Asianet News Hindi

UPSSSC पेपर लीक मामले में 5 साल्वर गिरफ्तार, 15 लाख में लेते थे अफसर बनाने का ठेका

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की एक और परीक्षा में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। इस बार आयोग की लोवर PCS की परीक्षा में पेपर लीक होने का मामला सामने आया है। मामले में आयोग की तरफ से मुजफ्फरनगर में एक एफआईआर दर्ज कराई गई है। इसके बाद मुजफ्फरनगर पुलिस ने मामले सक्रियता दिखाते हुए एक नकल गिरोह पकड़ा है। गिरोह के 5 सॉल्वर गिरफ्तार किए गए हैं। 

five solvers arrested in upsssc paper leak case in muzaffarnagar
Author
Muzaffarnagar, First Published Oct 2, 2019, 6:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुज़फ्फरनगर (UTTAR PRADESH ).  उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की एक और परीक्षा में गड़बड़ी का मामला सामने आया है। इस बार आयोग की लोवर PCS की परीक्षा में पेपर लीक होने का मामला सामने आया है। मामले में आयोग की तरफ से मुजफ्फरनगर में एक एफआईआर दर्ज कराई गई है। इसके बाद मुजफ्फरनगर पुलिस ने मामले सक्रियता दिखाते हुए एक नकल गिरोह पकड़ा है। गिरोह के 5 सॉल्वर गिरफ्तार किए गए हैं। 

यूपी के मुजफ्फरनगर के नई मंडी कोतवाली क्षेत्र स्थित परीक्षा केंद्र एसडी गर्ल्स कॉलिज से पुलिस ने 5 साल्वरों का एक गैंग पकड़ा है। ये गिरोह परीक्षार्थी के फोटो से सॉल्वर के फोटो एडिट कराकर ये परीक्षा दिलाता था। 30 सितंबर को हुई परीक्षा का पेपर  सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो आयोग व जिला प्रशासन के होश उड़ गए। जिसके बाद UPSSSC के अध्यक्ष अरुण सिन्हा की ओर से मुजफ्फरनगर में एक अभ्यर्थी, कक्ष निरीक्षक और अन्य पर एफआईआर दर्ज कराई गई। 

15 लाख में होता था पास कराने का ठेका 
पकड़े गए जालसाजों ने पुलिस को बताया कि वह अभ्यर्थी से पास कराने का 8 से 15 लाख रुपये में ठेका लेते थे। गैंग में और लोग भी हैं जो कैंडीडेट ढूंढ कर लाते थे।  कैंडीडेट फिक्स होने के बाद उनके प्रवेश पत्र में फोटो एडिट कर साल्वर उनके स्थान पर पेपर देते थे। 

परीक्षा के समय पेपर की खींची गई फोटो हुई वायरल 
गौरतलब है कि लोवर PCS की परीक्षा 30 सितंबर को हुई थी। इस दौरान पहली पाली की परीक्षा के पेपर का फोटो वायरल हो गया था। जांच में सामने आया कि मुजफ्फरनगर के डीएवी इंटर कॉलेज से पेपर आउट हुआ। मामले की जानकारी आयोग के अध्यक्ष अरुण सिन्हा को हुई तो उन्होंने कार्रवाई के आदेश दिए। इसके बाद आयोग अध्यक्ष के निर्देश पर मुजफ्फरनगर के सिविल लाइंस थाने में अभ्यर्थी, कक्ष निरीक्षक और अन्य पर एक अक्टूबर को मुकदमा दर्ज किया गया। 

अंडरगारमेंट में छिपाकर रखी गयी मोबाईल से वायरल किया पेपर 
पेपर लीक मामले में डीएवी इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य शिव कुमार यादव ने थाने में एक अभ्यर्थी  प्रशांत कुमार सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कराया है। तहरीर में उन्होंने लिखा है कि परीक्षा की पहली पाली में कॉलेज के कमरा नंबर 13 में प्रशांत अवैध रुप से अंडर गारमेंट में मोबाइल छिपाकर लाया था। उसने पेपर की फोटो खींचकर किसी व्यक्ति के पास भेज दिया। प्रशांत गौतमबुद्धनगर जिले के खताना का रहने वाला है। प्रधानाचार्य ने  कक्ष निरीक्षक मुकेश चंद्रा सहायक अध्यापक डीएवी इंटर कॉलेज और सीमा जैन अध्यापक एसडी पब्लिक स्कूल मुजफ्फरनगर पर लापरवाही का आरोप लगाया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios