Asianet News Hindi

दादी के पीछे-पीछे जा रही थी पोती, चोरी से उठा ले गए दरिंदे, फिर किए गैंगरेप,भाई ने देखा तो बना लिया बंधक

पीड़िता के नाबालिग भाई का आरोप है कि गांव के लोगों को घटना की जानकारी दी, जिसके बाद हुई पंचायत में उसपर डरा धमकाकर सुलह का दबाव बनाया गया। पैसे का भी लालच दिया गया। लेकिन, वो नहीं माना। इस दौरान उसे तीन घंटे बंधक बनाए रखा गया। जिसके बाद परिवार के लोग देर रात चार युवकों के खिलाफ थाने में आरोप लगाते हुए तहरीर दिए।
 

Dirty work in Hapur, 12-year-old brother held hostage for protesting asa
Author
Hapur, First Published Dec 20, 2020, 3:40 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हापुड़ (Uttar Pradesh) । अपनी दादी के साथ जंगल में जा रही 12 साल की मासूम बच्ची को कुछ लोगों ने बीच रास्ते से ही उठा लिया। इसके बाद उसके साथ गैंगरेप किया। आरोप है कि आरोपियों को भागते देख भाई ने पीछा किया तो उसे भी तीन घंटे तक बंधक बनाए रखा गया। इस दौरान पैसे का भी लालच देकर मामले को दबाने का प्रयास किया। यह मामला गढ़मुक्तेश्वर थाना  क्षेत्र के एक गांव का है।

यह है पूरा मामला
एक गांव निवासी महिला एक दिन दोपहर अपनी 12 साल की पोती के साथ जंगल में लकड़ी काटने जा रही थी। दादी आगे जा रही थी, जबकि पोती पीछे। इसी दौरान बच्ची लापता हो गई। करीब आधे घंटे तक महिला पोती को खोजती रही। इसी दौरान बच्ची का भाई भी जंगल पहुंच गया। जिसने कुछ युवकों को भागते हुए देखा। जहां पहुंचा तो देखा उसकी बहन बेहोश पड़ी थी। इसके बाद वो भागने वाले युवकों का पीछा करते हुए उनके गांव पहुंच गया।

पैसे का भी लालच देकर बना रहे थे दबाव
पीड़िता के नाबालिग भाई का आरोप है कि गांव के लोगों को घटना की जानकारी दी, जिसके बाद हुई पंचायत में उसपर डरा धमकाकर सुलह का दबाव बनाया गया। पैसे का भी लालच दिया गया। लेकिन, वो नहीं माना। इस दौरान उसे तीन घंटे बंधक बनाए रखा गया। जिसके बाद परिवार के लोग देर रात चार युवकों के खिलाफ थाने में आरोप लगाते हुए तहरीर दिए।

दो लोगों को पुलिस ने पकड़ा
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक एसपी हापुड़ नीरज जादौन ने कहा है कि बच्ची का मेडिकल कराकर केस दर्ज कर लिया गया है। मामले में दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया है। जिसने पूछताछ की जा रही है।

(प्रतीकात्मक फोटो)

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios