फिरोजाबाद हादसा: एक ही चिता पर हुआ 6 लोगों का अंतिम संस्कार, घरों में नहीं जले चूल्हे, बाजार में पसरा सन्नाटा

| Nov 30 2022, 10:53 AM IST

फिरोजाबाद हादसा: एक ही चिता पर हुआ 6 लोगों का अंतिम संस्कार, घरों में नहीं जले चूल्हे, बाजार में पसरा सन्नाटा
फिरोजाबाद हादसा: एक ही चिता पर हुआ 6 लोगों का अंतिम संस्कार, घरों में नहीं जले चूल्हे, बाजार में पसरा सन्नाटा
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

यूपी के फिरोजाबाद में एक मकान में आग लगने के बाद 6 लोगों की मौत हो गई। इन सभी लोगों का अंतिम संस्कार एक ही चिता पर किया गया। बुधवार को बाजारों में सन्नाटा देखा गया और कई घरों के चूल्हे तक नहीं जले। 

फिरोजाबाद: कस्बा पाढ़म में मंगलवार की रात हुए अग्निकांड में एक ही परिवार के 6 लोग जिंदा जल गए। इस हादसे में मरने वालों में बच्चों की संख्या 3 है। इस घटना के बाद पाढ़म में मातम पसरा हुआ है। बुधवार को सभी के शवों का अंतिम संस्कार किया गया। अंत्येष्टि स्थल पर एक ही चिता बनाई गई थी, इसी चिता पर तीन माह की बच्ची समेत 6 मृतकों के शव रखे गए। यह नजारा देखकर सभी की आंखे नम हो गईं।

शॉर्ट सर्किट बताया जा रहा आग का कारण 
पाढ़म निवासी रमन प्रकाश का बाजार में दो मंजिला मकान है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मंगलवार रात को घर में शॉर्ट सर्किट से भीषण आग लग गई थी। इसमें रमन प्रकाश के पुत्र मनोज कुमार, उनकी पत्नी नीरज, पुत्र हर्ष और भारत, रमन प्रकाश के छोटे बेटे नितिन की पत्नी शिवानी और तीन माह की पुत्री तेजस्वी की जलकर मौत हो गई थी। रमन और नितिन घर आए हुए थे। हादसे में इनकी जान बच गई। आग लगने के बाद परिवार को लोग पहली मंजिल पर फंसे हुए थे। उन सभी लोगों को भागने तक का मौका नहीं मिला। देर रात तकरीबन सवा 10 बजे एक-एक कर सभी के शव निकाले गए। इसमें से कई शव बुरी तरह से जल चुके थे।

Subscribe to get breaking news alerts

सीएम ने भी हादसे पर व्यक्त किया दुख 
बुधवार की सुबह इन सभी शवों का विधिवत अंतिम संस्कार किया गया। अंतिम संस्कार के दौरान आसपास हजारों लोगों की भीड़ इकट्ठा थी। सभी की आंखों में आंसू थे और भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी। हादसे पर सीएम योगी ने गहरा दुख प्रकट किया है। उन्होंने पीड़ित परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की है और मृतकों के परिजनों को आर्थिक सहायता दिए जाने की भी बात कही है। इस हादसे के बाद बुधवार सुबह भी कई घरों में चूल्हे नहीं जले। सुबह बाजार बंद था। गलियों में मातम देखा गया। 

कानपुर: तार से मासूम का गला घोंटकर मां ने लगाई फांसी, मायके वालों ने लगाया गंभीर आरोप