हरदोई (Uttar Pradesh) । शादी के समय सात फेरे लेते समय हर सुख-दुख में साथ रहने की कसमें खाई जाती हैं। जीवन भर साथ रहने के बाद पति-पत्नी को एक साथ मौत नसीब हो ऐसा कम ही देखने को मिलता है। ऐसा ही एक मामला हरदोई के सण्डीला में देखने को मिला है। जहां पत्नी की मौत से गमजदा पति ने भी अपना दम तोड़ दिया। पति-पत्नी दोनों की अर्थी एक साथ उठी और दोनों का एक हीं साथ चिता पर भी अंतिम संस्कार किया गया. दोनों के अटूट प्यार को लेकर लोग गांव में खूब चर्चा कर रहे हैं।

यह है पूरा मामला
सण्डीला कोतवाली इलाके के उत्तरकोंध गांव के रहने वाले रामासरे विश्वकर्मा (75) की पत्नी कौशल्या विश्वकर्मा के बीच अटूट प्रेम था, जिसकी चर्चा पूरे गांव में होती थी। इसी बीच सोमवार को कौशल्या की मौत हो गई। पत्नी के मृत्यु के बाद रामासरे अचानक गुमसुम हो गए। वे पत्नी की जुदाई का गम बर्दाश्त नहीं कर सके और कुछ घंटों बाद उन्होंने ने भी अपना भी जीवन त्याग दिया।

गांव के लोगों ने भी निभाई जिम्मेदारी
दोनों की मौत के बाद गांव के लोग भी दुखी हो गए। वे अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए परिवार के लोगों का ढांढस बंधाया, जिसके बाद पति-पत्नी की अर्थी एक साथ उठाई गई। अंतिम संस्कार में गए हर व्यक्ति के मुंह से एक ही बात निकल रही थी कि पति-पत्नी के बीच ऐसा अटूट प्यार पहली बार देखा है।