Asianet News HindiAsianet News Hindi

हरदोई में चोरी से स्कूल की लकड़ी बेचने जा रहे थे हेडमास्टर, रास्ते में इस तरह से खुल गई पोल

यूपी के हरदोई जिले में चुपके से एक स्कूल के प्रधानाध्यपक लकड़ी बेचने जा रहे थे लेकिन रास्ते में ही वन विभाग की टीम ने पकड़ लिया। हेडमास्टर के मनसूबों में पानी फिर गया। बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षक का यह कारनामा जिले के विकासखंड बावन के संविलियन विद्यालय कौंढा का है।

headmaster going to sell school wood theft Hardoi in this way the pole opened on the way
Author
Lucknow, First Published Aug 10, 2022, 8:43 AM IST

हरदोई: उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में बेसिक शिक्षा विभाग के एक हेडमास्टर का हैरान कर देने वाला मामला सामने आया है। स्कूल की लकड़ी चोरी करते हुए रंगे हाथों टीचर को पकड़ लिया गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि विद्यालय का प्रधानाध्यापक स्कूल में पेड़ गिरने के बाद आम और नीम के पेड़ों की लकड़ी कटवा कर ट्रैक्टर ट्रॉली से बेचने जा रहा था। इसकी सूचना किसी ने वन विभाग की टीम को कर दी और रास्ते में ही हेडमास्टर को पकड़ लिया गया। वन विभाग अब लकड़ी को अपने कब्जे में लेकर विधिक कार्रवाई में जुटा है।

लकड़ी की नीलामी के बाद पैसा विभाग में जाता
जानकारी के अनुसार यह मामला शहर के विकासखंड के संविलियन विद्यालय कौंढा का है। बेसिक शिक्षा विभाग के हेडमास्टर इसी स्कूल में तैनात है। वन विभाग ने ट्रैक्टर ट्रॉली से आम और नीम की लकड़ी ले जाते समय ठेकेदार और विद्यालय के प्रधानाचार्य को पकड़ा। ऐसा बताया जा रहा है कि नीलामी की प्रक्रिया अमल में लाई जाती तो उसके बाद लकड़ी बिक्री का पैसा विभाग के खाते में जमा कराया जाता लेकिन आलोक पांडेय नाम का प्रधानाध्यापक होशियार निकला और लकड़ी बेचने खुद ही निकल पड़ा, तभी किसी ने सूचना दे दी और वन विभाग ने रास्ते में ही उसे पकड़ लिया।

हेडमास्टर ठेकेदार के साथ  ले जा रहे था बाजार
वन विभाग के अनुसार कौंढा संविलियन विद्यालय में आम और नीम के पेड़ गिर गए थे। स्कूल परिसर में लगाए पेड़ की लकड़ी कटवाकर बाजार में बेचने के लिए प्रधानाध्यापक आलोक पांडेय के द्वारा ट्रैक्टर ट्रॉली से ठेकेदार के साथ ले जाई जा रही थी। इस दौरान सूचना पर शहर कोतवाली क्षेत्र में जेल रोड पर वन विभाग ने ट्रैक्टर ट्रॉली रोककर जब दस्तावेज मांगे तो विद्यालय के प्रधानाचार्य और ठेकेदार कोई भी अभिलेख नहीं दिखा सके, जिसके बाद वन विभाग ने लकड़ी को जब्त कर रेंज ऑफिस में रखवाया है।

पेड़ों के गिरने के बाद नीलामी की प्रक्रिया को था अपनाना
तो वहीं दूसरी ओर इस मामले में रेंज अधिकारी ने बताया कि लकड़ी को जब्त किया गया है। पूरे मामले में ट्रैक्टर ट्रॉली का चालान कर विधिक कार्रवाई की जा रही है। पेड़ की लकड़ी को लेकर नीलामी की प्रक्रिया को विद्यालय के प्रधानाचार्य द्वारा कराया जाना था लेकिन वह अनाधिकृत रूप से इसे बाजार  में बेचने के लिए ले जा रहे था। वन विभाग को तो इसकी जानकारी है ही लेकिन इसकी सूचना बेसिक शिक्षा अधिकारी को भी दी जाएगी। इस बारे में विकासखंड बावन के खंड शिक्षा अधिकारी संजीव भारती ने बताया कि कौंढा सांविलियन विद्यालय में कुछ दिन पहले पेड़ गिर गए थे। इस पर नीलामी की प्रक्रिया अपनाई जानी थी लेकिन नहीं अपनाया गया। मामले की जांच कराई जा रही है और जांच के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कोर्ट में आज पेश होंगे कैबिनेट मंत्री संजय निषाद, एमपी-एमएलए कोर्ट ने भी जारी किया समन

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios