कानपुर में पुलिस टीम पर फिर हमला, श्रद्धा की तरह 35 टुकड़े की धमकी देने वाले युवक के परिजनों ने बरसाए लाठी-डंडे

| Nov 28 2022, 11:52 AM IST

कानपुर में पुलिस टीम पर फिर हमला, श्रद्धा की तरह 35 टुकड़े की धमकी देने वाले युवक के परिजनों ने बरसाए लाठी-डंडे

सार

यूपी के जिले कानपुर में पुलिस टीम पर एक बार फिर हमला हुआ। श्रद्धा की तरह 35 टुकड़े की धमकी देने वाले को अरेस्ट करने के लिए पहुंची थी तो उसके घरवालों ने परिजन पर लाठी-डंडे बरसाए और पुलिस से भिड़ गए।

कानपुर: उत्तर प्रदेश के जिले कानपुर में एक बार फिर पुलिस टीम पर हमला हुआ है। दरअसल शनिवार की देर शाम जब श्रद्धा की तरह लड़की को 35 टुकड़े करने की धमकी देने वाले आरोपी मोहम्मद फैज को अरेस्ट करने के लिए पहुंची तो उसके परिजन लाठी-डंडे के साथ पुलिस टीम से ही भिड़ गए। उनकी पूरी तैयारी थी कि बेटे फैज को पुलिस की गिरफ्तारी से बचा लिया जाएगा। मगर बिकरू कांड से सीख लेते हुए पुलिस पहले बैकफुट हो गई और वायरलेस हुआ। जिसके कुछ ही देर बाद चार थानों की फोर्स वहां पहुंच गई। उसके बाद परिवार के लोगों पर पुलिस हावी हो गई और आरोपी युवक फैज को अरेस्ट कर लिया गया।

फैज के परिवार की क्राइम हिस्ट्री की तलाश कर रही पुलिस
पुलिस ने कोर्ट में पेशकर आरोपी युवक को जेल भेज दिया है। इस हमले में फिलहाल कोई भी पुलिसकर्मी घायल नहीं हुआ है। पूरे प्रकरण की रिपोर्ट डीजीपी मुख्यालय को भेजी गई है और पुलिस अब पूरे परिवार की भी क्राइम हिस्ट्री तलाश कर रही है और उन सभी को भी पुलिस रिकॉर्ड में लेने की तैयारी है। यह पूरा मामला शहर के नौबस्ता थाना क्षेत्र का है। वहां के थाना प्रभारी संजय पांडेय का कहना है कि किदवई नगर वाई-वन ब्लॉक में एक कारोबारी रहते हैं। उनकी नाबालिग बेटी इंटर की छात्रा है। उन्होंने 16 अक्टूबर को नौबस्ता थाने में चमनगंज गांधी पार्क निवासी मो. फैज के खिलाफ छेड़खानी की FIR दर्ज कराई थी। 

Subscribe to get breaking news alerts

छात्रा के परिवार ने दहशत में दोबारा दर्ज कराई एफआईआर
संजय पांडेय बताते है कि फैज पर आरोप था कि चमनगंज निवासी उनकी बेटी को घर, स्कूल, कोचिंग से आते-जाते पीछा करता है। इतना ही नहीं उनकी बेटी पर निकाह के लिए जबरन दबाव भी बना रहा है। साथ ही धमकी दे रहा था निकाह तो मैं तुमसे ही करूंगा, चाहे पूरे परिवार को गोली क्यों न मारनी पड़े। श्रद्धा की तरह 35 टुकड़े करके जंगल में फेंक दूंगा। इसको लेकर पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर ली लेकिन फैज पकड़ में नहीं आ रहा था। इस वजह से फैज के हौसले और बुलंद हो गए और वह लड़की के घर तक पहुंच गया। छात्रा के भाई ने जब विरोध किया तो उसे घर से खींचकर पीट दिया। इस वजह से पूरा परिवार दहशत में आ गया। परिवार ने फिर 25 अक्टूब को थाने में फैज के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई। 

बार-बार मोबाइल नंबर बदलने के बाद भी पुलिस को मिली लोकेशन
पुलिस को जब अनहोनी की आशंका और अधिकारियों तक मामला पुहंचने के बाद थाने हरकत में आई और आरोपी की तलाश शुरू की। शातिर फैज बार-बार मोबाइल नंबर बदल रहा था और अब पुलिस के लिए चुनौती बन गई लेकिन शनिवार को उसकी लोकेशन चमनगंज गांधी पार्क में मिल गई और फिर पुलिस ने घेराबंदी करके छापा मारा। आरोपी के परिवार वाले भी बहुत ही शातिर निकले। घर की खिड़कियों से उन्होंने पुलिस जीप देखी तो उन्हें आभास हुआ कि महिला पुलिस साथ में नहीं है। इस वजह से उन्होंने घर और आस-पड़ोस की महिलाओं को इकट्ठा कर दिया। 

आरोपी के घरवालों ने महिलाओं को फ्रंट में रखकर की भिड़ंत
फैज के घरवालों ने उन सभी को फ्रंट में रखा तो पुलिस भी असहज हुई। महिलाओं ने पुलिस से धक्का-मुक्की की। पुलिस वालों ने महिलाओं को अरेस्ट तो नहीं किया और उनको हिदायत देकर छोड़ा गया। उसके बाद जैसे ही मो. फैज पुलिस ने दबोचा तो परिजन पुलिस से भिड़ गए और घेर लिया। बेटे को छुड़ाने का लगातार प्रयास करते रहे। इसकी सूचना पर चमनगंज, बेकनगंज समेत कई थाने का फोर्स पहुंची और कड़ी मशक्कत से आरोपी मोहम्मद फैज को अरेस्ट कर लिया। इसके बाद रविवार को कोर्ट में पेश करने के बाद उसे जेल भेज दिया गया।

यूपी मदरसों में अब 9वीं और 10वीं के छात्रों को मिलेगी स्कॉलरशिप, केंद्र सरकार के आदेश के बाद किए गए अहम बदलाव

'बेटी को घर से ले जाकर करूंगा 36 टुकड़े' धमकी के बाद नाबालिग छात्रा ने छोड़ा स्कूल