पीएम मोदी को ई-मेल कर दी जान से मारने की धमकी, गुजरात की एटीएस ने बदायूं से युवक को किया गिरफ्तार

| Nov 27 2022, 09:39 AM IST

पीएम मोदी को ई-मेल कर दी जान से मारने की धमकी, गुजरात की एटीएस ने बदायूं से युवक को किया गिरफ्तार

सार

यूपी के बदायूं के एक युवक ने पीएम मोदी को ई-मेल कर धमकी दी थी। वहीं इस मामले में गुजरात के एक युवक और युवती का नाम सामने आने के बाद गुजरात के अहमदाबाद की एटीएस सक्रिय हो गई थी। बता दें एटीएम टीम ने बदायूं से एक युवक को गिरफ्तार किया है।

बदायूं: उत्तर प्रदेश के बदायूं जिले के एक युवक ने पीएम मोदी को ई-मेल कर जान से मारने की धमकी दी थी। जिसके बाद गुजरात के अहमदाबाद की एटीएस ने बीते शनिवार की रात को जनपद में दबिश देकर आदर्श नगर मोहल्ले में रहने वाले एक युवक को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि युवक का नाम अमन सक्सेना है और उसने इंजीनियरिंग की पढ़ाई अधूरी छोड़ दी है। वहीं इस मामले में गुजरात के एक युवक और युवती के भी शामिल होने की जानकारी मिली है। फिलहाल गुजरात एटीएस इन सभी को तलाश कर रही है। वहीं देर रात तक पूछताछ के बाद एटीएस टीम अमन सक्सेना को अपने साथ ले गई है।

पीएम को ई-मेल पर दी थी धमकी
बता दें कि शनिवार रात 10 बजे के आसपास गुजरात एटीएस के इंस्पेक्टर वीएन बघेला टीम के साथ पहले सिविल लाइंस थाने पहुंचे। फिर इसके बाद स्थानीय पुलिस की मदद से टीम ने अमन को गिरफ्तार किया। पुलिस ने बताया कि कुछ दिन पहले पीएम कार्यालय की आइडी पर ई-मेल कर पीएम मोदी को धमकी दी गई थी। वहीं इस मामले में गुजरात के युवक, युवती का नाम सामने आने के बाद वहां की एटीएस टीम भी सक्रिय हो गई थी। जिसके बाद टीम आरोपियों की तलाश कर रही थी। वहीं सर्विलांस के जरिए अमन की लोकेशन ट्रेस होते ही एटीएस की टीम बदायूं पहुंच गई। 

Subscribe to get breaking news alerts

चोरी आदि मामले में मिली युवक की संलिप्तता
प्राप्त जानकारी के अनुसार, कुछ समय पहले अमन सक्सेना बरेली के राजर्षि कालेज में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा था, लेकिन इसके बाद उसने पढ़ाई को बीच में ही छोड़ दिया। आरोपी ने किस मकसद से पीएम को धमकी भरा मेल भेजा इसकी फिलहाल जांच की जा रही है। वहीं अन्य दोनों आरोपितों के बारे में गुजरात एटीएस के इंस्पेक्टर ने कोई सूचना नहीं दी है। इंस्पेक्टर वीएल बघेला ने बताया कि आरोपी युवक से मामले की पूछताछ की जा रही है। वहीं सिविल लाइंस थाने के इंस्पेक्टर सहंसरवीर सिंह ने बताया कि एटीएस टीम ने जिस युवक को पकड़ा है। वह पहले भी लैपटाप चोरी आदि के मामले में संलिप्त पाया जा चुका है। 

युवक की गतिविधियां थीं संदिग्ध
वहीं अमन के मोहल्ले वालों ने बताया कि सकी गतिविधियां लगातार संदिग्ध रही हैं। कई सालों से उसे देखा भी नहीं गया। लोगों ने बताया कि वह कब आता है और कब जाता है, इसके बारे में किसी को कोई जानकारी नहीं है। इसके अलावा अमन के परिवार वाले समाचार पत्र के जरिए उसे बेदखल करने की जानकारी को भी प्रकाशित करवा चुके हैं। बताया गया है कि अमन सक्सेना कुछ दिन पहले ही घर आया था। वहीं लोकेशन ट्रेस होते ही युवक को एटीएस टीम ने पकड़ लिया। टीम को अमन के पास से कुछ मोबाइल भी मिले हैं। जिसे टीम अपने साथ ले गई है।