काशी तमिल संगमम: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- PM मोदी एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को कर रहे साकार

| Dec 04 2022, 04:40 PM IST

काशी तमिल संगमम: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- PM मोदी एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को कर रहे साकार
काशी तमिल संगमम: वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा- PM मोदी एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को कर रहे साकार
Share this Article
  • FB
  • TW
  • Linkdin
  • Email

सार

वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने काशी तमिल संगमम के तहत आयोजित एकेडमिक कार्यक्रम में कहा कि काशी औऱ तमिलनाडु के बीच में काफी पुराना संबंध है। इस आयोजन के माध्यम से उन संबंधों को ही साकार किया जा रहा है। 

अनुज तिवारी

वाराणसी: केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक भारत श्रेष्ठ भारत की परिकल्पना को साकार कर रहे हैं। रविवार को काशी तमिल संगमम के तहत आयोजित एके​डमिक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर उन्होंने कहा कि काशी और तमिलनाडु के बीच में पुराना संबंध है और आज इस आयोजन के माध्यम से उन संबंधों को साकार किया जा रहा है। 
केंद्रीय वित्त मंत्री ने कहा कि जो काशी में होता है, वो कांची में भी होता है, उसे देखकर महसूस किया जा सकता है कि काशी और तमिलनाडु के बीच सदियों पुराना संबंध है। काशी तमिल संगमम का मुख्य उद्देश्य प्रधानमंत्री के नारे ओर भारतम उन्नत भारतम को साकार करना है। उन्होंने कहा कि हम सब भारत के लोग हैं, हम में से प्रत्येक एक भाषा बोलते हैं। घरों में अपनाई जाने वाली संस्कृति भिन्न हो सकती है, लेकिन हम सब एक हैं। 

Subscribe to get breaking news alerts

'सब साथ दें तो देश करेगा प्रगति, हर व्यक्ति का होगा विकास'
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एकता का जो संदेश दिया है उसमें उत्तर और दक्षिण भारत की संस्कृति एक है इसका बोध आज हो रहा है। मैंने तमिलनाडु में बचपन से ही कुछ चीजें अनुभव की हैं और जानी हैं, वो चीजे आज हमें काशी में भी देखने को मिल रही हैं। अतः हमारा कर्तव्य है कि हम इन सभी प्रमाणों को उजागर करें और उन्हें असत्य न बोलने का संकेत दें। उन्होंने कहा कि देश की एकता के लिए, अगर हम सब साथ में हैं यह देश प्रगति करेगा और हर व्यक्ति का विकास होगा। 

आपको बता दें कि एकेडमिक कार्यक्रम का विषय "मंदिर वास्तुकला और ज्ञान के अन्य विरासत रूपों" रखा गया था। जिसमें बीएचयू के कुलपति सुधीर कुमार जैन ने मुख्य अतिथि को पुष्प गुच्छ एवं स्मृति चिन्ह भेंट किया। कार्यक्रम में प्रोफेसर ज्ञानेश्वर चौबे ने शैक्षणिक सत्र में डीएनए की उपयोगिता को हेल्थकेयर और फॉरेंसिक में जोड़ते हुए बताया की वो डीएनए विधा ही थी जिसके द्वारा जॉर्जिया की महारानी केतेवन के हड्डियो की पहचान हो पायी और अजनाला के शहीदों की उत्पत्ति के बारे में पता चला। कार्यक्रम में तमिलनाडु से आए प्रतिनिधि भी शामिल थे।

बीएचयू के छात्रों से की बातचीत कर दिए जवाब 
ज्ञात हो कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण 3 दिवसीय वाराणसी दौरे पर हैं। इस बीच उन्होंने बीएचयू में चल रहे काशी तमिल संगमम के सांस्कृतिक कार्यक्रम शिरकत की फिर छात्रों से संवाद किया। छात्रों ने वित्तमंत्री से कई सवाल किए। छात्रों ने पूछा, आखिर डॉलर के मुकाबले रुपया क्यों गिर रहा है तो वित्तमंत्री ने बड़ा ही सटीक जवाब दिया। वित्तमंत्री ने कहा- रूपया गिर नहीं रहा है, ऐसी कोई बात नहीं है। हम केवल डॉलर से रुपए की तुलना कर रहे हैं। विश्व की दूसरी मुद्राओं से तुलना करने पर आपको पता चलेगा कि रुपया गिर नहीं रहा है। इस बीच उनसे जब ग्रामीण क्षेत्र में रोजगार के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि यह हमारे लिए चुनौती है। लेकिन आत्मनिर्भर भारत के सपने के माध्यम से इसको भी पूरा कर लेंगे।

मैनपुरी उपचुनाव पर टिकी सभी की निगाहें, क्या साइलेंट वोटर करेंगे अहम बदलाव