Asianet News HindiAsianet News Hindi

गाजियाबाद: रस्सी से हाथ-पैर बांधकर दबाया गला, पुलिस नाबालिग बेटी पर जता रही हत्या का शक, जानिए पूरा मामला

यूपी के गाजियाबाद जिले में एक स्वास्थ्यकर्मी के पति की हत्या कर दी गई है। पुलिस को शक है कि इस घटना को मृतक की गोद ली हुई बेटी और उसके प्रेमी ने अंजाम दिया है। फिलहाल दोनों मौके से फरार हैं।

Ghaziabad Throat tying hands and feet with rope police suspecting murder of minor daughter know the whole matter
Author
First Published Sep 23, 2022, 11:57 AM IST

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले से एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां पर पॉश वैशाली में एक स्वास्थ्यकर्मी के पति की निर्ममता से हत्या कर दी गई। युवक का रस्सी से गला घोंटा गया है। वहीं उसके हाथ-पैर भी रस्सी से बंधे मिले हैं। पुलिस को शक है कि मृतक की 14 साल की बेटी और उसके प्रेमी ने इस घटना को अंजाम दिया है। सीसीटीवी फुटेज में लड़की और उसके प्रेमी को आखिरी बार घर से निकलते हुए देखा गया है। दोनों फ्लैट से फरार हैं। मृतक अनिल सक्सेना पत्नी पिंकी और 14 वर्षीय बेटी के साथ वैशाली सेक्टर-4 के एक फ्लैट में रहते थे। दंपति ने बेटी को गोद लिया था। 

स्वास्थ्यकर्मी के पति को दी दर्दनाक मौत
अनिल की पत्नी पिंकी दिल्ली के मलेरिया विभाग में कार्यरत हैं। वह गुरुवार सुबह ही ड्यूटी पर चली गई थीं। वहीं जब शाम को को वह ऑफिस से वापस आई तो फ्लैट बाहर से बंद था। जिसके बाद उन्होंने अपने पति को कई बार फोन मिलाया लेकिन उनका फोन रिसीव नहीं हुआ। फोन रिसीव न होने पर वह डुप्लीकेट चाभी से फ्लैट के अंदर गई। अंदर का नजारा देख उनके होश उड़ गए।  बेडरूम में उनके पति अनिल सक्सेना की लाश पड़ी हुई थी। अनिल के हाथ-पैर और गला रस्सी से बंधा था। इसके बाद पिंकी ने घटना की जानकारी पुलिस को दी। सूचना मिलने पर SSP मुनीराज, SP सिटी ज्ञानेंद्र सिंह समेत भारी संख्या में पुलिस बल मौके पर पहुंच गया। 

पुलिस को दंपति की बेटी पर है हत्या का शक
घटना के साक्ष्य जुटाने के लिए डॉग स्क्वायड और फिंगर एक्सपर्ट टीम को घटनास्थल पर बुलाया गया है। पुलिस ने अनिल के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। पुलिस की जांच में सामने आया कि दंपति की गोद ली हुई 14 वर्षीय नाबालिग बेटी कुछ दिनों पहले अपने दोस्त के साथ घर से गायब हो गई थी। इस मामले की शिकायत अनिल ने कौशांबी थाने में दर्ज करवाई थी। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने नाबालिग को बरामद कर लिया था। इस दौरान उनकी बेटी ने कोर्ट में अपने दोस्त के पक्ष में बयान दिए थे। लेकिन नाबालिग होने के कारण उसे घर वालों को सौंप दिया गया था। इस घटना के बाद लड़की के माता-पिता ने उस पर दोस्त से मिलने की रोक लगा दी थी। इसके बाद भी वह चोरी-छिपे अपने दोस्त से मिलती रहती थी। 

पति की देखभाल के लिए लड़की को लिया था गोद
पुलिस का अनुमान है कि शायद इसी वजह से लड़की और उसके दोस्त ने इस घटना को अंजाम दिया हो। पुलिस ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि अनिल सक्सेना के गले में कैंसर था। उनके बच्चे नौकरी के कारम बाहर रहते हैं। वहीं पत्नी की नौकरी के कारण अनिल की सही से देखभाल नहीं हो पाती थी। इसीलिए कुछ साल पहले दंपति ने एक बच्ची को गोद लिया था। SSP मुनीराज जी ने बताया कि हत्या की जानकारी मिलने के बाद सोसायटी के सीसीटीवी फुटेज को चेक किया गया है। जिसमें लड़की और उसका दोस्त को आखिरी बार फ्लैट से निकलते हुए देखा गया है। वहीं पुलिस उन दोनों को कस्टडी में लेने का प्रयास कर रही है। फ्लैट में लूटपाट जैसी कोई स्थित नहीं दिखाई दे रही है। 


गाजियाबाद: मां-बेटी की सिर कुचल कर की गई हत्या, मायकेवालों ने ससुराल पक्ष पर लगाए गंभीर आरोप

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios