Asianet News HindiAsianet News Hindi

प्रदर्शन की आड़ में हिंसा बर्दाश्त नहीं, उपद्रवियों की संपत्ति जब्त कर होगी नुकसान की भरपाई: CM योगी

नागरिकता कानून को लेकर प्रदर्शन की आड़ में लखनऊ और संभल में हुई हिंसा के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा, विपक्षियों पार्टियों ने लोगों को उकसाने और भड़काने का काम किया। सपा, बसपा और कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियां ने लोगों ने भ्रम फैलाने का काम किया।

cm yogi adityanath on violent protest in lucknow KPU
Author
Lucknow, First Published Dec 19, 2019, 6:49 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh). नागरिकता कानून को लेकर प्रदर्शन की आड़ में लखनऊ और संभल में हुई हिंसा के बाद सीएम योगी आदित्यनाथ का बयान सामने आया है। उन्होंने कहा, विपक्षियों पार्टियों ने लोगों को उकसाने और भड़काने का काम किया। सपा, बसपा और कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियां ने लोगों ने भ्रम फैलाने का काम किया। प्रदर्शन के नाम पर हिंसा बिल्कुल बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उपद्रवी की पहचान कर ली गई है। सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ गए हैं। उपद्रवियों की संपत्ति जब्त करके जो भी नुकसान हुआ है, उसकी भरपाई की जाएगी। 

लखनऊ में फूंकी गई चौकी, जलाई गई गाड़ियां
यूपी में धारा 144 लागू होने के बावजूद नागरिकता कानून को लेकर गुरुवार को राजधानी लखनऊ और संभल में प्रदर्शनकारी उग्र हो गए। राजधानी के हसनगंज, खदरा, ठाकुरगंज, परिवर्तन चौकी सहित कई इलाकों में प्रदर्शनकारी उग्र हो गए। पुलिस सहित अन्य की गाड़ियों में आग लगा दी। मदेयगंज पुलिस चौकी में तोड़फोड़ कर आग लगा दी, जिससे वहां रखे सभी डाक्यूमेंट जल गए। ठाकुरगंज थाना क्षेत्र के सतखंडा पुलिस चौकी को भी आग के हवाले कर दिया। भीड़ ने मीडिया कर्मियों को भी निशाना बनाया। हालात तनावपूर्ण है। यही नहीं, भीड़ की ओर से भी फायरिंग भी की गई। पुलिस ने जवाब में हवाई फायरिंग की और आंसू गैस के गोले दागे। पुलिस ने लाठीचार्ज कर उपद्रवियों को खदेड़ा। कई थानों की फोर्स को लगाया गया। 

कई पुलिसकर्मी हुए जख्मी
बता दें, नागरिकता कानून के विरोध में सपा और कई संगठनों ने प्रदर्शन का आह्वान किया था। इसको देखते हुए पूरे प्रदेश में धारा-144 लागू की गई थी। लेकिन इसका कोई असर नहीं हुआ। फिलहाल, संवेदनशील इलाकों में आरएएफ, पीएसी, क्विक रिस्पांस टीम तैनात की गई। पथराव में आईजी रेंज के पीआरओ अंकित त्रिपाठी, सीओ हजरतगंज अभय मिश्रा समेत कई पुलिस अधिकारी घायल हुए हैं। हालात का जायजा लेने के लिए डीजीपी ओपी सिंह परिवर्तन चौक पहुंचे। उन्होंने बताया कि, पुलिस से कोई चूक नहीं हुई है। अब तक 50 उपद्रवी गिरफ्तार हुए हैं। डीएम अभिषेक प्रकाश ने कहा- आरएएफ तैनात की गई है। माहौल शांत है। स्थिति काबू में है। 

कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष समेत कई गिरफ्तार
लखनऊ के परिवर्तन चौक पर नागरिकता कानून के विरोध में कांग्रेस, वामपंथी दलों के कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया। पुलिस ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो झड़प भी हुई। जिस पर पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के लिए लाठियां भांजी है। पुलिस ने कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू समेत कई कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार किया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios