Asianet News HindiAsianet News Hindi

आजम खां के बाद इरफान पर भी कस रहा शिकंजा, मेडिकल कॉलेज कांड के मुकदमों को खोलने की तैयारी में मिला ये सुराग

आजम खान की तरह पुलिस अब एमएलए इरफान पर भी शिकंजा कस रही है। उसके खिलाफ मेडिकल कॉलेज कांड में जितने भी मुकदमे दर्ज है, उनको खोलने की तैयारी में है। इसी बीच पुलिस के हाथ सुराग लगा है कि सारे साक्ष्य उसके खिलाफ होने के बाद भी क्लीनचिट रिपोर्ट लगाई गई। 

Kanpur MLA Irfan Solanki tightened this clue found in preparation of opening medical college case
Author
First Published Nov 20, 2022, 10:56 AM IST

कानपुर: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के नजदीकी समाजवादी पार्टी के फरार विधायक इरफान सोलंकी पर पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां की तरह का शिकंजा लगातार बढ़ता जा रहा है। पुलिस फरार चल रहे विधायक के खिलाफ मेडिकल कॉलेज कांड के दौरान स्वरूप नगर थाने में दर्ज सभी मुकदमों की फाइल को दोबारा खोल सकती है। इसके लिए अधिकारियों का एक पैनल इरफान के खिलाफ मेडिकल कॉलेज कांड में दर्ज चार मुकदमों की समीक्षा भी शुरू कर दिए है। अफसरों के अनुसार चारों मुकदमें में पर्याप्त साक्ष्य होने के बाद भी विधायक को क्लीनचिट देते हुए फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई थी। 

पर्याप्त साक्ष्य होने के बाद भी विधायक को मिली क्लीनचिट
फरार चल रहे विधायक इरफान सोलंकी पर पुलिस का शिकंजा कसता चला जा रहा है। पड़ोसी महिला का घर फूंकने के आरोप में विधायक और उनके भाई रिजवान के खिलाफ जाजमऊ थाने में गंभीर धाराओं में एफआईआर दर्ज की गई थी। तभी से दोनों भाई फरार चल रहे हैं। इस मामले के अलावा भी अब ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने शनिवार को इरफान सोलंकी के खिलाफ स्वरूप नगर थाने में दर्ज सभी मुकदमों की फाइल तलब की है। साल 2014 में मेडिकल कॉलेज कांड में दर्ज सभी मुकदमों में विधायक के खिलाफ पर्याप्त साक्ष्य होने के बाद भी क्लीनचिट मिल गई। इरफान के खिलाफ दर्ज मुकदमे में एक को स्पंज कर दिया गया था तो वहीं बाकी तीन में जांच के बाद फाइनल रिपोर्ट लगा दी गई थी।

MLA कार्रवाई का फायदा उठाते हुए बाउंड्री का काम किया था शुरू
विधायक इरफान सोलंकी के खिलाफ जाजमऊ थाने में उनकी पड़ोसी महिला बेबी नाज ने एफआईआर दर्ज कराई थी। आरोप है कि प्लाट पर कब्जा करने की नीयत से विधायक और उनके भाई रिजवान ने उनका घर फूंक दिया। जिस प्लॉट को लेकर सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनकी पड़ोसी महिला बेबी नाज का विवाद चल रहा है। उसमें कोर्ट से स्टे भी है लेकिन बेबी नाज ने विधायक पर पुलिस की कार्रवाई का फायदा उठाते हुए शनिवार को कोर्ट से स्टे होने के बाद भी बाउंड्री कराने का काम शुरू कर दिया। इसकी जानकारी मिलते ही जाजमऊ थाने की पुलिस पहुंची और स्टे होने के बीच काम को रुकवा दिया। 

NBW जारी होने के बाद भी नहीं हाजिर हो रहे दोनों भाई
ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी का कहना है कि सपा विधायक इरफान सोलंकी और उनके भाई रिजवान के खिलाफ गंभीर धाराओं में जाजमऊ थाने में एफआईआर दर्ज है। इसके बाद से ही दोनों फरार चल रहे है। उन्होंने आगे बताया कि मामले में कोर्ट ने दोनों के खिलाफ एनबीडब्ल्यू जारी कर दिया है। तब भी दोनों हाजिर नहीं हो रहे हैं। आनंद प्रकाश तिवारी आगे कहते है कि दोनों के खिलाफ दर्ज मुकदमों की समीक्षा की जा रही है। अगर इरफान और रिजवान हाजिर नहीं होते है तो कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

प्रेमिका और पत्नी के गम में बुझे मेरठ के 2 घरों का चिराग, मामूली सी बात पर उठाया ऐसा कदम

KBC जैसी हॉट सीट पर बच्चों से होते है सवाल-जवाब, UP के प्राइमरी स्कूल में चलता है 'कौन बनेगा सैकड़ापति'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios