Asianet News HindiAsianet News Hindi

डेढ़ साल पहले मरी युवती मिली जिंदा, उसी के कत्ल के इल्जाम में पिता- भाई समेत तीन लोग जेल में हैं बंद

यूपी के अमरोहा में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक जिस युवती का डेढ़ साल पहले क़त्ल हो चुका था वह जिंदा लौट आई। यही नहीं पुलिस ने युवती के कत्ल के इल्जाम में उसके पिता और भाई समेत तीन को डेढ़ साल पहले ही जेल भेज दिया था। 

Father and brother are being punished for the murder of their daughter she alive kpl
Author
Amroha, First Published Aug 8, 2020, 9:54 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

अमरोहा(Uttar Pradesh).  यूपी के अमरोहा में एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। पुलिस के मुताबिक जिस युवती का डेढ़ साल पहले क़त्ल हो चुका था वह जिंदा लौट आई। यही नहीं पुलिस ने युवती के कत्ल के इल्जाम में उसके पिता और भाई समेत तीन को डेढ़ साल पहले ही जेल भेज दिया था। तब से तीनों लोग जेल में ही हैं। उस दौरान पुलिस कप्तान ने प्रेस कांफ्रेंस कर इसका खुलासा किया था और युवती के कपड़े और हत्या के प्रयुक्त तमंचा भी बरामद होने का दावा किया था। लेकिन अब युवती के जिंदा मिलने के बाद जहां परिजनों व ग्रामीणों में पुलिस के इस झूठ के प्रति गुस्सा है वहीं क़त्ल के इल्जाम में जेल में बंद पिता-भाई समेत तीनों लोगों को रिहा करने की मांग की गई है।

मामला यूपी के अमरोहा जनपद के थाना आदमपुर थाना क्षेत्र के मलकपुर गांव का है। यहां के रहने वाले राहुल के मुताबिक पिछले साल 6 फरवरी 2019 में उसकी बहन कमलेश अचानक घर से गायब हो गई थी। परिजनों ने इसकी रिपोर्ट थाने में लिखवाई तो आदमपुर पुलिस ने 18 फरवरी 2019 को उसकी हत्या के आरोप में पिता सुरेश और उसके भाई रूप किशोर और पड़ोस गांव के रहने वाले देवेंद्र को आरोपी बनाकर जेल भेज दिया था। मामले में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक ने खुलासा करते हुए उनकी निशानदेही पर युवती के कपड़े, एक तमंचा और कारतूस की भी बरामदगी दिखाई थी।

Father and brother are being punished for the murder of their daughter she alive kpl

पुलिस पर जबरन आरोप कबूल करवाने का आरोप 
युवती के दूसरे भाई राहुल ने आदमपुर पुलिस पर गम्भीर आरोप लगाया है. उसने बताया कि पुलिस ने उसकी लापता बहन को खोजने के बजाय उसके पिता, बड़े भाई और एक रिश्तेदार के खिलाफ हत्या का इल्जाम लगाकर जेल भेज दिया। तीनों लोगो की पिटाई करके जबरदस्ती गुनाह कबूल कराया गया। वो लोग तकरीबन डेढ़ साल से आज तक जेल में बंद हैं। राहुल के मुताबिक जिस बहन की हत्या का इल्जाम उसके पिता, भाई समेत तीन लोगों पर लगाया गया, वो अभी तक जिन्दा है। 

प्रेमी से शादी कर आराम से उसके साथ रह रही थी युवती 
राहुल के मुताबिक उसकी बहन अपने प्रेमी राकेश के साथ प्रेम विवाह कर उसके साथ पौरारा गांव में रह रही थी। उन दोनों के एक बच्चा भी है। उसने खुद उसे ढूढ़ निकाला है। राहुल ने कहा कि हम लोग इंसाफ चाहते हैं। हमारी मांग है कि बेगुनाह परिजनों की रिहाई हो और साथ ही इस मामले में दोषी पुलिसवालों व अन्य लोगों के खिलाफ कार्रवाई हो।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios