Asianet News Hindi

CAA के विरोध में सड़क पर उतरे पूर्व राज्यपाल के खिलाफ केस दर्ज, धारा 144 का दिया गया हवाला

नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ बिना परमिशन कैंडल मार्च निकालने पर पुलिस ने यूपी के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी समेत आठ नामजद और 40 अज्ञात पर केस दर्ज किया है। बता दें, पूर्व राज्यपाल ने बीते रविवार को सीएए व एनआरसी के विरोध में कैंडल मार्च निकाला था।

fir filed against former governor aziz qureshi for anti caa protest KPU
Author
Lucknow, First Published Feb 4, 2020, 11:19 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh). नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ बिना परमिशन कैंडल मार्च निकालने पर पुलिस ने यूपी के पूर्व राज्यपाल अजीज कुरैशी समेत आठ नामजद और 40 अज्ञात पर केस दर्ज किया है। बता दें, पूर्व राज्यपाल ने बीते रविवार को सीएए व एनआरसी के विरोध में कैंडल मार्च निकाला था। 

पुलिस ने पहले दिया अल्टीमेटम, फिर दर्ज किया केस
गोमती नगर थाना प्रभारी अमित दुबे ने बताया, रविवार यानी 2 फरवरी की शाम अजीज कुरैशी करीब 40 समर्थकों के साथ फन मॉल के पास डिगडिगा चौराहे पर सीएए के विरोध में कैंडल मार्च की अगुवाई कर रहे थे। उन्हें धारा-144 का हवाला देकर जुलूस निकालने से मना किया गया, लेकिन वे नहीं माने। पुलिस ने बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों पर काबू पाया। इसी मामले में पूर्व राज्यपाल के साथ आठ लोगों के खिलाफ नामजद और 40 अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

घंटाघर पर महिलाओं का प्रदर्शन जारी
शाहीन बाग की तर्ज पर लखनऊ के घंटाघर परिसर में बीते 19 दिनों से सीएए के विरोध में महिलाएं धरने पर बैठीं हैं। सोमवार देर शाम ठाकुरगंज पुलिस ने यहां प्रदर्शन करने वाले तीन लोगों गिरफ्तार किया। इनके खिलाफ 25 जनवरी को केस दर्ज किया गया था। एडीसीपी पश्चिम विकास चंद्र त्रिपाठी ने बताया, एसआई जितेंद्र की तहरीर पर फहीम उर्फ छोटू के साथ 16 अन्य प्रदर्शनकारी महिलाओं पर केस दर्ज किया गया है। फोटो और वीडियो से पहचान की जा रही है, जल्द कार्रवाई होगी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios