Asianet News Hindi

राम मंदिर के लिए यूपीआई और बार कोड से चंदा नहीं लेगा ट्रस्ट, जानिए इसके पीछे की वजह

राम मंदिर के लिए दान में आ रही चांदी की ईंट को लेकर उन्होंने कहा कि पूरी चांदी बैंक के लॉकर में रखी है। चांदी की जरूरत अभी नहीं है। अब चांदी न देने की अपील करते हुए कहा अभी जरूरत नहीं है, जब होगी तो हम मांग लेंगे।

Funds will not be taken from UPI and bar code for Ram temple, Champat Rai said the reason asa
Author
Varanasi, First Published Feb 19, 2021, 4:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

वाराणसी (Uttar Pradesh) । राम मंदिर के लिए धन संग्रह अभियान के दौरान ट्रस्ट ने बड़ा फैसला लिया है। अब यूपीआई और बार कोड के जरिए धन संग्रह बंद करने का निर्णय लिया है। मीडिया से बातचीत करते हुए यह जानकारी महासचिव चंपत राय ने दी।

बैंकों ने स्वीकार किया हो सकती है गड़बड़ी
चंपत राय ने कहा कि बैंकों ने भी स्वीकार कर लिया है कि गड़बड़ हो सकती है। किसी तरह की कोई गड़बड़ी न होने पाए, इसका ध्यान रखते हुए ही यूपीआई और बार कोड के जरिए धन संग्रह बंद कराने का निर्णय लिया गया। किसी न किसी ने गड़बड़ की जरूर है, जिसकी वजह से अकाउंट के जानकारों ने भी इसे बंद कराने को कहा है।

 

चांदी न दान देने की अपील
राम मंदिर के लिए दान में आ रही चांदी की ईंट को लेकर उन्होंने कहा कि पूरी चांदी बैंक के लॉकर में रखी है। चांदी की जरूरत अभी नहीं है। अब चांदी न देने की अपील करते हुए कहा अभी जरूरत नहीं है, जब होगी तो हम मांग लेंगे।

चंदाजीवी वाले बयान पर कही ये बातें
चंपत राय ने विपक्षियों की ओर से चंदाजीवी वाले बयान और चंदे के रुपए से शराब पी जाने के सवाल पर कहा कि ऐसे लोगों को प्रणाम करता हूं। भगवान उनका भला करें। ऐसा बोलने वाले नीचे जा रहे हैं। समाज ऐसे लोगों को त्याग रहा है और त्याग भी देगा। 


 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios