Asianet News HindiAsianet News Hindi

तेजस में मोबाइल नंबर मांगने, वीडियो बनाने से तंग हैं ट्रेन होस्टेस? क्या है खबर की सच्चाई

देश की पहली कारपोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस लखनऊ से दिल्ली रोजाना चल रही है। इस ट्रेन में यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाएं विदेशों में चलने वाली ट्रेनों से कम नहीं हैं

first corporate train of country tejas is running daily from lucknow to delhi
Author
Lucknow, First Published Oct 30, 2019, 6:01 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ(Uttar Pradesh ). देश की पहली कारपोरेट ट्रेन तेजस एक्सप्रेस लखनऊ से दिल्ली रोजाना चल रही है। इस ट्रेन में यात्रियों को दी जाने वाली सुविधाएं विदेशों में चलने वाली ट्रेनों से कम नहीं हैं। आरामदायक सीटों के आलावा ट्रेन में खाने की उत्तम व्यवस्था, और दूसरी सर्विस की वजह से यह अपने आप में खास बनाता है।
पिछले कुछ दिनों से तेजस के बारे में मीडिया में खबरें चल रही हैं। जिसके मुताबिक कहा जा रहा है कि तेजस में सफर करने वाले यात्री ट्रेन होस्टेस को परेशान करते हैं। उनकी फोटो व वीडियो बनाते हैं। ट्रेन स्टाफ ने खुद कैमरे के सामने मीडिया को होने वाली दिक्कतों पर बात की थी।  मगर जब इस बारे में  hindi.asianetnews.com ने ICRTC के चीफ रीजनल मैनेजर अश्विनी श्रीवास्तव से बात की तो उन्होंने ऐसी खबरों को सिरे से खारिज कर दिया। चीफ रीजनल मैनेजर ने क्या कहा, सवाल-जवाब में पढिए।

सवाल : मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक़ ICRTC ने इसको लेकर एक एडवाइजरी जारी की है। जिसमें यात्रा के दौरान ट्रेन होस्टेस को परेशान न किए जाने की अपील की जाएगी, क्या यह सच है?
जवाब : यह खबर कहां से मीडिया को मिली इसे सोचकर मैं खुद हैरान हूं। ICRTC ने न तो कोई एडवाइजरी इस बारे में जारी की है, और न ही मेरे संज्ञान में इस तरह की कोई प्लानिंग है एडवाइजसरी जारी करने की।

सवाल : ट्रेन होस्टेस को कुछ यात्रियों द्वारा परेशान किया जाता है, उनके कपड़ों को लेकर कमेंट किए जाते हैं और उनके फोन नंबर मांगे जाते हैं। इस बारे में क्या कहेंगे?
जवाब :- देखिए जब से तेजस चल रही है उसमे कुल 10 कोच में 20 ट्रेन होस्टेस हैं। अभी तक किसी भी ट्रेन होस्टेस ने कोई शिकायत इस तरह से नहीं की है। अगर किसी ट्रेन होस्टेस के साथ कोई अभद्रता की गई होती तो वह अपने सीनियर्स को या ट्रेन में चल रहे ICRTC के अधिकारियों को कोई तो सूचना देती। मुझे लगता है ये अफवाह है।

सवाल : ट्रेन होस्टेस की बिना उनकी अनुमति के फोटो या वीडियो बनाया जाता है। उन्हें सेल्फी के लिए प्रेरित किया जाता है इस पर क्या कहना है ?
जवाब: इस बारे में मैं आपको बता रहा हूं। शुरुआत में जब तेजस का संचालन शुरू हुआ तो यह ट्रेन देश के लिए बिलकुल नई थी। इस तरह की किसी ट्रेन का संचालन देश में पहली बार हो रहा है। इसको लेकर यात्रियों में काफी उत्साह था। शुरू के तीन-चार दिन यात्रियों ने ट्रेन के साथ, ट्रेन के स्टाफ के साथ सेल्फी ली थी। लेकिन इसमें किसी तरह की कोई जबरदस्ती नहीं थी। ऐसे में ये खबर भी सही नहीं है।

सवाल: मीडिया में कुछ लोगों के बयान भी आए हैं इसको लेकर?
जवाब : देखिए सर्विस प्रोवाइडर कंपनी के कुछ लोगों ने बयान दिया है ऐसा मैंने भी सुना है। लेकिन सवाल ये उठता है कि हमने ट्रेन में चलने वाले स्टाफ से रोजाना यात्रियों का फीडबैक देने का सिस्टम बनाया है। ऐसे में किसी भी ट्रेन होस्टेस द्वारा इस तरह की कोई बात क्यों ही बताई गई। हमारे IRCTC के 5 अफसर भी इसी ट्रेन में चलते हैं उसके संज्ञान में ये बात आज तक क्यों नहीं आई। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios