Asianet News Hindi

छात्रा ने कहा- चिन्मयानंद ने एक साल तक दुष्कर्म किया, मेरे पास सबूत; योगी सरकार पर भी उठाए सवाल

पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा, जब मेरे पिता ने थाने में चिन्मयानंद के खिलाफ शिकायत दी तो डीएम ने उन्हें फोन कर कहा था कि आपको पता है किस पर केस दर्ज करवा रहे हैं।

chinmayanand case victim girl on front of media
Author
Shahjahanpur, First Published Sep 9, 2019, 7:37 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

शाहजहांपुर. पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री और भाजपा नेता स्वामी चिन्मयानंद पर प्रताड़ना का आरोप लगाने वाली छात्रा सोमवार को पहली बार मीडिया के सामने आई। उसने कहा, चिन्मयानंद ने एक साल तक उसका यौन शोषण किया। यही नही, शाहजहांपुर के डीएम और पुलिस अधिकारियों ने परिवारवालों को भी धमकाया। यहां पुलिस मेरा केस दर्ज नहीं कर रही थी, इस वजह से मैंने दिल्ली में जीरो एफआईआर दर्ज करवाई थी। मैं चाहती हूं कि उसे अब शाहजहांपुर ट्रांसफर कर दिया जाए। 

छात्रा ने एसआईटी जांच पर उठाए सवाल
पीड़िता ने आरोप लगाते हुए कहा, जब मेरे पिता ने थाने में चिन्मयानंद के खिलाफ शिकायत दी तो डीएम ने उन्हें फोन कर कहा था कि आपको पता है किस पर केस दर्ज करवा रहे हैं। एसआईटी ने मुझसे 8 घंटे पूछताछ की, लेकिन आरोपी से अब तक कोई पूछताछ क्यों नहीं की गई? मुझे योगी सरकार पर भरोसा नहीं है। पुलिस ने अब तक चिन्मयानंद के खिलाफ रेप का केस दर्ज नहीं किया। मेरी फैमिली को जान को खतरा है। मेरे पास चिन्मयानंद के खिलाफ यौन उत्पीड़न के सारे सबूत हैं, जिन्हें मैं कोर्ट में पेश करूंगी। स्वामी की धमकी के बाद मैं डरकर दिल्ली, फिर राजस्थान चली गई थी। 

पीड़िता के पिता ने कही ये बात
वहीं, पीड़िता के पिता ने कहा, मैंने चिन्मयानंद के खिलाफ आर-पार की लड़ाई लड़ने का फैसला कर लिया है। उसके असली चेहरे को सबके सामने लाकर रहूंगा। प्रदेश सरकार और प्रशासन चिन्मयानंद के दबाव में काम कर रहा है।

क्या है पूरा मामला
बता दें, शाहजहांपुर में एलएलएम की छात्रा ने कॉलेज के प्रबंधक व पूर्व केन्द्रीय ग्रह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर खुद को प्रताड़ित करने का आरोप लगाया था। जिसके बाद वह अचान​क लापता हो गई थी। परिवार की तहरीर के आधार पर पुलिस ने पूर्व केंद्रीय गृह राज्य मंत्री पर अपहरण का केस दर्ज किया था। कुछ दिन बाद पुलिस ने छात्रा को राजस्थान से बरामद किया। घटना का सुप्रीम कोर्ट ने खुद संज्ञान लेते हुए एसआईटी जांच के आदेश दिए। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios