लखनऊ (Uttar Pradesh) । कोरोना वायरस का खौफ लोगों के सिर चढ़कर बोल रहा है। लॉक डाउन की घोषणा के बाद लोग जहां हैं वहीं रहने को मजबूर हैं। ऐसे में दो परिवार अपने बेटे-बेटी की शादी को सामान्य तरीके से ही करने का निर्णय लिए। पहले से तय शादी करने के लिए सेहरा पहनकर दूल्हा बाइक से ससुराल पहुंचा। वहीं, बिना बरातियों के विवाह संपन्न हुआ। इसके बाद बाइक पर ही दुल्हन को विदाई कराकर घर लाया। बता दें कि कोराना वायरस पर नियंत्रण के दृष्टिगत शहर में लॉक डाउन है। इसके चलते वैवाहिक समारोह आयोजित करने पर भी पाबंदी है। ऐसे में सादगी से विवाह कराया गया। 

यह है पूरा मामला
थाना बख्शी का तालाब क्षेत्र के जगदीशपुर निवासी रवि कुमार की शादी घुंघटेर क्षेत्र निवासी केशन की पुत्री पार्वती से तय। इसी बीच कोरोना वायरस के चलते शहर लॉकडाउन हो गया। युवती के पिता केशन ने बताया कि विवाह न टले इसलिए दोनों पक्षों ने मिलकर सामान्य तरीके से विवाह संपन्न कराने का निर्णय लिया। 

ऐसे हुई शादी
रवि कुमार सेहरा पहनकर अपने बहनोई के साथ बाइक से निकला। दूसरी बाइक पर उसके पिता राज कुमार व ताऊ शादी के मंडप तक पहुंच गए। वहीं, बिना बारातियों के पार्वती की शादी राज कुमार के साथ हो गई। दो-तीन अन्य रिश्तेदार एकत्र हुए और विवाह हो गया। लॉक डाउन के कारण गांव के लोग भी एकत्र नहीं हुए।

बाइक पर बैठाकर हुई विदाई
कोरोना ने दूल्हा-दुल्हन के सपनों को चूर-चूर हो गया। न बैंडबाजा और न ही बाराती पहुंच सके। सामान्य तरीके से विवाह संपन्न होने के बाद दुल्हन की विदाई भी बाइक पर ही हुई। सजी धजी कार में जाने की बजाए परिवार वालों को ये कदम उठाना पड़ा।