Asianet News HindiAsianet News Hindi

भंडारे की जिद में 3 मौतः तनवेश और तन्वी ने 10 महीने में मां के साथ दुनिया को कहा अलविदा

यूपी के जिले जौनपुर में एक महिला ने अपने दो बच्चों की हत्या करके आत्महत्या कर ली। बच्चों की उम्र 10 महीने थी। महिला ने पहले दोनों बच्चों की हत्या की। उसके बाद खुद फांसी के फंदे पर लटक गई। महिला का पति बाहर गया हुआ था। 

Jaunpur Tanvesh and Tanvi said goodbye world with their mother 10 months know what the whole matter
Author
First Published Sep 3, 2022, 4:22 PM IST

जौनपुर: उत्तर प्रदेश के जिले जौनपुर में दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक महिला ने अपने दस महीने के जुड़वा बच्चों की हत्या कर खुद आत्महत्या कर ली। महिला का पति घर से बाहर गया हुआ था और जब वह घर पहुंचा तो उसको अपने दोनों बच्चों के शव बेड पर मिले और पत्नी फंदे से लटक रही थी। इस घटना की जानकारी पुलिस को दी गई और तीनों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। मृतक महिला के मायके वालों ने पति पर प्रताड़ना का आरोप लगा रहे है।

महिला को हुए थे जुड़वा लड़का और लड़की
जानकारी के अनुसार यह मामला शहर के केराकत क्षेत्र के तरियारी गांव का है। यहां की एक मां ने अपने जुड़वा बच्चों को मार दिया और फिर खुद फांसी लगाकर जान दे दी। ऐसा बताया जा रहा है कि महिला ने शनिवार की सुबह चार बजे के करीब घटना को अंजाम दिया है। दोनों बच्चों के नाम तनवेश और तन्वी है। इस घटना की जानकारी होने पर परिजनों में कोहराम मच गया। तरियारी गांव निवासी मनोज पाल की शादी 11 साल पहले परियाएं थाना क्षेत्र के लाइन बाजार निवासी सरोजा पाल से हुई थी। महिला को शादी के 10 साल बाद बच्चे हुए थे और उसकी उम्र 28 साल थी।

गणेश पूजा के भंडारा में जाना चाहता था युवक
सरोजा के शादी के 10 साल बाद एक साथ लड़का और लड़की साथ में हुए थे। दोनों की मौत से परिवार सदमे में है। स्थानीय लोगों ने बताया कि सरोजा का पति मनोज पाल‌ मुम्बई में रहकर प्राइवेट इलेक्ट्रिशियन का काम करता था। महिला की दवा दिलाने के लिए दो महीने पहले मनोज मुंबई से जालौन आया हुआ था और तभी से वह सरोजा के साथ ही रह रहा था। गांव में शुक्रवार को गणेश पूजा का भंडारा था और मृतक महिला का पति मनोज भंडारे में शामिल होने के लिए गया और रात में वहीं रूक गया। 

पति-पत्नी के बीच भंडारे को लेकर हुआ था विवाद
ऐसा कहा जा रहा है कि मनोज भंडारे में जाना चाहता था लेकिन उसकी पत्नी मना कर रही थी। इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हो गया। भंडारे से जब वह सुबह चार बजे वापस आया तो दरवाजा अंदर से बंद था। मनोज के बहुत खटखटाने पर भी जब दरवाजा नहीं खुला तो दरवाजे को तोड़ा गया और अंदर जाने पर उसको पत्नी फांसी के फंदे से और दोनों बच्चे बेड पर पड़े हुए थे। इस  घटना की जानकारी लोगों ने पुलिस‌ को‌ दी। मौके पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है।

पीएम रिपोर्ट के बाद मौत की स्थिति होगी साफ
तीन मौत की जानकारी होने पर सीओ गौरव शर्मा, थानाध्यक्ष संजय वर्मा फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और तीनों शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए। प्रथम दृष्टया पुलिस भी मान रही है कि सरोजा ने दोनों बच्चों को मारने के बाद खुद आत्महत्या कर ली। सीओ का कहना है कि पीएम रिपोर्ट आने के बाद स्थिति साफ हो जाएगी। इसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। मौके पर लड़की के परिवार वाले मौजूद हैं। पुलिस ने पति को हिरासत में लिया है। परिवार समेत पूरे गांव में कोहराम मचा हुआ है।

मोटापे के कारण तलाक का शिकार बन रही हैं महिलाएं, परिवार परामर्श केंद्र में पहुंचने वाले केस कर रहे खुलासा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios