Asianet News HindiAsianet News Hindi

'योगी जी! ध्वस्त करवा दीजिए हमारा मौत का अपार्टमेंट' जानिए आखिर क्यों कानपुर के परिवार कर रहे ऐसी गुजारिश

कानपुर के किदवईनगर ओ ब्लॉक में स्थित केडीए रेजीडेंसी अपार्टमेंट की पार्किंग एरिया में 80 से अधिक दरारें पड़ी है। जांच में देर होने पर बिल्डिंग में रहने वाले लोगों ने सीएम योगी से अपार्टमेंट ध्वस्त करवाने की मांग करते हुए प्रदर्शन किया है। 

Kanpur Yogi ji Get our apartment demolished know why family is making such requests
Author
First Published Sep 18, 2022, 3:02 PM IST

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के एक अपार्टमेंट में रहने वाले कुछ परिवारों ने सीएम योगी से अपने अपार्टमेंट को ध्वस्त करवाने की मांग की है। उन्होंने अपार्टमेंट के चारों तरफ बैनर लगा दिए हैं। जिनमें लिखा है 'नहीं चाहिए भ्रष्टाचार से बना आशियाना, योगी जी... ध्वस्त करा दीजिए हमारा अपार्टमेंट'। यह अपार्टमेंट कानपुर के किदवईनगर के ओ ब्लॉक में बना हुआ है। केडीए रेजीडेंसी अपार्टमेंट में इस तरह के बैनर चारों ओर लगे दिखाई दे रहे हैं। दरअसल, अपार्टमेंट की बीम कई जगह से दरक गई है। यह देखने के बाद यहां पर रहने वाले परिवारों ने मामले की शिकायत की थी। लेकिन जांच में देर होने के कारण लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और बीते शनिवार को गुस्साए लोगों ने अपार्टमेंट के चारों ओर इस तरह के बैनर लगा दिए।

पार्किंग एरिया में पड़ी 80 से अधिक दरारें
लोगों के इस तरह से विरोध प्रदर्शन के बाद केडीए के एक्सईएन और आला अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर केडीए रेजीडेंसी अपार्टमेंट में रह रहे परिवारों को आश्वासन दिया है। 4 साल पहले बने इस अपार्टमेंट के 4 टॉवरों में कुल 192 फ्लैट हैं। यहां पर वर्तमान में 172 परिवार रहते हैं। बताया जा रहा है कि 28 अगस्त को केडीए रेजीडेंसी अपार्टमेंट में रहने वाले अमित की नजर पार्किंग एरिया की बीम पर पड़ी। उन्होंने देखा कि इसमें कई करारें आ गई थी। जिसके बाद उन्होंने यहां पर रहने वाले सभी लोगों को इसके बारे में जानकारी दी। देखने पर मालूम हुआ कि ए वन और ए टू ब्लॉक की पार्किंग एरिया में 80 से अधिक दरारें पड़ चुकी हैं। इसके बाद मेंट ऑनर्स एसोसिएशन के सदस्यों ने 30 अगस्त को मामले की शिकायत मंडलायुक्त राज शेखर से की। 

10 सितंबर तक सौंपनी थी मामले की रिपोर्ट
प्राप्त जानकारी के अनुसार, उन्होंने केडीए को पत्र लिखकर 10 सितंबर तक मामले की जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा था। इसके बाद बीते 2 सितंबर को केडीए जोन चार के एक्सईएन धीरेंद्र बाजपेई, एई आरके पांडेय और हरकोर्ट बटलर टेक्निकल युनिवर्सिटी (एचबीटीयू) के विजिटिंग प्रोफेसर रजत खरे अपार्टमेंट पहुंचे। जब उन्होंने मशीन लगाकर रिवाउंड हैमर की जांच की तो कंक्रीट की स्ट्रेंथ ठीक यानि कि एम20 निकली। जब प्लास्टर की स्ट्रेंथ 
का टेस्ट किया गया तो वह कमजोर निकली। इसके बाद लोगों ने मांग करते हुए कहा कि IIT के प्रोफेसर से इसकी जांच करवाई जाए। वहां की टीम ने भी दौराकर अपार्टमेंट की बीम दरकने की बात को नकार दिया। टीम ने कहा कि ये हेयरलाइन क्रैक है और इससे बिल्डिंग को कोई खतरा नहीं है।

ठेकेदार को भी भेजी गई मामले की नोटिस
केडीए रेजीडेंसी के ऑनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के सचिव मधुकर गुप्ता ने बताया कि अपार्टमेंट में समस्याए ही समस्याएं हैं। उन्होंने बताया कि बारिश के दौरान बेसमेंट में घुटने तक पानी भर गया था। वहीं केडीए के मुख्य अभियंता रोहित खन्ना ने बताया कि HBTU और IIT Kanpur की टेक्निकल एक्सपर्ट की जांच में पाया गया है कि स्ट्रक्चरल सेफ्टी के लिहाज से अपार्टमेंट पूरी तरह सुरक्षित है। मामले की पूरी रिपोर्ट अगले सप्ताह में जारी की जाएगी। आवंटियों द्वारा की गई समस्याओं के समाधान का जिम्मा ठेकेदार का था। इस मामले में उेस भी नोटिस भेजा गया है। फिलहाल अधिकारियों ने बिल्डिंग गिरने का खतरा जीरो बताया है। बिल्डिंग में रहने वाले परिवारों को जल्द ही कमियों को दूर करने का आश्वासन दिया गया है।

कानपुर में 22 हजार के चालान पर सदमे में ऑटो चालक ने उठाया खौफनाक कदम, पत्नी ने किया इस बात का खुलासा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios