के बारे में जानकारी देनी शुरू कर दी।

एसटीएफ की भी लगी एक टीम
इस हाई प्रोफाइल हत्याकांड के खुलासे के लिए राजधानी की 8 टीमों के अलावा गोरखपुर क्राइम ब्रांच सीओ प्रवीण सिंह के नेतृत्व में टीम लगी है। वहीं एसटीएफ की एक टीम भी लगाई गई है। सोमवार देर रात को गोरखपुर क्राइम ब्रांच की टीम ने तीन संदिग्ध लोगों को उठाया है। उनसे पूछताछ के बाद लखनऊ पुलिस को सुपुर्द कर दिया।

सोशल मीडिया पर भी नजर
पुलिस ने रणजीत बच्चन के मोबाइल से मिले कई महिलाओं के मोबाइल नंबर पर पूछताछ की। उनमें से कुछ संदिग्ध नंबरों की सूची तैयार कर उन पर निगरानी शुरू कर दी गई। वहीं, मोबाइल पर मिले डिटेल के आधार पर रणजीत से सोशल साइट पर जुड़े लोगों के बारे मे जानकारी जुटा रही है। इसमें गोरखपुर, लखनऊ, नोएडा, दिल्ली, प्रयागराज, रायबरेली, वाराणसी के लोग शामिल हैं। इनमें अधिकतर महिलाएं हैं। इनसे रणजीत की लंबी बातचीत और चैटिंग भी मिले हैं। 

संगठन के सदस्यों से पूछताछ
पुलिस के मुताबिक हत्याकांड में संगठन से जुड़े लोगों के बारे में भी जानकारी जुटाई जा रही है। संगठन से जुड़े 19 लोगों से पूछताछ की गई है। इसमें कुछ संदिग्धों की सूची तैयार की गई है, जिसमें महिला व पुरुष दोनों है। इनकी पुलिस लगातार निगरानी कर रही है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios