Asianet News HindiAsianet News Hindi

निर्लज्जता से धर्मनिरपेक्ष ढांचे को भी तहस-नहस करने में जुटी सरकारः सपा


सपा पार्टी ने कहा, 'देश की मौजूद सरकार का लक्ष्य केवल किसी न किसी तरीके से सत्ता में बने रहना और सत्ता को हासिल करना है। छल और बल से अपनी विचारधारा को जनता पर थोपना और जनता के सरोकार के सारे कार्यों की उपेक्षा करना एक सामान्य बात हो गई है।'
 

Government trying to destroy secular structure shamelessly: SP asa
Author
Lucknow, First Published Mar 14, 2020, 4:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

लखनऊ (Uttar Pradesh) । समाजवादी पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव समेत पार्टी के सभी दिग्गज नेता और पदाधिकारी मौजूद हैं। बैठक शुरू होते ही अखिलेश यादव ने समाजवादी बुलेटिन को नए स्वरूप में लांच किया। जिसमें कहा गया कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति मजाक बनकर रह गई है। केंद्र और यूपी की सरकार निर्लज्जता से धर्मनिरपेक्ष ढांचे को भी तहस-नहस करने में जुटी हुई है।

भाजपा के कारण बढ़े क्षत्रु देश
राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक शुरू होने के बाद सपा के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से एक के बाद एक कई बयान जारी किए गए। इसमें केंद्र और राज्य की भाजपा सरकार को कई मुद्दों पर घेरा गया है। सपा की तरफ से जारी बयान में कहा गया है कि हमारी विदेश नीति अपने मूल लक्ष्य से भटक गई है। रूस हमारा सबसे विश्वसनीय मित्र देश था, लेकिन हमारी गलत नीतियों के चलते उसका झुकाव भी पाकिस्ना की तरफ होने लगा है। हम बिना किसी संकोच के यह कह सकते हैं कि हमारे मित्र देशों की संख्या कम हुई है और शत्रु देशों की संख्या बढ़ी है जबकि सफल विदेश नीति वह होती है, जिसमें मित्र देशों की संख्या बढ़े और शत्रु देशों की संख्या घटे।

सत्ता में रहना ही भाजपा का लक्ष्य
सपा पार्टी ने कहा, 'देश की मौजूद सरकार का लक्ष्य केवल किसी न किसी तरीके से सत्ता में बने रहना और सत्ता को हासिल करना है। छल और बल से अपनी विचारधारा को जनता पर थोपना और जनता के सरोकार के सारे कार्यों की उपेक्षा करना एक सामान्य बात हो गई है।'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios